Create
Notifications

IPL 2018: 5 प्रतिस्थापित खिलाड़ी जो अच्छा प्रदर्शन करने में रहे विफल

आशीष कुमार

आईपीएल का 11वां सीजन अपने अंतिम चरण में पहुंचने वाला है। लीग के इस सत्र में क्रिकेट प्रशंसकों को शानदार क्रिकेट देखने को मिला है।सभी खिलाड़ियों ने मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ट प्रदर्शन करने की कोशिश की है और इस दौरान कई खिलाड़ी चोटिल भी हुए हैं, जिससे उनकी टीमो को उनका विकल्प तलाशना पड़ा है और टीम में बदलाव करना पड़ा है। आइए जानते हैं ऐसे 5 प्रतिस्थापित खिलाड़ियों के बारे में जो अच्छा प्रदर्शन करने में विफल रहे हैं:

जूनियर डाला

दिल्ली डेयरडेविल्स को उस समय करारा झटका लगा जब कुछ ही मैचों के बाद उनके स्टार खिलाड़ी क्रिस मॉरिस लीग से बाहर हो गए। मॉरिस के नुकसान की भरपाई करने के लिए, डेयरडेविल्स ने दक्षिण अफ़्रीकी खिलाड़ी जूनियर डाला को टीम में शामिल किया था। डाला ने आईपीएल से ठीक पहले भारत के खिलाफ टी -20 श्रृंखला में अपनी गेंदबाज़ी से सभी को प्रभावित किया था, लेकिन दुर्भाग्यवश, वह आईपीएल में अपना प्रदर्शन दोहराने में नाकाम रहे। लंबे समय तक टीम से बाहर बैठने के बाद उन्हें अंततः आरसीबी के खिलाफ मैच खेलना का मौका मिला था लेकिन वह काफी महंगे साबित हुए और उन्होंने 3 ओवरों में 34 रन दे डाले। फिर भी उनके पास फॉर्म में लौटकर अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका है।

लियाम प्लंकेट

दिल्ली डेयरडेविल्स को आईपीएल से पहले एक और बड़ा झटका लगा जब दक्षिण अफ़्रीकी गेंदबाज़ काजीसो रबादा को टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा। रबादा को डेयरडेविल्स के गेंदबाज़ी आक्रमण का नेतृत्व करना था। दिल्ली की टीम ने उनकी जगह इंग्लैंड के लिआम प्लंकेट को टीम में शामिल किया लेकिन आईपीएल लीग में शानदार शुरुआत के बाद, जब उन्होंने 4 ओवरों में 17 रन देकर 3 विकेट लिए थे, प्लंकेट का प्रदर्शन निरंतर गिरता गया। अगले 5 मैचों में, उन्होंने केवल 1 विकेट लिया और 9 से ज़्यादा की इकोनॉमी दर से रन लुटाये। अभी टीम से बाहर चल रहे प्लंकेट का टीम में वापसी करना मुश्किल लगता है।

हेनरिक क्लासन

राजस्थान रॉयल्स की आईपीएल में जीतने की उम्मीदों को उस समय करारा झटका लगा जब सीज़न की शुरुआत से पहले उनके कप्तान स्टीव स्मिथ को गेंद-छेड़छाड़ मामले में एक साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया। उन्हें दक्षिण अफ़्रीकी विकेटकीपर बल्लेबाज हेनरिक क्लासन द्वारा प्रतिस्थापित किया गया था। क्लासन ने भारत के खिलाफ सीमित ओवरों की श्रृंखला के दो मैचों में मैच विजेता पारियां खेली थीं। लेकिन आईपीएल में उनका प्रदर्शन बहुत खराब रहा और अपनी फ्रैंचाइजी के लिए खेले गए दो मैचों में, उन्होंने 3.5 के औसत से महज 7 रन बनाए।

टॉम कुर्रन

कोलकाता नाइट राइडर्स को आईपीएल के शुरुआत से पहले ही चोटिल मिशेल स्टार्क के प्रतिस्थापन के रूप में टॉम कुर्रन को टीम में शामिल करना पड़ा। स्टार्क आईपीएल नीलामी में केकेआर के सबसे महंगे खिलाड़ी थे लेकिन उनके चोटिल होने की वजह से उन्हें लीग से बाहर होना पड़ा। केकेआर मोर्न मोर्केल या जेसन होल्डर जैसे अनुभवी खिलाड़ियों को टीम में शामिल कर सकते थे लेकिन उन्होंने अनुभवहीन गेंदबाज़ टॉम कुर्रन पर भरोसा दिखाया। इंग्लैंड के इस युवा गेंदबाज़ ने 11.60 की इकोनॉमी दर से रन लुटाये हैं और वह डेथ ओवरों में सटीक गेंदबाज़ी करने में नाकाम रहे हैं।

कोरी एंडरसन

आईपीएल की शुरुआत से ठीक पहले रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के स्टार गेंदबाज़ नाथन कॉल्टर-नाइल चोट की वजह से लीग से बाहर हो गए और किवी ऑलराउंडर, कोरी एंडरसन को उनके प्रतिस्थापन के रूप में टीम में शामिल किया गया। एंडरसन से आरसीबी को अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद थी, लेकिन यह ऑलराउंडर गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी के मोर्चे पर भी असफल रहे। उन्होंने इस सीज़न में खेले तीन मैचों में 13.26 की उच्चतम इकोनॉमी दर से सिर्फ 3 विकेट लिए हैं। बल्लेबाजी विभाग में भी उन्होंने 3 पारियों में सिर्फ 17 रनों का योगदान दिया है। ऐसे खराब फॉर्म के साथ एंडरसन का आने वाले मैचों में टीम की अंतिम एकादश में जगह पाना नामुमकिन है। लेखक: रैना सिंह अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...