Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 खिलाड़ी जिन्हें सिर्फ कप्तान होने के नाते टीम में बनाये रखा गया

Modified 22 Nov 2015, 09:28 IST
Advertisement
एक आदर्श कप्तान बनने के लिए उस खिलाड़ी में जुझारूपन, कर्मठता और आक्रामकता का होना बहुत जरूरी है, लेकिन अगर वही कप्तान टीम के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन करे तो ये टीम के अन्य खिलाड़ियों को प्रेरित करेगा। जो ज्यादा महत्वपूर्ण है। सबसे बेकार बात ये लगती है, जब कप्तान लगातार अच्छा प्रदर्शन करने में नाकामयाब रहता है, फिर भी उसे टीम इसलिए जगह दी जाती है. क्योंकि वह टीम का कप्तान है। हम आपको आज ऐसे ही पांच दिग्गज खिलाड़ियों के बारे में बतायेंगे, जो लचर फॉर्म के बावजूद भी टीम में सिर्फ कप्तानी की हैसियत से बरकरार रहे: #1 माइक ब्रेयर्ली 79650070-1448115861-800 इस लिस्ट के बारे में हम जब भी चर्चा करेंगे तो उसमे सबसे पहला नाम माइक ब्रेयर्ली का होगा। जो टीम के लिए ओपनिंग करते थे। लेकिन वह कभी भी खुद को एक विशेषज्ञ बल्लेबाज़ के तौर पर स्थापित नहीं कर पाए। वह टीम में इसलिय बरकरार रखे जाते थे, क्योंकि वह कप्तान थे। एक बल्लेबाज़ के तौर पर उनका टेस्ट में 22.88 और वनडे में 24.28 का औसत था। लेकिन एक कप्तान के तौर पर वह इस ग्रुप के एलिट सदस्यों में आते हैं। 34 साल के बाद उन्होंने शिक्षण कार्य की वजह से टीम में शामिल होने में असमर्थता जताई, क्योंकि वह फिलोसफी के लेक्चरर बन गये थे। न्यूकासल विश्वविद्यालय में लेक्चरर बनने से पहले 1977 में वह इंग्लैंड टीम के कप्तान बने थे। उन्होंने 31 टेस्ट मैचों में कप्तानी की थी जिसमे 17 में जीत और 4 मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। उनका सम्मान और बढ़ जाता है क्योंकि उन्होंने अपनी कप्तानी में दो एशेज (1977 और 81) का ख़िताब भी इंग्लैंड को जिताया था।
1 / 5 NEXT
Published 22 Nov 2015, 09:28 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit