Create
Notifications

5 ऐसे मौक़े जब पार्ट टाइम गेंदबाज़ों ने ली हैट्रिक

Syed Hussain

क्रिकेट में हैट्रिक को शायद सबसे मुश्किल और बेहतरीन उपलब्धि के तौर पर देखा जाता है, फिर चाहे वह क्रिकेट का कोई प्रारुप क्यों न हो। कई बार तो ऐसा होता है कि गेंदबाज़ एक विकेट भी हासिल नहीं कर पाता, तो कभी तीन विकेट झटक लेता है और वह भी लगातार तीन गेंदो पर। ज़्यादातर ऐसा देखा जाता है कि क्रिकेट की इस सबसे मुश्किल ट्रिक को एक नियमित गेंदबाज़ ही कर पाता है। हालांकि कई ऐसे मौक़े भी आए हैं जब पार्ट टाइम गेंदबाज़ों ने बल्लेबाज़ों को छकाते हुए हैट्रिक हासिल कर लिया। घरेलू क्रिकेट के साथ साथ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में भी पार्ट टाइम गेंदबाज़ों ने इस उपलब्धि को अपने नाम किया है। आपके सामने ऐसे 5 पार्ट टाइम गेंदबाज़ जिनके नाम हैं हैट्रिक #5 जेपी डुमिनी बनाम श्रीलंका jp-1468071799-800 दक्षिण अफ़्रीका के बाएं हाथ के बल्लेबाज़ जेपी डुमिनी जो क़रीब 12 सालों से प्रोटियाज़ के लिए बल्ले से शानदार प्रदर्शन करते आ रहे हैं। डुमिनी ने कई मैचों में लाजवाब पारियां खेलते हुए टीम को जीत की मंज़िल तक पहुंचाया है। डुमिनी कभी कभार ऑफ़ स्पिन गेंदबाज़ी भी कर लेते हैं, और वह दुनिया के उन चुनिंदा पार्ट टाइमर गेंदबाज़ों में से हैं जिनके नाम अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में हैट्रिक हो। यही नहीं डुमिनी ने ये उपलब्धि वनडे वर्ल्डकप में हासिल की थी, 2015 वर्ल्डकप के दौरान श्रीलंका के ख़िलाफ़ खेलते हुए डुमिनी ने 3 गेंदो पर 3 विकेट झटके थे। डुमिनी की इस हैट्रिक में एंजेलो मैथ्यूज़, नुवाल कुलसेखरा और थरिदूं कौशल शामिल हैं। इत्तेफ़ाक से दक्षिण अफ़्रीका की ओर से वनडे में हैट्रिक लेने वाले जेपी डुमिनी सिर्फ़ दूसरे खिलाड़ी हैं। #4 आलोक कपाली बनाम पाकिस्तान kapali-1468071716-800 आलोक कपाली ने बांग्लादेश के लिए हर एक फॉर्मेट में अच्छा किया है, 2000 के शुरुआती सालों में आलोक बांग्लादेश टीम के अहम हिस्सा थे। कपाली ने 17 टेस्ट, 69 वनडे और 7 टी-20 मैचों में राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व किया था। कपाली मध्यक्रम के एक बेहतरीन बल्लेबाज़ थे और साथ साथ ज़रूरत पड़ने पर लेग स्पिन भी कर लिया करते थे। कपाली ने अपनी लेग स्पिन से बांग्लादेश के लिए तब इतिहास रच दिया था, जब टेस्ट मैचों में पाकिस्तान जैसी मज़बूत टीम के ख़िलाफ़ हैट्रिक ले ली थी। दिन का खेल ख़त्म होने के समय जब आलोक कपाली को गेंदबाज़ी पर लाया गया तो शायद ही किसी ने सोचा होगा कि कपाली अपना नाम इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों से दर्ज करा लेंगे। कपाली ने लगातार तीन गेंदो पर शब्बीर अहमद, दानिश कनेरिया और उमर गुल को अपना शिकार बनाते हुए बांग्लादेश के लिए पहली हैट्रिक हासिल की थी। आलोक कपाली उन चुनिंदा पार्ट टाइम गेंदबाज़ों में शामिल हैं जिनके नाम टेस्ट मैचों में हैट्रिक है। #3 रोहित शर्मा बनाम मुंबई इंडियंस sharma-1468071634-800 पार्ट टाइम गेंदबाज़ जिन्होंने हैट्रिक ली हो, उसमें एक नाम भारत के स्टार बल्लेबाज़ रोहित शर्मा का है, जिन्होंने आईपीएल में डेक्कन चार्जर्स की ओर से खेलते हुए मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ हैट्रिक ली थी। दाएं हाथ के इस ऑफ़ स्पिनर ने मुंबई इंडियंस के बल्लेबाज़ अभिषेक नायर, हरभजन सिंह और जेपी डुमिनी को लगातार तीन गेंदो पर पैवेलियन का रास्ता दिखाया था। हालांकि अब रोहित इसी टीम की ओर से खेलते हैं और अभी वह मुंबई इंडियंस के कप्तान भी हैं। #2 विवियन रिचर्ड्स बनाम एसेक्स viv-1468071555-800 क्रिकेट इतिहास के अब तक के सबसे बड़े बल्लेबाज़ों में शुमार वेस्टइंडीज़ के बल्लेबाज़ विवियन रिचर्ड्स का इस फ़हरीस्त में होना हैरान करने वाला है। दाएं हाथ के विस्फोटक बल्लेबाज़ कभी कभार अपनी टीम के लिए स्पिन गेंदबाज़ी भी कर लिया करते थे। रिचर्ड्स के नाम लिस्ट-ए क्रिकेट में हैट्रिक है, इंग्लैंड में काउंटी खेलते हुए उन्होंने ये कारनामा समरसेट की ओर से खेलते हुए एसेक्स के ख़िलाफ़ किया था। 40 ओवर का ये मुक़ाबला था, जो बारिश की वजह से 10 ओवर का कर दिया गया था। विवियन रिचर्ड्स ने इस मैच में अपने स्पेल में इस हैट्रिक को हासिल किया था, इस मैच में उन्होंने 9 रन देकर 4 विकेट झटके थे। #1 युवराज सिंह बनाम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और डेक्कन चार्जर्स yuvraj-1468071433-800 भारतीय क्रिकेट टीम के बाएं हाथ के आतिशी बल्लेबाज़ युवराज सिंह, जिनके नाम 6 गेंदो पर 6 छक्के का रिकॉर्ड है। युवराज 2011 वर्ल्डकप में प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट से भी नवाज़े गए थे, साथ ही साथ उनके नाम हैट्रिक भी शामिल है और वह भी एक नहीं बल्कि दो बार। जी हां, बाए हांथ के बल्लेबाज़ और बाएं हाथ से स्पिन गेंदबाज़ी करने वाले युवराज सिंह ने आईपीएल में दो बार हैट्रिक ली है। युवराज की पहली हैट्रिक आईपीएल के दूसरे सीज़न में रॉय चैलेंजर्स बैंगलोर के ख़िलाफ़ आई थी, ये मुक़ाबला डरबन में खेला गया था वही मैदान जहां युवराज के बल्ले से 2007 में टी-20 वर्ल्डकप में 6 गेंदो पर 6 छक्के आए थे। युवराज ने एक बार फिर इस कारनामे को डेक्कन चार्जर्स के ख़िलाफ़ दोहराया था, युवराज दुनिया के पहले पार्ट टाइम गेंदबाज़ हैं जिनके नाम एक से ज़्यादा हैट्रिक हैं।

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...