विश्व के 5 सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड

Ankit
Nउ

क्रिकेट भारत में सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले खेलों में से एक है। भारत के लोगों के बीच इस खेल के लिए बहुत दीवानगी देखने को मिलती है। समय के साथ-साथ खेल के स्वरूपों में भी बदलाव आया है। टी-20 क्रिकेट जैसे प्रारूप ने खेल को मनोरंजक रूप में पेश किया है । अलग-अलग देशों में लीगों के माध्यम से इस खेल का काफी हद तक व्यवसायीकरण किया गया है और यह व्यवसायीकरण काफी सफल भी साबित हुआ है। भारत मे आईपीएल काफी सफल और लोकप्रिय लीग है।

खेल के सबसे छोटे प्रारूप, टी-20 की लोकप्रियता को भुनाने के लिए, दुनिया भर के क्रिकेट बोर्ड कई आकर्षक टी20 लीग जैसे इंडियन प्रीमियर लीग, बिग बैश लीग, कैरिबियन प्रीमियर लीग, बांग्लादेश प्रीमियर लीग और पाकिस्तान सुपर लीग का आयोजन कर रही हैं और अधिक से अधिक राजस्व उत्पन्न करने में सफल हो रहे हैं। हर ओवर के दौरान विज्ञापनों के माध्यम से बोर्ड के लिए अच्छी खासी रकम कमाने के बड़े अवसर खुले हैं।

अब हम बात करते हैं दुनिया के शीर्ष 5 सबसे अमीर क्रिकेट बोर्डों पर और नजर डालते हैं उनकी कमाई पर:-

# 5 बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) - 51 मिलियन डॉलर

बीसीबी

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB), बांग्लादेश में क्रिकेट का संचालन करता है। इसकी स्थापना वर्ष 1972 में 'बांग्लादेश क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड' के रूप में हुई। कुछ समय बाद इसका नाम बदलकर 'बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड' कर दिया गया। बीसीबी जून 2000 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद का पूर्णकालिक सदस्य बन गया। बांग्लादेश वर्ष 2011 में, भारत और श्रीलंका के साथ ICC क्रिकेट विश्व कप का मेजबान देश था।

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड हाल ही में 51 मिलियन डॉलर की कमाई के साथ दुनिया का पांचवा सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बन गया है। इसके प्रमुख प्रायोजकों में यूनिलीवर बांग्लादेश लिमिटेड, प्रान-रफल ग्रुप, फ्रेश, ब्रेक बैंक, कतर एयरवेज, आम्र नेटवर्क,पैन पैसिफिक होटल्स और रिसॉर्ट्स शामिल हैं।

# 4 पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) - 55 मिलियन डॉलर

पीसीबी

पाकिस्तान में क्रिकेट का संचालन 'पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड' द्वारा किया जाता है। 'पीसीबी' को वर्ष 1948 में पाकिस्तान में 'बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट' के रूप में स्थापित किया गया था, लेकिन 28 जुलाई 1952 को इसे वर्तमान नाम ( पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ) में बदल दिया गया।

आतंकवाद की चपेट में आने और अपने घरेलू खेलों को दुबई में स्थानांतरित कराने के बावजूद भी इसकी आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है। जिसका मुख्य कारण पाकिस्तान में क्रिकेट खेल की अपार लोकप्रियता है। पाकिस्तान टीम के लगातार विदेशी दौरों ने भी पीसीबी को आर्थिक रूप से काफी मजबूती दी है।

वर्तमान में 'पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड' दुनिया का चौथा सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड है, जिसकी कुल कमाई 55 मिलियन डॉलर है। इसके प्रमुख प्रायोजकों में पेप्सी, यूनाइटेड बैंक लिमिटेड, पाकिस्तान टेलीकम्यूनिकेशन कंपनी लिमिटेड और कूल एंड कूल मुख्य रूप से शामिल हैं।

