Create
Notifications

IPL इतिहास के 5 ऐसे खिलाड़ी जिनका करोड़ों में ख़रीदा जाना बेहद चौंकाने वाला था।

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda

इंडियन प्रीमीयर लीग अपने रोमांच और चकाचौंध के लिए बेहद मशहूर है। यहां मैदान में लगा हर छक्का किसी भी खिलाड़ी को फ़र्श से अर्श तक ले जाता है। कुछ खिलाड़ी वाकई ऐसे हैं जिन्हें ऊंची क़ीमत पर ख़रीदा जाना सही लगता है। लेकिन कुछ ऐसे अंजान खिलाड़ी भी हैं जिनकी बेस प्राइस बेहद कम होती है फिर भी वो काफ़ी ऊंची क़ीमत पर बिक जाते हैं। हर बार की आईपीएल नीलामी के दौरान ऐसे चौंकाने वाले नाम भी सामने आते हैं जिनकी क़ीमत सुनकर यक़ीन नहीं होता है। ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बार में हम यहां चर्चा कर रहे हैं।

#5 केसी करियप्पा - 2.4 करोड़ रुपये - साल 2015

कोलकाता नाइट राइडर्स ने जब सुनील नरेन को अपनी टीम में शामिल किया था तो उन्हें काफ़ी कम लोग जानते थे, लेकिन वो बाद में केकेआर टीम के अहम खिलाड़ी बन गए। साल 2015 में केकेआर टीम ने अपना इतिहास दोहराने की कोशिश की और एक अंजान खिलाड़ी केसी करियप्पा को 2.4 करोड़ रुपये में ख़रीदा। साल 2014 में करियप्पा कर्नाटक प्रीमीयर लीग खेल चुके थे। उनके शानदार प्रदर्शन की वजह से वसीम अकरम और गौतम गंभीर उनके दीवाने बन गए थे। कर्नाटक प्रीमीयर लीग में वो बीजापुर बुल्स टीम के सदस्य थे और उन्होंने 6 मैचों में 11 विकेट हासिल किए थे। नीलामी के दौरान उनको करोड़ों में ख़रीदा जाना सभी के लिए हैरान करने वाला था। साल 2015 की आईपीएल नीलामी से पहले करियप्पा कर्नाटक अंडर-19 टीम के सीमित ओवर के खेल का हिस्सा थे। वो कर्नाटक राज्य की टीम में भी चुने गए थे लेकिन एक भी मैच नहीं खेल पाए थे। साल 2015 के आईपीएल सीज़न में इस लेग स्पिनर ने महज़ 1 मैच खेला था। इस एकलौते मैच में उन्होंने 1 विकेट हासिल किया था। साल 2016 में उन्हें किंग्स इलेवन पंजाब टीम ने ख़रीद लिया था।

#4 मुरुगन अश्विन - 4.5 करोड़ रुपये - साल 2016

साल 2016 में एक अंजान से खिलाड़ी मुरुगन अश्विन ने नीलामी के दौरान हर किसी को चौंका दिया था। औसत घरेलू करियर होने के बावजूद उन्हें काफ़ी ऊंची क़ीमत पर ख़रीदा गया था। साल 2015 के नेट सेशन के दौरान उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और कोच स्टीफ़न फ़्लेमिंग का दिल जीत लिया था। साल 2016 की आईपीएल नीलामी के दौरान मुरुगन को लेकर राइज़िग पुणे सुपरजायंट और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर के बीच में काफ़ी खीचतान हुई। आख़िरकार धोनी की पुणे टीम ने उन्हें 4.5 करोड़ की ऊंची क़ीमत पर ख़रीदा नीलामी के दौरान मुरुगन की बेस प्राइस महज़ 10 लाख रखी गई थी। नीलामी से पहले उन्होंने सिर्फ़ 3 प्रथम श्रेणी मैच खेला था और 1 विकेट हासिल किया था। इसके अलावा उन्होंने 246 रन भी बनाया था। लिस्ट-ए क्रिकेट में उन्होंने 3 विकेट लिए थे। हांलाकि इतनी ऊंची क़ीमत में बिकने के बावजूद मुरुगन ने कोई ख़ास कमाल नहीं दिखाया। उन्होंने 10 आईपीएल मैच में 34.42 की औसत और 9 की इकॉनमी रेट से 7 विकेट हासिल किए थे। साल 2017 में वो राइज़िंग पुणे सुपरजायंट टीम से जुदा हो गए थे और उसी साल वो दिल्ली डेयरडेविल्स में शामिल हुए थे, लेकिन वो एक भई नहीं खेल पाए थे।

