Create
Notifications

5 बातें जिन्हें एशिया कप 2018 के दौरान नजरअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda
visit

एशिया कप 2018 का आयोजन यूएई में होने वाला है। इस साल एक बार फिर एशिया कप परांपरिक 50 ओवर के फ़ॉर्मेट में खेला जाएगा। इस टूर्नामेंट में शामिल होने वाली ज़्यादातर टीमें वर्ल्ड कप 2019 से पहले वॉर्म-अप करना चाहती हैं। भारत और पाकिस्तान क़रीब एक साल के अंतराल के बाद 19 सितंबर को दुबई के मैदान में आमने सामने होंगे। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफ़ग़ानिस्तान और श्रीलंका ने पहले ही इस टूर्नामेंट में अपनी जगह पक्की कर ली है, तो अभी एक टीम का क्वालीफाई करना बाकी है। हम यहां उन 5 चीज़ों के बारे में चर्चा कर रहे हैं जिन्हें एशिया कप 2018 के दौरान नज़रअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए।

1) भारतीय बल्लेबाजी क्रम

भारत को वर्ल्ड कप 2019 से पहले अपनी धाक जमानी है तो उसे इस साल का एशिया कप जीतना ही होगा। भारत को हाल में ही इंग्लैंड में हुई वनडे सीरीज़ में हार का सामना करना पड़ा था। विराट कोहली को अपनी इस नाकामी को भुलाकर एशिया कप में मज़बूती से उतरना होगा। श्रेयष अय्यर, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक और केदार जाधव पर कप्तान और चयनकर्ताओं की ख़ास नज़र होगी। भारतीय टीम में बल्लेबाज़ी क्रम को लेकर काफ़ी समस्याएं हैं, लेकिन ये भी याद रखना होगा कि टीम इंडिया के पास केएल राहुल जैसे बल्लेबाज़ भी हैं। इसके अलावा हरफ़नमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या का योगदान बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी के लिए अहम होगा।

2) अफ़ग़ानिस्तान का प्रदर्शन

पिछले कुछ सालों में अफ़ग़ानिस्तान की क्रिकेट टीम ने कई ऊंचाइयों को छुआ है। वर्ल्ड कप क्वालिफ़ायर में इस टीम ने ज़िम्बाब्वे और आयरलैंड को बाहर कर दिया था। इसके अलावा उन्होंने हाल में ही बांग्लादेश को भी हराया है। एशिया कप के दौरान ये बात भी ध्यान रखी जानी चाहिए कि अफ़ग़ान टीम को यूएई में खेलने का अच्छा ख़ासा अनुभव है। हांलाकि इस टीम ने अपना पहला टेस्ट मैच टीम इंडिया के ख़िलाफ़ गंवाया था, लेकिन देखना होगा कि 50 ओवर क्रिकेट में इनका प्रदर्शन किस तरह का रहता है?

3) कमज़ोर टीम का प्रदर्शन

हाल के दौर में भारत और पाकिस्तान एशिया की सबसे बेहतरीन टीम है। प्रदर्शन के मामले में बाक़ी टीमें इनके आसापास भी नहीं हैं। बांग्लादेश और श्रीलंका की बात करें तो ये दोनों टीम का प्रदर्शन हाल के दौर में काफ़ी खराब रहा है। हांलाकि इन दोनों टीम को हल्के में लेना बेवकूफ़ी होगी। श्रीलंका को ये बात नहीं भूलनी चाहिए कि बांग्लादेश ने उन्हें निदाहस ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल में नहीं पहुंचने दिया था। बांग्लादेश के पास अनुभवी शाक़िब-अल-हसन, मशरफ़े मर्तजा, तमीम इक़बाल और मुशफ़िकुर रहीम हैं। दूसरी तरफ़ श्रीलंका के पास एंजेलो मैथ्यूज़, उपुल थरंगा और कुसल मेंडिस हैं जो मैच का रुख़ पलट सकते हैं।

4) पाकिस्तान का गेंदबाजी आक्रमण

पेस अटैक पाकिस्तानी टीम का हमेशा से बड़ा हथियार रहा है। इस देश ने विश्व क्रिकेट को कई बेहतरीन तेज़ गेंदबाज़ दिए हैं। हांलाकि पिछले कुछ सालों में इस टीम के हालात वैसे नहीं रहे हैं जैसे कि पहले हुआ करते थे। फिर भी मोहम्मद आमिर, हसन अली, जुनैद ख़ान, उस्मान ख़ान और फ़हीम अशरफ़ ने काफी प्रभावित किया है। इसके अलावा पाक टीम में स्पिन गेंदबाज़ों की कमी नहीं है शादाब ख़ान और शोएब मलिक एशिया कप में धमाल मचा सकते हैं। टीम इंडिया का वो ज़ख़्म अब तक नहीं भरा है जो पाकिस्तान ने उस पिछले साल की आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल में दिया था। पाकिस्तान को इस बार एशिया कप में ये साबित करना है कि वो किसी से कम नहीं है।

5) आईपीएल 2019 की तैयारी

आईपीएल एक ऐसा टूर्नामेंट है जिसमें देसी और विदेशी खिलाड़ियों को अपना हुनर दिखाने का मौका मिलता है। साल 2019 में भारत में आम चुनाव होने वाले हैं ऐसे में ये उम्मीद की जा रही है कि आईपीएल 2019 के कुछ कार्यक्रम यूएई में शिफ़्ट किए जा सकते हैं। खिलाड़ियों की कोशिश रहेगी कि वो यूएई में होने वाले एशिया कप में अच्छा खेल दिखाएं। टीम के मालिकों की नज़र अकिला धनंजय, कुसल मेंडिस, शब्बीर रहमा जैसे खिलाड़ियों पर रहेंगी। ये देखना भी दिलचस्प होगा कि एसोसिएट देशों के खिलाड़ी कैसा प्रदर्शन करते हैं। ख़ासकर यूएई के चिराग सूरी और नेपाल के संदीप लामिचाने से काफ़ी उम्मीदें हैं।

लेखक- रामकुमार नायर

अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now