क्रिकेट

5 बातें जिन्हें एशिया कप 2018 के दौरान नजरअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए

विश्वकप की तैयारी के लिए एशिया कप काफी अहम होने वाला है

एशिया कप 2018 का आयोजन यूएई में होने वाला है। इस साल एक बार फिर एशिया कप परांपरिक 50 ओवर के फ़ॉर्मेट में खेला जाएगा। इस टूर्नामेंट में शामिल होने वाली ज़्यादातर टीमें वर्ल्ड कप 2019 से पहले वॉर्म-अप करना चाहती हैं। भारत और पाकिस्तान क़रीब एक साल के अंतराल के बाद 19 सितंबर को दुबई के मैदान में आमने सामने होंगे।

भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफ़ग़ानिस्तान और श्रीलंका ने पहले ही इस टूर्नामेंट में अपनी जगह पक्की कर ली है, तो अभी एक टीम का क्वालीफाई करना बाकी है। हम यहां उन 5 चीज़ों के बारे में चर्चा कर रहे हैं जिन्हें एशिया कप 2018 के दौरान नज़रअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए।

1) भारतीय बल्लेबाजी क्रम


भारत को वर्ल्ड कप 2019 से पहले अपनी धाक जमानी है तो उसे इस साल का एशिया कप जीतना ही होगा। भारत को हाल में ही इंग्लैंड में हुई वनडे सीरीज़ में हार का सामना करना पड़ा था। विराट कोहली को अपनी इस नाकामी को भुलाकर एशिया कप में मज़बूती से उतरना होगा।

श्रेयष अय्यर, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक और केदार जाधव पर कप्तान और चयनकर्ताओं की ख़ास नज़र होगी। भारतीय टीम में बल्लेबाज़ी क्रम को लेकर काफ़ी समस्याएं हैं, लेकिन ये भी याद रखना होगा कि टीम इंडिया के पास केएल राहुल जैसे बल्लेबाज़ भी हैं। इसके अलावा हरफ़नमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या का योगदान बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी के लिए अहम होगा।
Page 1 of 5 Next