Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

कुंबले का मानसिक समर्थन मेरे लिए सबसे बड़ी चीज है : अमित मिश्रा

ANALYST
Modified 11 Oct 2018, 14:27 IST
Advertisement
क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में आक्रमक विकल्प होने के बावजूद लगातार नजरअंदाज किए गए लेगस्पिनर अमित मिश्रा ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वन-डे सीरीज का इस्तमाल करते हुए अपना कौशल दिखाया। मिश्रा ने 5 मैचों में 15 विकेट चटकाए और भारत को सीरीज में 3-2 की जीत दिलाई। विशाखापत्तनम में खेले गए पांचवें एकदिवसीय में 5 विकेट लेने वाले अमित मिश्रा ने प्रमुख कोच अनिल कुंबले के समर्थन का धन्यवाद दिया। मैच के बाद 33 वर्षीय अमित ने कोचिंग ग्रुप में लेग स्पिनर के होने का फायदा बताया और स्वीकार किया कि जो भी मौका मिलेगा वह उसमें शानदार प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं। मिश्रा ने कहा, 'अनिल कुंबले का मानसिक समर्थन मेरे लिए सबसे बड़ी चीज है। मैं पूरी टेस्ट सीरीज में बाहर बैठा, लेकिन उन्होंने मानसिक तौर पर मेरा काफी समर्थन किया और कहा कि चिंता करने की जरुरत नहीं है, तुम्हारा अच्छा समय आएगा। जब भी मैं नेट्स पर गेंदबाजी करता हूं तो वह हमेशा टिप्स देकर मेरी गेंदबाजी सुधारते हैं। उन्होंने कहा है कि मुझे अपनी बल्लेबाजी भी सुधारने की जरुरत है। वह हमेशा मेरी हर छोटी गलती को सुधारते हैं।' जब भी टीम प्रबंधन सात-चार का संयोजन करेगा तो शानदार फॉर्म में चल रहे रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा के साथ मिश्रा अंतिम एकादश का हिस्सा बनेंगे। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले जडेजा और अश्विन को आराम दिया गया तो मिश्रा को कीवी टीम के खिलाफ स्पिन आक्रमण की अगुवाई करने का सुनहरा मौका मिला। मिश्रा ने इसका पूरा लाभ उठाया और मेहमान टीम के बल्लेबाजों को ख़ासा परेशान किया। वह सीरीज के लीडिंग विकेट टेकर और प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे। भारत को 2017 चैंपियंस ट्रॉफी से पहले सिर्फ वन-डे में हिस्सा लेना है, ऐसे में अनुभवी गेंदबाज ने चयनकर्ताओं के सामने अपनी उपयोगिता दर्शाई है। मिश्रा ने कहा, 'करियर के इस चरण में मुझे सिर्फ प्रदर्शन करना है। मैं एक विकेट लेने वाला गेंदबाज हूं। यह एक तरह का ट्रेडमार्क बन गया है कि अमित आएगा तो विकेट निकालेगा। मैंने सोचना छोड़ दिया है कि मेरे हाथ में क्या नहीं नहीं। मैं अपनी फिटनेस और बल्लेबाजी सुधार रहा हूं, लेकिन यह फैसला नहीं कर सकता कि कितने मैच खेलूंगा। मैं अपने आप को मानसिक रूप से तैयार कर रहा हूं कि जो भी मौका मिलेगा, उसमें अपना 100 प्रतिशत झोंकना है।' उन्होंने साथ ही कहा, 'मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करके खुश हूं। मैंने अच्छा प्रदर्शन किया और मैन ऑफ द सीरीज का खिताब जीता। यह दूसरी सीरीज है जब मैंने पांच मैच लगातार खेले। यहां प्रदर्शन करके अच्छा महसूस हो रहा है। मुझे खुशी है कि महत्वपूर्ण मैच में पांच विकेट निकाले और भारत को सीरीज में जीत दिलाई।' इंग्लैंड का भारत दौरा जल्द ही शुरू होने वाला हैं जहां दोनों टीमें 5 टेस्ट, 3 वन-डे और 3 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों की सीरीज खेलेंगे। हमें मिश्रा के कई जादुई स्पेल देखने को मिल सकते हैं। Published 30 Oct 2016, 12:28 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit