Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 कारण जिनके चलते भारत टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में न्यूजीलैंड को कभी नहीं हरा सका

Rahul Pandey
ANALYST
Modified 31 Oct 2017, 14:28 IST
Advertisement

  खेल के सभी तीन प्रारूपों को मिलाकर भारत और न्यूजीलैंड ने 163 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेले हैं। उनमें से, 72-59 की जीत-हार के रिकॉर्ड से भारत आगे है, भारतीयों ने टेस्ट और वनडे दोनों में अपने प्रतिद्वंदी पर महत्वपूर्ण बढ़त बनायी है, लेकिन न्यूजीलैंड ने उन्हें टी20 में पूरी तरह से पछाड़ दिया है। अब तक भारत और न्यूजीलैंड के बीच 5 टी20 मैच खेले गए हैं जिसमें से हर दफा न्यूजीलैंड ने बाजी मारी है। इनमें से दो मैच टी20 विश्व कप के दौरान हुए और दोनों ही बार कीवी टीम ने जीत हासिल की। 1 नवंबर से भारत और न्यूजीलैंड के बीच 3 टी20 मैचों की श्रृंखला शुरु हो रही है। ऐसे में भारतीय टीम के पास इस रिकॉर्ड को सुधारने का सुनहरा मौका है। आइए जानते हैं उन 5 टी20 मैचों के बारे में जब न्यूजीलैंड ने भारत को हराया। हम बताएंगे किस वजह से भारतीय टीम को सभी टी20 मैचों में हार मिली।  


# 5.  कीवी स्पिनरों को कम आंकना, (नागपुर, 2016) 01f1d-1509313659-800   भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच आखिरी बार साल 2016 के टी20 विश्व कप में खेला गया था। भारत में हुए इस विश्व कप में सबको भारतीय टीम के जीत की उम्मीदें थीं। लेकिन नागपुर में भारतीय टीम को न्यूजीलैंड ने एक बार फिर से हरा दिया।पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड की टीम जब 7 विकेट के नुकसान पर सिर्फ 126 रन ही बना पाई तो लगा कि मजबूत बैटिंग लाइन अप वाली भारतीय टीम ये लक्ष्य आसानी से हासिल कर लेगी। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। मिचेल सैंटनर, ईश सोढ़ी और नॅथन मैकलम की स्पिन जोड़ी ने भारतीय टीम को केवल 76 रनों पर ढेर कर दिया। कीवी स्पिनरों को कम आंकने की वजह से भारतीय टीम को हार के रुप में खामियाजा भुगतना पड़ा।
1 / 5 NEXT
Published 31 Oct 2017, 14:28 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit