Create
Notifications

5 खिलाड़ी जिन्हें आईपीएल टीमों को रिलीज नहीं करना चाहिए था

जितेंद्र तिवारी
visit

आईपीएल का इतिहास रहा है, जब फ्रैंचाइज़ीज को अपने निर्णय पर पछतावा हुआ है। दिल्ली डेयरडेविल्स ने डेविड वार्नर, गौतम गंभीर और एबी डिविलियर्स को रिलीज किया तो उन्हें काफी पछतावा हुआ था। डेविड वार्नर मौजूदा समय में सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान हैं। वहीं गौतम गंभीर केकेआर के कप्तान हैं। जो रिकॉर्ड बोली 11.04 करोड़ रुपये में बिके थे। केकेआर और हैदराबाद के लिए ये बड़े फायदे से कम नहीं है। इसके अलावा एबी डिविलियर्स को आरसीबी ने खरीदा था। जो लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं गेल को केकेआर ने रिलीज किया था। जो मौजूदा समय में आरसीबी के स्तम्भ हैं। ऐसा ही इस साल 6 फरवरी को कई टीमों ने कई बेहतरीन खिलाड़ियों को रिलीज किया है। मोर्ने मोर्कल, इरफ़ान पठान, केविन पीटरसन और मिचेल जॉनसन जैसे खिलाड़ियों को टीमों ने रिलीज किया है। जो आने वाले सीजन में बड़ी गलती साबित हो सकती है। आइये डालते हैं एक नजर उन 5 खिलाड़ियों पर जिन्हें टीमों को रिलीज नहीं करना चाहिए था: इमरान ताहिर इमरान ताहिर टी-20 के विशेषज्ञ लेग स्पिन गेंदबाज़ हैं। साल 2014 में उन्होंने आईपीएल में डेब्यू किया था। ताहिर ने बल्लेबाजों पर इस छोटे प्रारूप में दबाव बनाकर रखा और विकेट भी लेने में कामयाब हुए। जिसकी वजह से कम समय में भी वह फैन्स के दिलों पर राज करने लगे। साल 2015 के संस्करण में ताहिर ने 10 मैचों में 15 विकेट लिए थे। जो अपनी फ्रैंचाइज़ी के लिए सबसे ज्यादा था। लेकिन इस साल दिल्ली ने उन्हें रिलीज कर दिया है। ऐसे में अब नीलामी में उन्हें जो भी टीम खरीदेगी उसके लिए फायदे का सौदा होगा। आईपीएल 9 में ताहिर ने 4 मैचों में 5 विकेट लिए थे। जिसमें पंजाब के खिलाफ उनका प्रदर्शन बेहतरीन रहा था। कोरी एंडरसन कोरी एंडरसन दुनिया के बेहतरीन आलराउंडर में से एक हैं। उनके अंदर गेंद को स्टेडियम से बाहर पहुंचाने की क्षमता है। मुंबई इंडियंस को करो या मरो मैच में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 14 ओवर में 190 रन बनाने थे। जो एंडरसन के ही पराक्रम से सम्भव हो पाया था। इसके अलावा वनडे का सबसे तेज शतक भी वह लगा चुके हैं। कीरोन पोलार्ड की वजह से एंडरसन को बेहद कम मौके मिले थे। जिसकी वजह से उन्हें अपनी क्षमता दिखाने का पूरा अवसर कम ही मिला। ऐसे में उन्हें रिलीज करना मुंबई के लिए बड़ी भूल साबित हो सकती है। केविन पीटरसन केविन पीटरसन हाल ही में बीबीएल के शीर्ष बेस्ट परफ़ॉर्मर में रहे हैं। जहाँ उन्होंने 7 मैचों में 43 से ज्यादा के औसत से 263 रन बनाये हैं। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 132 से ज्यादा का रहा है। लेकिन इस बार पुणे सुपरजायंट ने उन्हें रिलीज कर दिया है। 36 वर्षीय इस खिलाड़ी में वह क्षमता है, जो मैच का रुख कभी भी बदल सकता है। डेक्कन चार्जेज के खिलाफ उन्होंने पूर्व में शतक भी लगाया था। ऐसे में वह पुणे के लिए बड़ा सबक बन सकते हैं। पीटरसन एक मैच विजेता खिलाड़ी रहे हैं। वह आईपीएल में किसी भी फ्रैंचाइज़ी के लिए बेहतर साबित हो सकते हैं। ब्रेड हॉग ब्रेड हॉग बढ़ती उम्र के साथ और निखरे हुए क्रिकेटर बनते जा रहे हैं। बाएं हाथ के इस चाइनामेन गेंदबाज़ ने 45 साल की उम्र में भी सभी को खूब प्रभावित किया है। उनका प्रदर्शन लगातार बेहतर रहा है। बिग बैश लीग में पर्थ स्कोर्चेर्स के लिए खेलने वाले हॉग ने इस साल मेलबर्न रेनेगडेस की तरफ से खेले थे। पर्थ का साथ छोड़ने पर कोच जस्टिन लेंगर काफी दुखी हुए थे। ऐसे बहुत ही कम गेंदबाज़ रहे हैं, जो अपनी कला में बिलकुल मास्टर रहे हैं। हॉग ने उम्र को महज संख्या साबित किया है। उन्होंने कमाल का प्रदर्शन करते हुए चाइनामेन गेंदबाजी से सबको हैरान किया है। ऑस्ट्रेलिया के इस दिग्गज को हाल ही में केकेआर ने रिलीज कर दिया है। वह लम्बे समय तक कप्तान गंभीर के पसंदीदा खिलाड़ी रहे हैं। कुछ लोग केकेआर टीम प्रबन्धन के इस निर्णय को मूर्खतापूर्ण बताते हैं। तिसारा परेरा परेरा श्रीलंकाई टीम के टी-20 फॉर्मेट के स्टार खिलाड़ी रहे हैं। आईपीएल में वह चेन्नई सुपर किंग्स, कोच्ची टस्कर्स, मुंबई इंडियंस, सनराइजर्स हैदराबाद और पिछले साल राइजिंग पुणे के लिए खेल चुके हैं। 27 वर्षीय आलराउंडर का प्रदर्शन पिछले सीजन में अच्छा नहीं रहा था। लेकिन उन्हें रिलीज करना पुणे का अच्छा निर्णय नहीं माना जा रहा है। वह एक बिग हिटर हैं, जो कभी मैच में जान फूंक सकता है। इसके अलावा वह के बेहतरीन गेंदबाज़ भी हैं। लेखक-अर्शिता, अनुवादक-जितेन्द्र तिवारी

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now