Create
Notifications

5 खिलाड़ी जिन्हें इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय और टी20 सीरीज में मौका नहीं दिया गया

CONTRIBUTOR
Modified 07 Jan 2017
जब भी किसी टीम का चुनाव होता है तो कुछ खिलाड़ी निराश होते है तो कई खिलाड़ियों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं होता। इंग्लैंड के ख़िलाफ़ वनडे और टी20 सीरीज़ के लिए जब सलेक्शन कमिटी ने इंडियन टीम की घोषणा की तब भी ऐसा ही कुछ देखने को मिला। कुछ खिलाड़ी टीम में जगह बनाने में भाग्यशाली रहे तो कुछ को निराशा हाथ लगी। युवराज सिंह, जिन्होंने 2013 के बाद से कोई अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैच नहीं खेला, उन्होंने वनडे और टी20 दोनों ही फॉर्मेट के लिए टीम में वापसी की जबकि आक्रमक बल्लेबाज़ सुरेश रैना जिन्होंने हाल में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी में बेहतरीन प्रदर्शन किया, उन्हें केवल टी20 सीरीज़ के लिए ही चुना गया। रैना वनडे सीरीज़ के लिए टीम में जगह नहीं बना पाए। वनडे और टी20 के लिए महेन्द्र सिंह धोनी के कप्तानी छोड़ने के ऐलान के बाद सलेक्शन कमिटी ने दोनों फॉर्मेट के लिए विराट कोहली को कप्तान बनाने की औपचारिक घोषणा भी की। हालांकि रविचंद्रन अश्विन और रविन्द्र जडेजा दोनों को वनडे और टी20 की टीम में शामिल किया गया लेकिन कुछ खिलाड़ी दुर्भाग्यशाली भी रहे। आइये उन पांच दुर्भाग्यशाली खिलाड़ियों पर नज़र डालते है जो इंग्लैंड के ख़िलाफ़ वनडे और टी20 सीरीज़ के लिए टीम इंडिया में जगह नहीं बना पाए: #1 दीपक हुडा hooda-1483705792-800 वनडे और टी20 की कप्तानी छोड़ने के बाद कयास लगाया जा रहा है कि धोनी अब चौथे नंबर पर खेलेंगे और इशकी वज़ह से मैच फ़िनिशर वाली जगह ख़ाली हो जाएगी। जिसकी के लिए सुरेश रैना और युवराज सिंह तो टीम में जगह बनाने में तो कामयाब हो गए लेकिन दीपक हुडा को निराशा हाथ लगी। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में दीपक का औसत 50 और लिस्ट-A क्रिकेट में 40 से उपर का है और इसके अवाला दीपक गेंद से भी अच्छा प्रदर्शन कर सकते है। जिसकी बदौलत अगर हुडा टीम का हिस्सा बनते तो टीम इंडिया से एक और प्रतिभावान खिलाड़ी जुड़ जाता। राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हुए वह अपने को मैच फ़िनिशर के रूप में ख़ुद कई बार साबित कर चुके है। हालांकि दीपक अभी 21 साल के ही है सो आशा की जाती है कि जल्द ही वह किसी और देश के ख़िलाफ़ टीम इंडिया के लिए खेलेंगे। टीम सलेक्टर्स ने जेहन में आ गया है कि हुडा लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहे है। पिछले साल रणजी में उन्होंने 70 की औसत से क़रीब 800 रन भी बनाए और वह अच्छे फॉर्म में भी है। लेकिन युवराज और रैना की तुलना में कम अनुभव होने की वज़ह से टीम में जगह नहीं बना पाए।
1 / 5 NEXT
Published 07 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now