Create
Notifications

5 कारण आखिर क्यों 2017 आईपीएल नीलामी के समय ही हार गई गुजरात लायंस

Modified 21 Apr 2017

अगर आप पूरी तैयारी के साथ जाएंगे तो बाद में आपको पछताना नहीं पड़ेगा, लेकिन गुजरात लॉयंस की आधी-अधूरी तैयारी ने उनकी नैय्या डूबो दी है। आईपीएल-10 में अब तक गुजरात का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है। इसकी बड़ी वजह टीम की कमजोर योजना और अधूरी तैयारी दिख रही है। उनका मैनजमेंट ठीक काम नहीं कर रहा है। पिछले सीजन में गुजरात की टीम प्वाइंट्स टेबल में टॉप पर रही थी, लेकिन इस सीजन में टीम का प्रदर्शन फीका रहा है। गुजरात के कई बड़े खिलाड़ी चोटिल थे, बावजूद इसके ऑक्शन में उन्होंने सही फैसले नहीं लिए और चोटिल खिलाड़ियों की भरपाई नहीं हो पाई। आइए नजर डालते हैं 2017 नीलामी के समय गुजरात से हुई 5 बड़ी गलतियों पर, जिसका खामियाजा उससे अब आईपीएल मुकाबलों में भुगतना पड़ रहा है :


#1 कोई भी अनुभवी भारतीय तेज गेंदबाज नहीं

CRICKET-T20-IPL-IND-KOLKATA-GUJARAT

शुरुआत के दो मैचों में गुजरात लॉयंस को सिर्फ 1 विकेट मिला। इसकी बड़ी वजह है उनके गेंदबाजों का फ्लॉप शो। 2017 आईपीएल ऑक्शन से पहले गुजरात के पास तेज गेंदबाजी डिपार्टमेंट में प्रवीण कुमार और धवल कुलकर्णी मौजूद थे। दोनों ही गेंदबाज अंतर्राष्ट्रीय लेवल पर इतने कामयाब नहीं रहे हैं और टी 20 क्रिकेट में भी इनका प्रदर्शन औसत दर्जे का रहा है। ऐसे में इस बार की नीलामी में गुजरात को गेंदबाजी विभाग को मजबूत करने के लिए किसी अनुभवी भारतीय तेज गेंदबाज पर निवेश करना चाहिए था, लेकिन बावजूद इसके उन्होंने घरेलू खिलाड़ियों पर ज्यादा खर्चा किया। टीम मैनेजमेंट ने बासिल थंपी, नाथू सिंह और शैली शौर्य जैसे युवा गेंदबाजों को अपने साथ शामिल किया, लेकिन इन गेंदबाजों को आईपीएल में दबाव में खेलने का अनुभव नहीं है। हालांकि लॉयंस के पास मुनाफ पटेल और मनप्रीत गोनी जैसे गेंदबाज हैं, जिन्हें आईपीएल में गेंदबाजी का अनुभव है। मगर पिछले कुछ सीजन में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। लिहाजा लॉयंस के पास इन भारतीय तेज गेंदबाजों के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। जिसके चलते अबतक आईपीएल में गुजरात का बॉलिंग डिपार्टमेंट कमजोर नजर आता है।
1 / 5 NEXT
Published 21 Apr 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now