Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 मौके जब भारतीय टीम के दिग्गज बड़े फाइनल मुकाबले में सस्ते में आउट हो गए

SENIOR ANALYST
Modified 07 Jul 2017, 11:27 IST
Advertisement

भारतीय क्रिकेट में अब तक कई ऐसे महान बल्लेबाज हुए हैं, जिन्होंने अकेले अपने दम पर भारतीय टीम को कई मैच जिताए।  1990 के आखिर या फिर 2000 के शुरुआत में सचिन तेंदुलकर हों या महेंद्र सिंह धोनी हों या फिर अब विराट कोहली हों। इन सभी खिलाड़ियों ने कई बार भारतीय टीम को अकेले अपने दम पर मैच जिताया। बड़े टूर्नामेंटों में भी इन प्लेयरों से लोगों को काफी उम्मीदें रहती थीं। हालांकि कई मौके ऐसे भी आए जब बड़े टूर्नामेंटों में ये बल्लेबाज अपनी क्षमता के अनुरुप प्रदर्शन नहीं कर सके। खासकर फाइनल मुकाबले में जब इनसे सबसे ज्यादा उम्मीद थी, तब ये जल्द आउट होकर चलते बने। इसकी वजह से भारतीय टीम को कई बड़े फाइनल मुकाबलो में हार का सामना भी करना पड़ा। ऐसे मुकाबलो में हार बहुती खलती है,भले ही आपने उससे पहले कितने ही रन बनाए हों। लेकिन फाइनल में फ्लॉप होने से सारे किए-कराए पर पानी फिर जाता है। आइए जानते हैं ऐसे ही 5 बड़े खिलाड़ियों के बारे में जो फाइनल मुकाबले में आकर बिखर गए। 5.सचिन तेंदुलकर, 2003 वर्ल्ड कप फाइनल 2000 में मैच फिक्सिंग स्कैंडल ने पूरे वर्ल्ड क्रिकेट को हिला कर रख दिया। भारतीय टीम उस वक्त निराशा के दौर से गुजर रही थी। ऐसे में सौरव गांगुली को टीम की कमान सौंपी गई। कप्तानी मिलने के बाद उन्होंने टीम में नई जान फूंक दी। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपनी कप्तानी में उतना शानदार नहीं खेला लेकिन गांगुली की कप्तानी में उनके बल्ले ने जमकर रन उगले। 2003 वर्ल्ड कप में वीरेंद्र सहवाग के साथ ओपनिंग करते हुए सचिन तेंदुलकर ने लगभग हर मैच में रन बनाए। पाकिस्तान और इंग्लैंड के खिलाफ उनकी बल्लेबाजी को हमेशा याद रखा जाएगा। वो टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। लेकिन मास्टर ब्लास्टर उस वक्त चूक गए जब करोड़ों क्रिकेट प्रेमी उनसे सबसे ज्यादा उम्मीद लगाए बैठे थे। जी हां 2003 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल तक पहुंची। फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 359 रनों का पहाड़ सा लक्ष्य खड़ा किया। ऐसे में अब सबकी उम्मीदें सिर्फ लगी थी सिर्फ और सिर्फ सचिन तेंदुलकर से जो टूर्नामेंट में अब तक शानदार बल्लेबाजी करते आए थे। लेकिन ऐसा हुआ नहीं ग्लेन मैक्ग्रा की गेंद पर चौका मारने के बाद सचिन एक और बड़े शॉट के लिए गए लेकिन इस बार गेंद ने बल्ले का टॉप एज लिया और हवा में तैर गई। मैक्ग्रा ने अपनी ही गेंद पर कैच पकड़कर करोड़ों भारतीयों की उम्मीदों को करारा झटका दिया। भारतीय टीम ये फाइनल मुकाबला 125 रनों से हार गई।

1 / 5 NEXT
Published 07 Jul 2017, 11:27 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit