Create
Notifications

5 खिलाड़ी जिन्होंने अपने पहले ही वनडे में लगाया शतक

आशीष कुमार
visit

प्रत्येक क्रिकेट खिलाड़ी का सपना होता है कि वो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने देश के लिए खेले। वहीं अपने पहले ही मैच में शतक लगाने से अच्छा और क्या हो सकता है। वनडे क्रिकेट के इतिहास में, केवल 14 खिलाड़ियों ने यह उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की है। इंग्लैंड के डेनिस अमीस ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह कारनामा करने वाले पहले खिलाड़ी बने थे। हाल ही में रीज़ा हेन्ड्रिक्स ने श्रीलंका के खिलाफ पहले ही मैच में शतक लगाकर इस क्लब में शामिल हो गए हैं। आइए ऐसे पांच खिलाड़ियों पर एक नज़र डालते हैं, जिन्हें आप नहीं जानते होंगे, लेकिन उन्होंने अपने पहले अंतराष्ट्रीय वनडे मैच में शतक लगाया है -

#5 तेम्बा बावुमा (दक्षिण अफ्रीका)

दक्षिण अफ्रीका के युवा बल्लेबाज़ बावुमा ने आयरलैंड के खिलाफ 25 सितंबर, 2016 को अपना पहला अंतराष्ट्रीय वनडे मैच खेला था। आयरलैंड ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। बावुमा और क्विंटन डी कॉक ने मेजबानों के लिए पारी की शुरुआत करने उतरे। इस जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 159 रन जोड़े और डी कॉक 82 रनों पर आउट हुए, जबकि बावुमा ने 123 गेंदों में 113 रन बनाए। इस प्रक्रिया में, वह अपने पहले ही वनडे में की शुरुआत में शतक लगाने वाले दूसरे दक्षिण अफ़्रीकी क्रिकेटर बने। दुर्भाग्य से, बावुमा केवल एक और वनडे मैच में खेल सके जो उन्होंने 22 अक्टूबर, 2017 को बांग्लादेश के खिलाफ खेला था। हालांकि वह दक्षिण अफ़्रीकी टेस्ट टीम के नियमित खिलाड़ी हैं।

#4 मार्क चैपमैन (हांगकांग)

मार्क चैपमैन ने 16 नवंबर, 2015 को (यूएई) के खिलाफ हांगकांग के लिए अपना पहला एकदिवसीय मुकाबला खेला था। यह मुकाबला दुबई में आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग चैम्पियनशिप का 13वां मैच था। हांगकांग ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। चैपमैंन नंबर 4 पर बल्लेबाज़ी के लिए आए और उन्होंने 116 गेंदों में नाबाद 124 रन बनाए और ऐसा करने वाले वह हांगकांग के पहले खिलाड़ी बने। इस के साथ साथ ही वह अपने पहले अंतराष्ट्रीय वनडे मैच में शतक लगाने वाले दुनिया के चुनिंदा खिलाडियों में शामिल हो गए। चैपमैन की पारी की बदौलत हांगकांग ने 298 रनों का विशाल स्कोर खडा किया। अंत में हांगकांग ने यूएई को 209 रनों पर आउट कर दिया और 89 रनों से यह मैच जीता।

#3 रॉब निकल (न्यूज़ीलैंड)

रॉब निकोल ने 20 अक्टूबर, 2011 को जिम्बाब्वे के खिलाफ न्यूजीलैंड के लिए अपना वनडे क्रिकेट में पदार्पण किया। यह जिम्बाब्वे में तीन मैचों की सीरीज का पहला मैच था। जिम्बाब्वे ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। टेलर के 128 रनों (नाबाद) की शानदार पारी की बदौलत मेजबानों ने 231 रन स्कोर खड़ा किया। जवाब में निकल और मार्टिन गुपटिल ने पहले विकेट के लिए 153 रनों की सा। निकल अंत तक टिके रहे और उन्होंने 131 गेंदों में 108 रनों की नाबाद पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिलाई।

# 2 कॉलिन इंग्राम (दक्षिण अफ्रीका)

कॉलिन इंग्राम ने 15 अक्टूबर, 2010 को जिम्बाब्वे के खिलाफ दक्षिण अफ्रीका के लिए अपना वनडे मैच खेला था। दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। इंग्राम नंबर 3 पर बल्लेबाज़ी करने के लिए आए, और उन्होंने 126 गेंदों में शानदार 124 रन बनाए। इसके साथ ही वह अपने पहले ही वनडे में शतक लगाने वाले पहले दक्षिण अफ़्रीकी खिलाड़ी बने। जिम्बाब्वे के लिए बल्लेबाजी करने उतरे ब्रेंडन टेलर ने 136 गेंदों में 145 रनों (नाबाद) का शानदार प्रदर्शन किया लेकिन दूसरे छोर से पर्याप्त समर्थन नहीं मिल पाने का कारण जिम्बाब्वे की टीम 64 रनों से यह मैच हार गई।

# 1 फिलिप ह्यूज (ऑस्ट्रेलिया)

ह्यूजेस ने 11 जनवरी2013 को श्रीलंका के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया के लिए अपना वनडे मैच खेला था। उस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। ह्यूज ने 129 गेंदों का सामना करते हुए शानदार 112 रन बनाए। उसके बाद बेली और डेविड हसी के योगदान से मेजबानों ने 305 रन बनाए। अंत में ऑस्ट्रेलिया ने 107 रनों के बड़े अंतर से यह मैच जीत लिया। घरेलू क्रिकेट खेलते हुए 63 (नाबाद) के स्कोर पर बल्लेबाजी कर रहे ह्यूज की गर्दन पर गेंद लगी और वह मैदान पर ही गिर गए और बाद में उनकी मृत्यु हो गयी। लेखक: सुयांबू लिंगम अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now