#3 कृष्णप्पा गौथम - 6.2 करोड़ रुपये - साल 2018

कृष्णप्पा गौथम को साल 2017 की आईपीएल नीलामी के दौरान 2 करोड़ रुपये में ख़रीदा गया था। इस साल की नीलामी के दौरान राजस्थान रॉयल्स टीम ने उन्हें बेस प्राइस क़रीब 30 गुणा ऊंची क़ीमत पर ख़रीदा है। गौथम के लिए राजस्थान टीम ने 6.2 करोड़ की कीमत चुकाई है। अक्टूबर 2017 में उन्होंने कर्नाटक की तरफ़ से खेलते हुए असम के ख़िलाफ़ पहला प्रथम श्रेणी शतक बनाया था। हांलाकि किसी को ये उम्मीद नहीं थी कि राजस्थान टीम गौथम के लिए इतनी बड़ी क़ीमत चुकाएगी। अकसर देखा गया है कि राजस्थान टीम नामी खिलाड़ियों से ज़्यादा अंजान चेहरों पर दाव लगाती है। ऐसे में गौथम को अपनी नई टीम के भरोसे पर खरा उतरना होगा।

#2 पवन नेगी- 8.5 करोड़ रुपये - साल 2016

साल 2016 में सबसे चौंकाने वाला नाम पवन नेगी का था क्यों इस सीज़न की नीलामी के दौरान उन्हें 8.5 करोड़ की बेहद ऊंची क़ीमत में ख़रीदा था। उनकी बेस प्राइज़ 30 लाख रखी गई थी लेकिन उन्हें लगभग 30 गुणा ऊंची क़ीमत पर ख़रीदा गया था। साल 2016 में वो युवराज सिंह जैसे मशहूर खिलाड़ी को भी पछाड़ते हुए सबसे महंगे बिके थे। 23 साल के इस खिलाड़ी के महंगे बिकने की वजह भी समझ से परे थी, नीलामी से पहले उनका 56 टी-20 मैच में उनकी बल्लेबाज़ी का औसत 19.16 था। इसके अलावा उन्होंने 26.28 की औसत से 46 विकेट भी हासिल किए थे। सैय्यद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी आईपीएल से ठीक पहले ख़त्म हुई थी, जहां उन्होंने 9 मैचों में सिर्फ़ 6 विकेट लिए थे और 173 रन बनाए थे। इतने महंगे बिकने के बावजूद वो दिल्ली टीम के मालिकों की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए थे। उन्होंने साल 2016 के आईपीएल सीज़न में 8 मैचों में सिर्फ़ 57 रन बनाए थे। इसके अलावा उन्होंने महज़ 1 विकेट हासिल किए थे। ये बात किसी के गले नहीं उतर पा रही थी कि अगर वो इतने हुनरमंद नहीं थे तो आख़िर उन पर करोड़ों लुटाने की वजह क्या थी।

#1 जयदेव उनादकट - 11.5 करोड़ रुपये – साल 2018

आईपीएल की नीलामी के इतिहास में शायद जयदेव उनादकट की क़ीमत सबसे हैरान करने वाली है। इस साल राजस्थान रॉयल्स टीम ने उन्हें 11.5 करोड़ की बेहद ऊंची क़ीमत पर ख़रीदा है। वो इस साल नीलामी में बिकने वाले सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी हैं। पिछले आईपीएल सीज़न में राइज़िंग पुणे सुपरजायंट की तरफ़ से खेलते हुए उन्होंने 24 विकेट हासिल किए थे। वो डेथ ओवर के शानदार गेंदबाज़ बन गए थे। इस साल की नीलामी प्रक्रिया के दौरान किंग्स इलेवन पंजाब और राजस्थान रॉयल्स के बीच काफ़ी खींचतान देखने को मिली। आख़िरकार स्टीव स्मिथ की टीम जयदेव को हासिल करने में कामयाब हुई। नीलामी के वक़्त जयदेव की बेस प्राइस 1.5 करोड़ रखी गई थी। ये बात हर किसी को मालूम थी कि टी-20 में उनका रिकॉर्ड काफ़ी अच्छा है। ऐसे में उम्मीद की जा रही थी कि उन्हें अच्छी क़ीमत मिल सकती है, लेकिन किसी को ये नहीं पता था कि वो केएल राहुल और मनीष पांडेय से भी महंगे बिक जाएंगे। लेखक- सारा वारिस अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...