# 3 इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) - $ 59 मिलियन

ईसीबी

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी), इंग्लैंड और वेल्स में क्रिकेट का संचालन करता है। इसका गठन 1 जनवरी 1997 को हुआ था। इंग्लैंड क्रिकेट का आविष्कारक देश है और यह एकदिवसीय विश्व कप की मेजबानी करने वाला पहला देश है। आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 की मेजबानी भी इंग्लैंड ही करेगा। 59 मिलियन डॉलर की कमाई के साथ, इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड की सूची में तीसरे स्थान पर है। इंग्लैण्ड में क्रिकेट अन्य खेलों की तरह लोकप्रिय है।

ईसीबी के प्रमुख प्रायोजकों में, नेशनल वेस्टमिंस्टर बैंक (नैटवेस्ट), किआ मोटर्स कॉर्पोरेशन, रॉयल लंदन म्यूचुअल इंश्योरेंस सोसाइटी लिमिटेड, स्पेसकवर्स ऑप्टिकल ग्रुप लिमिटेड, विटैलिटी हेल्थ, टोयोटा मोटर कॉर्पोरेशन, हार्डिस वाइन, ग्रीन किंग, यॉर्कशायर टी, न्यू बैलेंस एथलेटिक्स, रूबिकॉन, व्यूवे सिलेकोट पॉनसार्डिन, बैरिंगटन, टीएम लेविन एंड संस लिमिटेड मुख्यतः शामिल हैं।

# 2 क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) - $ 79 मिलियन

सीएसए

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (CSA), दक्षिण अफ्रीका में खेल का संचालन करता है । इस क्रिकेट बोर्ड को मूल रूप से वर्ष 1991 में दक्षिण अफ्रीका के संयुक्त क्रिकेट बोर्ड के रूप में बनाया गया था और बाद में इसे 'क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका' के रूप में बदल दिया गया। दक्षिण अफ्रीका में क्रिकेट की अपार दीवानगी देखने को मिलती है।

'क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका' वर्तमान में दुनिया का दूसरा सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड है। इसकी कुल संपत्ति $ 79 मिलियन है। सीएसए अपना अधिकांश राजस्व टेलीविजन अधिकारों से प्राप्त करता है।

'क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका' के प्रमुख प्रायोजकों में स्टैंडर्ड बैंक ऑफ साउथ अफ्रीका लिमिटेड, मोमेंटम, सनफॉइल सीरीज़, केएफसी, न्यू बैलेंस एथलेटिक्स, कैसल लेगर, राम करियर्स, पॉवरडे, द बिडवेस्ट ग्रुप लिमिटेड, टिकट प्रो, बिटको, कोका-कोला, ब्लू लेबल टेलीकॉम, वर्जिन एक्टिव , मोमेंटम हेल्थ, केमाच जेसी बामफोर्ड एक्सावेटर्स लिमिटेड मुख्य रूप से शामिल हैं।

#1 भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) - $ 295 मिलियन

बीसीसीआई

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई), भारत में क्रिकेट का संचालन करता है। इसका गठन 1928 में किया गया था। इसका मुख्यालय वर्तमान में वानखेड़े स्टेडियम, मुंबई में है। सी के खन्ना बोर्ड के कार्यवाहक अध्यक्ष हैं।

भारत के वर्ष 1983 में विश्व कप के जीतने बाद, भारतीय क्रिकेट का चेहरा पूरी तरह से बदल गया। वर्ष 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग का आगमन हुआ। बीसीसीआई ने इस लीग को एक बड़ी सफलता के रूप में भुनाया। इस लीग के सफल आयोजन ने बोर्ड की दिशा और दशा बदल दी। आज वर्तमान में यह स्थिति है कि बीसीसीआई दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बन गया है। बीसीसीआई का नेट वर्थ 295 मिलियन अमेरिकी डॉलर है, जो दूसरे सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड की तुलना में लगभग चार गुना है।

इसके प्रमुख प्रायोजकों में ओप्पो इलेक्ट्रॉनिक्स कॉरपोरेशन, पेटीएम, नाइक, पेप्सी, हुंडई मोटर कंपनी, जनलक्ष्मी फाइनेंशियल सर्विसेज शामिल हैं।

Get Cricket News In Hindi Here.

App download animated image Get the free App now