Create

INDvSL: 5 खिलाड़ी जिनपर भारत-श्रीलंका एकदिवसीय सीरीज़ में सभी की नज़रें रहेंगी

ROHIT

कोलकाता में बारिश और दिल्ली में प्रदूषण से प्रभावित होने के बावजूद भारत ने श्रीलंका को 3 टेस्ट मैच की सीरीज में 1-0 से हरा दिया। इस सीरीज में कई नए रिकॉर्ड जिसमें सबसे खास रहा अश्विन का 300 टेस्ट विकट, वह सबसे तेज 300 विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं। इसके अलावा विराट कोहली ने भी अपना 50वां अंतरराष्ट्रीय शतक भी पूरा किया। श्रीलंका की टीम ने भी अच्छे खेल का प्रदर्शन करते हुए डटकर भारत का मुकाबला किया। उनके लिए एंजेलो मैथ्यूज, दिनेश चांडीमल और धनंजया डी सिल्वा ने अच्छी बल्लेबाजी की। इन दोनों टीमों के बीच 10 दिसंबर से 3 एकदिवसीय मैचों की सीरीज का पहला मैच धर्मशाला में खेला जाएगा। दक्षिण अफ्रीका के दौरे को ध्यान में रखते हुए टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली को आराम देकर रोहित शर्मा को टीम की कमान दी गयी है। श्रीलंका की टीम ने भी उपुल थरंगा के स्थान पर थिसारा परेरा को एकदिवसीय और टी20 के सीरीज की कमान सौंपी है। आईये 5 खिलाड़ियों को बारे में आपको बताते हैं जिन पर सभी की नजरें रहेगी: #1 रोहित शर्मा सभी को पता है कि रोहित शर्मा जब लय में बल्लेबाजी करते हैं तो क्या कर सकते हैं। घरेलू पिचों पर श्रीलंका की कमजोर गेंदबाजी के सामने सभी को उम्मीद रहेगी कि रोहित शुरुआती ओवरों से ही विपक्षी टीम पर दबाव बना कर रखें। वह टेस्ट मैचों में शानदार फॉर्म में थे और उन्होंने स्पिन और तेज गेंदबाज दोनों को काफी अच्छे तरीके से खेला। अब सभी को उम्मीद है कि वह एकदिवसीय मैचों में भी अपने इस फॉर्म को बरकरार रखें। एक बात जिसपर सभी की नजर होगी कि वह कप्तानी के दबाव में कैसी बल्लेबाजी करते हैं। कोहली को आराम देकर रोहित को कप्तानी दी गयी है और इससे यह पता चल जाएगा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कप्तानी का असर उनके खेल पर दिखता है या नहीं। श्रीलंका की गेंदबाजी में निरन्तरता की कमी है और पिचें सपाट होने की पूरी उम्मीद है, ऐसे में रोहित से उम्मीद की जा सकती है कि वह बड़ा स्कोर बनाकर टीम को जीत दिलाये। रोहित ने एकदिवसीय करियर में 161 मैचों में 44.34 की औसत से 6207 रन बनाए हैं, जिसमें 2 दोहरे शतक समेत 15 शतक शामिल हैं। एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों का सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर 264 भी रोहित के नाम ही है जो उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ ही बनाया था। #2 दिनेश कार्तिक DK भारतीय टीम में चौथे क्रम के बल्लेबाज को लेकर काफी माथापच्ची हो रही है। चैंपियंस ट्रॉफी के बाद से इस स्थान पर 11 खिलाड़ियों को आजमाया जा चुका है, फिर भी यह साफ नहीं हो पाया है कि किसे इस स्थान पर खिलाया जाए। तमिलनाडु के लिए घरेलू मैच में चौथे क्रम पर काफी रन बनाने के बाद दिनेश कार्तिक को भारतीय टीम में वापसी का मौका मिला और न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में उन्होंने उनका पूरा फायदा भी उठाया। आने वाले समय में भारतीय टीम को ज्यादातर मैच विदेशों में ही खेलने हैं और उसके बाद 2019 विश्वकप खेलने इंग्लैंड जाना है। इस बात को ध्यान में रखते हुए भारतीय टीम को ऐसे बल्लेबाज का चुनाव करना होगा जो पारी को संभाल सके और जरूरत पड़ने पर तेजी से रन भी बनाये। दिनेश कार्तिक इस स्थान पर फिट बैठते हैं क्योंकि वह तकनीकी रूप से मजबूत है, उvके पास सभी शॉट्स भी हैं और उनकी फील्डिंग भी जबरदस्त है। दिनेश कार्तिक को अनुभव भी बहुत ज्यादा है और वह विकेटकीपर भी हैं। इससे टीम को काफी फायदा मिलेगा। विराट कोहली को श्रीलंका के खिलाफ इस सीरीज के लिए आराम दिया गया है, यह दिनेश कार्तिक के लिए अच्छा मौका है कि बेहतरीन प्रदर्शन कर इस स्थान को अपना बना लें। यदि वह ऐसा करने में सफल होते हैं तो विश्व कप के लिए उनका टिकट पक्का हो जाएगा। #3 हार्दिक पांड्या HP हार्दिक पांड्या क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में ऐसे ऑलराउंडर के तौर पर उभरे हैं जिसकी भारतीय टीम को काफी पहले से तलाश थी। उन्होंने कई मौकों पर जिम्मेदारी अपने कंधे पर उठाते हुए निचले क्रम पर आकर बल्ले से काफी बेहतर