Create
Notifications

IPL में खेले 5 स्टार अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी जो शायद ही आपको याद हो

Shraddha Bagdwal
visit

आईपीएल हमेशा से खिलाड़ियों के लिए ऐसा प्लेटफॉर्म साबित हुआ है, जंहा से उन्होंने काफी कुछ हासिल किया है। फिर चाहे युवा खिलाड़ियों ने अपनी अलग पहचान बनाई हो, या सीनियर खिलाड़ियों ने दिखाया हो कि उनमें अभी भी दम बाकी है। हालांकि कई ऐसे भी खिलाड़ी हैं, जिनका खेल टी20 क्रिकेट के मुताबिक नहीं है और वो इस फॉर्मेट में फिट नहीं बैठते। 2017 आईपीएल नीलामी में 352 में से सिर्फ 66 खिलाड़ी ही फ्रैंचाइजियों में जगह हासिल कर सके। आईपीएल के पहले सत्र में कई बड़े इंटरनेशनल खिलाड़ियों ने इसमें हिस्सा लिया। फिर चाहे वो पैसे की चकाचौंध की वजह से इसमें आए या फिर बदलते क्रिकेट में खुद को ढालने के लिए। आइए हम आपको बताते हैं उन 5 इंटरनेशनल खिलाड़ियों के बारे में जो आपको याद भी नहीं होंगे कि कभी आईपीएल फ्रेंचाइजियों ने उन्हें अपनी टीम में शामिल किया था :


मिस्बाह उल हक (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर)

mis

पाकिस्तानी बल्लेबाज मिस्बाह उल हक जो 2007 टी 20 वर्ल्ड कप में अपनी टीम को फाइनल तक लेकर गए थे। उन्हें 2008 में आईपीएल के पहले सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने अपनी टीम में शामिल किया था। 2007 टी20 वर्ल्ड कप में मिस्बाह उल हक का प्रदर्शन अच्छा रहा था ।

मिस्बाह एक ऐसे बल्लेबाज हैं जो स्थिति के मुताबिक अपने खेल को ढालने में माहिर हैं। वो तेजतरार्र शॉट्स खेलने के साथ-साथ टीम की जरूरत के हिसाब से धीमी बल्लेबाजी भी करते हैं।

आईपीएल में मिस्बाह ने सिर्फ 8 मैच खेले। उसके बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते राजनैतिक विवाद के बाद पाकिस्तानी खिलाड़ियों के आईपीएल में भाग लेने पर बैन लगा दिया गया था। मिस्बाह अभी भी पाकिस्तान की टेस्ट टीम के कप्तान हैं।

डेरेन लीमैन (राजस्थान रॉयल्स)

darren

मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई टीम के कोच डेरेन लीमैन अपने समय के बेहतरीन ऑलराउंडर रहे हैं। लीमैन उन खिलाड़ियों में शुमार रहे, जिन्होंने लंबे समय तक घरेलू क्रिकेट में खुद को निखारने के बाद नेशनल टीम में अपनी जगह बनाई। 9 साल तक इंटरनेशनल लेवल पर लीमैन ने अपने खेल से सभी को प्रभावित किया। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए 117 वनडे और 27 टेस्ट मैच खेले। लीमैन ने आईपीएल के पहले सीजन में राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेल था और पहले ही सीजन में राजस्थान की टीम आईपीएल चैंपियन बनी थी। इसके बाद 38 साल के लीमैन ने अपने क्रिकेट करियर को अलविदा कहा और उन्होंने 2009 से 2012 के बीच आईपीएल टीम डेक्कन चार्जर्स को कोचिंग दी। संजय बांगर (डेक्कन चाजर्स) sanjay संजय बांगर ने टीमं इंडिया में बतौर ऑलराउंडर खेला। टेस्ट क्रिकेट में तो उन्होंने वीरेंद्र सहवाग के साथ कुछ समय तक ओपनिंग भी की। 2002 के बाद से बांगर भारतीय टीम में वापसी नहीं कर पाए। बांगर ने आईपीएल के पहले सीजन में डेक्कन चार्जर्स की ओर से 12 आईपीएल मैच खेले। इसके बाद उन्होंने अतंर्राट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहकर कोचिंग में अपने हाथ आजमाए। संजय बांगर मौजूदा भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच हैं। इसके साथ ही वो आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब के मेंटर भी हैं। मोहम्मद अशरफुल (मुंबई इंडियंस)

ashraful

2000 में बांग्लादेश की क्रिकेट टीम बेहद कमजोर हुआ करती थी। उन्हें नया- नया टेस्ट टीम का दर्जा मिला था। लेकिन इस कमजोर टीम में एक मजबूत खिलाड़ी भी था और वो था मोहम्मद अशरफुल।

17 साल की उम्र में बांग्लादेश की ओर से खेलने वाले अशरफुल टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम उम्र में शतक बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं। अशरफुल ने 17 साल 61 दिन की उम्र में श्रीलंका के ख़िलाफ़ कोलंबो टेस्ट में शतक बनाया था।

अशरफुल ने बांग्लादेश के लिए 16 टेस्ट में 6 शतक की मदद से 2737 रन बनाए हैं। वहीं 177 वनडे में 3 शतक और 20 अर्द्धशतक की मदद से 3468 रन उनके बल्ले से निकले।

अशरफुल बांग्लादेश के बड़े खिलाड़ी बनते जा रहे थे, लेकिन वो भी फिक्सिंग की फांस से अछूते नहीं रहे। अशरफुल ने 2013 में बांग्लादेश प्रीमियर लीग में मैच फ़िक्सिंग और स्पॉट फ़िक्सिंग की थी। हालांकि इससे पहले अशरफुल आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ओर से खेल चुके थे।

32 साल के अशरफुल ने 2013 में आखिरी बार बांग्ला टाइगर्स की ओर से खेला था। हालांकि घरेलू क्रिकेट में हाल ही में अशरफुल ने ढाका मेट्रोपोलिस की ओर से पिछले साल दिसंबर में खेला था।

डेमियन मार्टिन (राजस्थान रॉयल्स)

damien

2010 आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स ने अपने स्कावॉड छोटे करने की सोची और वर्ल्ड कप विनर खिलाड़ी डेमियन मार्टिन को बाहर कर दिया। मार्टिन ने अपना आईपीएल करियर 2008 में राजस्थान के शुरू किया और 2010 में राजस्थान के साथ ही उनके आईपीएल करियर का अंत हुआ।

मार्टिन ने रॉयल्स के लिए सिर्फ एक मैच खेला। जिसमें उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ 24 गेंदों में 19 रन बनाए थे। हालांकि 38 साल के मार्टिन को अपनी टीम में शामिल करने का राजस्थाऩ का फैसला काफी चौंकाने वाला था, क्योंकि मार्टिन ने लंबे समय से टॉप लेवल क्रिकेट नहीं खेला था। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए आखिरी बार 2006 में खेला था।

आईपीएल से पहले मार्टिन ने 2007 में इंडियन क्रिकेट लीग में अहमदाबाद रॉकेट्स की ओर से खेला था।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now