Create
Notifications

5 ऐसे कारण जिसकी वजह से इंग्लैंड के स्पिनर भारतीय स्पिनरों जितना प्रभाव नहीं डाल सके

SENIOR ANALYST
Modified 15 Dec 2016
चौथे टेस्ट मैच में बुरी तरह हारने के बाद अब इंग्लैंड के स्पिनरों के प्रदर्शन पर सवाल उठने लगे हैं । इस सीरीज में इंग्लिश स्पिनरों के प्रदर्शन के बारे में बात करने से पहले आपको 4 साल पीछे 2012 में लिए चलते हैं । जब ग्रीम स्वान और मोंटी पनेसर की जोड़ी ने अपनी स्पिन से भारतीय बल्लेबाजों को खूब छकाया था । इस बार आदिल रशीद और मोइन अली की स्पिन जोड़ी संघर्ष कर रही है और भारतीय बल्लेबाजों पर उनका कोई असर नहीं हुआ है । भारतीय स्पिनरों के आक्रमण के सामने इंग्लिश स्पिनर का अटैक काफी कमजोर रहा है । इस वजह से कप्तान एलिस्टेयर कुक को एक ऐसी पिच पर जो स्पिनरों के लिए मददगार है वहां पर अपने तेज गेंदबाजों पर ज्यादा निर्भर रहना पड़ा । यहां पर हम आपको बता रहे हैं 5 ऐसे कारण जिसकी वजह से इंग्लिश स्पिनरों को इस सीरीज में संघर्ष करना पड़ा:   1.  गेंद छोड़ते समय शरीर का प्रयोग नहीं      rash1-1481630212-800   एक ऐसी पिच पर जहां ज्यादा मूवमेंट नहीं मिल रही हो वहां स्पिनरों को मूवमेंट हासिल करने के लिए अपने शरीर का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए । इसी वजह से रशीद और मोइन अली को दिक्कतों का सामना करना पड़ा, क्योंकि उन्होंने सही जगह पर गेंद नहीं डाली और मूवमेंट हासिल करने के लिए अपने शरीर का प्रयोग नहीं किया । अगर हम इंग्लिश स्पिनरों की रवींद्र जाडेजा, रविचंद्रन अश्विन और जयंत यादव से भी तुलना करें तो उनका गेंदबाजी एक्शन देखने से पता चलता है कि गेंद को छोड़ते समय उन्होंने अपने शरीर का सही से प्रयोग किया ।
1 / 5 NEXT
Published 15 Dec 2016
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now