प्रदर्शन किए हैं। उनकी गेंदबाजी भी टीम के लिए काफी फायदेमंद साबित हो रही है और कप्तान उनका इस्तेमाल साझेदारियां तोड़ने के लिए करते हैं। इसके अलावा उनकी जबरदस्त फील्डिंग उन्हें एक पूर्ण खिलाड़ी बनाती है। अभी तक पांड्या ने मुश्किल परिस्थितियों का ज्यादा सामना नहीं किया है लेकिन जितने भी मौके मिले हैं, उसका इस खिलाड़ी ने पूरा फायदा उठाया है। दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर उनकी उपयोगिता को देखते हुए उन्हें श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में आराम दिया गया था। अब वह श्रीलंका के खिलाफ होने वाले एकदिवसीय और टी20 मैचों के लिए टीम में वापस आ गये हैं। भारतीय क्रिकेट प्रेमियों को पांड्या में भारत का भविष्य दिखता है। अब देखने वाली बात होगी कि सीरीज में भारत के कप्तान रोहित शर्मा उनका कैसे इस्तेमाल करते हैं। पांड्या की विस्फोटक बल्लेबाजी, असरदार गेंदबाजी और जबरदस्त फील्डिंग उन्हें एक ऐसा खिलाड़ी बनाती है जिससे श्रीलंकाई टीम सबसे ज्यादा बचना चाहेगी। अब देखना होगा कि एकदिवसीय और टी20 सीरीज में पांड्या का प्रदर्शन कैसा रहता है। #4 उपल थरंगा UPAL उपुल थरंगा ने मुश्किल समय में श्रीलंका की कप्तानी संभाली थी। जब ज़िम्बाब्बे के खिलाफ करारी हार के बाद एंजेलो मैथ्यूज ने कप्तानी छोड़ी थी उस समय थरंगा को कप्तानी मिली थी। श्रीलंका की टीम में अभी बदलाव का दौर चला रहा है और टीम में नये-नये खिलाड़ियों को आजमाया जा रहा है। इसी वजह से यह टीम पिछली 3 सीरीज 0-5 से गंवा चुकी है। आईसीसी विश्वकप को ध्यान में रखते हुए चयनकर्ताओं ने थरंगा के स्थान पर थिसारा परेरा को एकदिवसीय मैचों में कप्तानी की जिम्मेदारी सौंपी है। इन सब के बावजूद थरंगा ने बल्लेबाज के तौर पर पिछले एक साल में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है। थरंगा के पास 214 एकदिवसीय मैचों का अनुभव भी है और उन्होंने इसका इस्तेमाल कर मुश्किल परिस्थितियों में निरंतर रन बनाये हैं। उनके बल्लेबाजी का तरीका बेहतरीन है जिस वजह से वह स्पिन और तेज दोनों की गेंदबाजी का सामना आसानी से कर सकते हैं। श्रीलंका को शुरुआत में ऐसे बल्लेबाज की जरूरत है जो टीम को सधी हुई शुरुआत दे सके और फिर मध्यक्रम में भी ऐसा बल्लेबाज चाहिए जो बीच के ओवरों में टिककर बल्लेबाजी करे और टीम को बड़े स्कोर तक ले जाये। कई मौकों पर कमजोर मध्यक्रम होने की वजह से श्रीलंकाई टीम अच्छे शुरुआत को भुनाने में असफल रहती है। अब थरंगा के कंधे से कप्तानी की जिम्मेदारी हट चुकी है, अब देखने वाली बात होगी कि वह कैसी बल्लेबाजी करते हैं और श्रीलंका की टीम उनके अनुभव का कैसे फायदा उठती है। एक बात तो पक्की है कि थरंगा श्रीलंकाई टीम के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं और श्रीलंका के टीम का प्रदर्शन उनके खेल पर काफी निर्भर करेगा। #5 धनंजया डी सिल्वा DHANANJAY DESILVA यह देखकर अजीब लगता है कि धनंजया जैसे बल्लेबाज को हाल के समय में एकदिवसीय और टी20 मैचों में श्रीलंका की टीम से बाहर कर दिया गया था। उनके पास काफी शॉट हैं और गेंदबाजों पर टूट कर पड़ते हैं। धनंजया की फील्डिंग भी काफी तेजतर्रार है। इसलिए उन्हें टेस्ट सीरीज के दौरान टीम में देखकर काफी अच्छा लगा। उनकी शुरुआत थोड़ी सुस्त होती है लेकिन नजरें जमने के बाद आक्रामक हो जाते हैं। दिल्ली में हुए दूसरे टेस्ट मैच की चौथी पारी में उन्होंने शतक लगाकर टीम को हार से बचाया था। हालिया समय में श्रीलंका की टीम में ऐसे बल्लेबाज की कमी रही है जो मध्य के ओवरों में तेजी से रन बना सके लेकिन इस सीरीज में उनके पास धनंजया और असेला गुनारात्ने हैं जो ऐसा करने में सक्षम हैं। अगर श्रीलंका एकदिवसीय मैचों में भारतीय टीम को टक्कर देना चाहता है तो धनंजया को मध्यक्रम में आकर रन गति को तेज करना होगा। वो ऑफ स्पिन गेंदबाजी भी कर सकते हैं, जो टीम के लिए काफी फायदेमंद रहेगा। जहाँ श्रीलंका की टीम अपना खोया हुआ सम्मान वापस पाना चाहती है वैसे में नये खिलाड़ियों को आगे आकर बेहतर प्रदर्शन करना होगा। श्रीलंका के प्रशंसक भी अपने खिलाड़ियों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे होंगे। लेखक- राघव अनुवादक- ऋषिकेश सिंह

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment