Create
Notifications

5 खिलाड़ी जिनको एशिया कप के लिए भारतीय टीम में चुना जा सकता है

आशीष कुमार
visit

अगले वर्ष होने वाले विश्व कप में भारतीय टीम को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। हालांकि, इंग्लैंड के खिलाफ हालिया श्रृंखला में हार से टीम की कमजोरियों का खुलासा हुआ है। विश्व कप में अभी एक साल से भी कम समय बचा है और टीम इंडिया को उन मुद्दों को हल करना महत्वपूर्ण होगा जो लंबे समय से चिंता का कारण रहे हैं। ऐसे में एशिया कप में टीम का प्रदर्शन बहुत महत्वपूर्ण होगा। एशिया कप 2018 15 सितंबर को शुरू होना है और यूएई में खेला जाएगा। भारत को पाकिस्तान ए ग्रुप में रखा गया है। इस श्रृंखला में दोनों प्रतिद्वंद्वियों के दो बार खेलने की उम्मीद है, जो भारतीय टीम को दबाव में अच्छा प्रदर्शन करने का मौका देगा। भारत के गेंदबाज़ पूरी क्षमता से प्रदर्शन कर रहे हैं और फिलहाल चोटिल जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार के तब तक पूर्ण तौर पर फिट होने की उम्मीद है लेकिन भारत को मध्य क्रम की कमज़ोरी को दूर करना होगा। चयनकर्ता घरेलू खिलाड़ियों और भारत 'ए' के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाले कुछ खिलाड़ियों को आजमा सकते हैं। तो आइये ऐसे 5 खिलाड़ियों पर एक नज़र डालें जो एशिया कप के लिए भारत की वनडे एकादश का हिस्सा बन सकते हैं: हनुमा विहारी हनुमा विहारी ने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत 2010 मे की थी और 2 साल बाद वो भारत की U-19 विश्व कप विजेता टीम का हिस्सा थे। वो अपने संतुलन और तनाव झेलने की काबिलियत के लिए जाने जाते हैं। 24 साल के विहारी ने ने 56 लिस्ट-ए मैचों में, 47.25 के औसत से चार शतक सहित 2268 रन बनाए हैं। विहारी को घरेलू सर्किट में अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद चयनकर्ताओं ने अनदेखा किया है। विहारी ने चयनकर्ताओं को दिखाया है कि वह किसी भी स्थिति में बल्लेबाज़ी करने के लिए सक्षम हैं। ऐसे में वह आगामी एशिया कप में टीम इंडिया का हिस्सा बन सकते हैं। क्रुणाल पांड्या छोटे भाई हार्दिक की तरह ही क्रुणाल पांड्या भी एक बेहतरीन आलराउंडर हैं। क्रुणाल बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज और मध्य क्रम में टीम के भरोसेमंद बल्लेबाज हैं। रणजी ट्रॉफी में बड़ौदा की तरफ से बढ़िया प्रदर्शन के बाद आईपीएल 2016 में उन्हें मुंबई ने अपनी टीम में शामिल किया और क्रुणाल ने फ्रेंचाइजी द्वारा उन पर दिखाए भरोसे को सही साबित कर दिखाया। 27 वर्षीय खिलाड़ी ने राष्ट्रीय टीम में जगह के लिए अपनी दावेदारी पेश कर दी है और इसमें कोई आश्चर्य नहीं होगा अगर निकट भविष्य में दोनों पांड्या भाई एक साथ भारतीय टीम के लिए खेलें। आगामी एशिया कप में भी वह टीम इंडिया का अहम हिस्सा हो सकते हैं। ऋषभ पंत भारत के सबसे प्रतिभाशाली युवा क्रिकेटरों में से एक, ऋषभ पंत दिल्ली रणजी टीम का नेतृत्व कर चुके हैं और उन्होंने मैच में अपनी रणनीतिक क्षमता और सूझबूझ से सब को प्रभावित किया है। वह इस सीज़न में दिल्ली डेयरडेविल्स के सबसे महंगे खिलाड़ियों में से एक थे और अपनी योग्यता और प्रतिभा के कारण पंत निश्चित रूप से निकट भविष्य में टीम इंडिया के प्रमुख खिलाड़ी होंगे। हाल ही में पूरे इंग्लैंड दौरे में उन्होंने भारत ए के लिए सभी प्रारूपों में शानदार प्रदर्शन किया है। ऐसे में वर्तमान भारतीय टीम में नंबर पांच पर बल्लेबाजी करने के लिए पंत एक शानदार विकल्प हैं। रविचंद्रन अश्विन वनडे में अपने खराब फॉर्म और युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के अच्छे प्रदर्शन के कारण, अश्विन एक साल से भारत की वनडे टीम से बाहर चल रहे हैं और अभी तक वह वनडे और टी-20 टीम में वापसी नहीं कर पाए हैं। इसके अलावा, चयनकर्ता टीम में एक अनुभवी स्पिनर चाहते हैं। साथ ही, चहल और कुलदीप ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे श्रृंखला में कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया। यूएई में होने वाले एशिया कप में परिस्थितियां स्पिनरों की मददगार होंगी, ऐसे में अनुभवी अश्विन को भारत के स्पिन-आक्रमण की कमान सौंपी जा सकती है। केदार जाधव भारतीय टीम में केदार जाधव निचले मध्य क्रम पर बल्लेबाज़ी के साथ गेंदबाज़ी भी कर सकते हैं। जाधव फिलहाल चोट के कारण क्रिकेट से बाहर हैं और आईपीएल 2018 की शुरुआत में ही उन्हें टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा। हालांकि, अब वह अपनी फिटनेस पर कड़ी मेहनत कर रहे हैं और उनका एशिया कप के लिए पूरी तरह फिट होने की उम्मीद है। जाधव की वापसी भारतीय टीम के लिए सकारात्मक होगी। लेखक: रैना सिंह अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now