Create
Notifications

5 भारतीय सलामी बल्लेबाज जो इंग्लैंड में अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं

Himanshu Kothari
visit

भारतीय क्रिकेट में कई सलामी बल्लेबाज देखने को मिले हैं। इनमें से कई सलामी बल्लेबाज ऐसे थे जिन्होंने विश्व स्तर पर अपनी खेल के कारण देश का परचम लहराया है। इन सलामी बल्लेबाजों ने देश के साथ विदेशी धरती पर भी बेहतर प्रदर्शन किया है। हालांकि इंग्लैंड की धरती हमेशा से क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए सिरदर्द रही है। इंग्लैंड की पिचों पर अच्छे से अच्छे सलामी बल्लेबाज भी चकमा खाकर अपना विकेट गंवा देते है। इसी वजह से भारत के भी कई उम्दा सलामी बल्लेबाज इंग्लैंड में जाकर इंग्लैंड के गेंदबाजों के आगे घुटने टेकते हुए देखे गए हैं। आइए जानते हैं भारत के उन सलामी बल्लेबाजों के बारे में जो इंग्लैंड की धरती पर टेस्ट क्रिकेट में अपना कमाल नहीं दिखा पाए हैं:

1. वीरेंदर सहवाग (278 रन, 10 पारियां)

वीरेंदर सहवाग भारतीय क्रिकेट में एक विस्फोटक सलामी बल्लेबाज के तौर पर पहचाने जाते रहे हैं। मैदान पर पहली गेंद से ही वीरेंदर सहवाग बाउंड्री के तरफ गेंद पहुंचाना शुरू कर देते थे और जब तक वो क्रीज पर रहते, उनका ये सिलसिला जारी रहता। वनडे, टी20 और टेस्ट क्रिकेट के इन तीनों फॉर्मेट में एक गति से ही सहवाग का बल्ला रन बरसाता था। हालांकि इंग्लैंड के खिलाफ इंग्लैंड में टेस्ट मैचों में सहवाग का बल्ला ज्यादा नहीं चला। 6 मैचों की 10 टेस्ट पारियों में सहवाग ने 27.8 की औसत से सिर्फ 278 रन स्कोर किए। इसमें तीन बार सहवाग शून्य पर भी आउट हुए।

2. वसीम जाफर (244 रन, 10 पारियां)

वसीम जाफर भी एक समय में टीम इंडिया के लिए बेहतरीन सलामी बल्लेबाज रहे हैं। वहीं इंग्लैंड की पीचों पर भी वसीम जाफर को भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम की तरफ से पारी की शुरुआत करने का मौका मिला लेकिन जाफर अपना कमाल नहीं दिखा पाए। उन्होंने पांच टेस्ट मुकाबलों में खेली 10 पारियों में 24.4 की औसत से 244 रन स्कोर किए। इस दौरान वो 2 बार शून्य पर भी आउट हुए।

3. पंकज रॉय (223 रन, 17 पारियां)

बंगाल के सलामी बल्लेबाज पंकज रॉय को 1956 में चेन्नई में न्यूजीलैंड के खिलाफ वीनू मांकड़ के साथ अपनी विश्व रिकॉर्ड 413 रनों की साझेदारी के लिए याद किया जाता है। विरोधी देशों के खिलाफ उनका प्रदर्शन काफी लाजवाब था लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ इंग्लैंड में वो कमाल नहीं दिखा पाए। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ खेले 9 टेस्ट मैचों की 17 पारियों में 13.7 की औसत से 233 रन स्कोर किए। इस दौरान पंकज 7 बार बिना खाता खोले ही पैवेलियन लौट गए।

4. गौतम गंभीर (92 रन, 7 पारियां)

गौतम गंभीर भारतीय क्रिकेट टीम के सफल सलामी बल्लेबाजों में गिने जाते हैं। हालांकि इंग्लैंड के खिलाफ इंग्लैंड में गंभीर का बल्ला शांत रहा। इंग्लैंड के खिलाफ खेले चार टेस्ट मुकाबलों में गंभीर ने 7 पारियों में पारी की शुरुआत की लेकिन वो 13.14 की औसत से सिर्फ 92 रन ही स्कोर कर पाए। इस दौरान गंभीर एक बार बिना खाता खोले ही पैवेलियन लौट गए।

5. मुरली विजय (428 रन, 14 पारियां)

मुरली विजय भी टीम इंडिया में सलामी बल्लेबाजी करते हुए काफी कामयाब रहे हैं लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ इंग्लैंड में मुरली विजय का बल्ला कमाल नहीं दिखा पाया। इंग्लैंड में खेले गए सात टेस्ट मुकाबलों की 14 पारियों में मुरली विजय ने 30.57 की औसत से 428 रन स्कोर किए हैं। इस दौरान मुरली तीन बार बिना कोई रन बनाए भी पैवेलियन लौट चुके हैं। वहीं मुरली विजय के नाम एक शतक और दो अर्धशतक भी दर्ज है। लेखक: ओमकर मंकमे अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now