Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 ऐसे मौके जब महान कप्तानों के करियर का दुखद अंत हुआ

SENIOR ANALYST
Modified 26 Jan 2016
Advertisement

किसी दूसरे खेल के मुकाबले क्रिकेट में कप्तान का महत्व काफी ज्यादा बढ़ जाता है। किसी भी क्रिकेटर के करियर का सबसे मुश्किल काम कप्तानी ही होती है। क्रिकेट ने दुनिया के अलग-अलग कोनों के महान कप्तानों को देखा है। जिन्होंने अपनी लीडरशिप स्किल्स से काफी वाहवाही लूटी है। क्रिकेट में कप्तान दो धारी तलवार की तरह होती है। कई बार महान कप्तानों का भी अंत कुछ ऐसा होता है, जिसके बारे में कुछ सोच भी नहीं सकता। भारत के मौजूदा कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी इसी तरह के हालात से गुजर रहे हैं। कुछ सालों से विदेशों में टेस्ट मैचों में बेकार प्रदर्शन की वजह से उन्हें टेस्ट मैचों को अलविदा कहना पड़ा था। 2015 वर्ल्ड कप के बाद से भारत की वनडे परफॉर्मेंस में काफी गिरावट आई है जो कि चिंता का विषय है। हाल ही में खत्म हुई सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के हाथों भारत को 1-4 से हार का सामना करना पड़ा था। जिससे कप्तान महेंद्र सिंह दोनी की कप्तानी पर सवाल उठने लगा है। इससे साफ लगता है कि धोनी की कप्तानी के सुनहरे दिन क्लाइमैक्स की तरह आ रहे हैं। ऐसे ही 5 कप्तानों पर नजर डालते हैं जिनके साथ ऐसा हुआ है।

#5 एंड्रयू स्ट्रॉस

strauss_682x400_904121a-1453645692-800 इंग्लैंड के अच्छे कप्तानों में शुमार एंड्रयू स्ट्रॉस ने माइकल वॉन के काम को आगे बढ़ाया। जब एंड्रयू स्ट्रॉस को कप्तानी मिली तब टीम के हालात कुछ अच्छे नहीं थे। एंड्रयू स्ट्रॉस की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है 2009 की एशेज जीत और 2011 में भारत के खिलाफ 4-0 से वाइटवऑश। एंड्रयू स्ट्रॉस वनडे मैचों में इतने कामयाब नहीं रहे। एंड्रयू स्ट्रॉस का 27-33 का जीत हार का अनुपात रहा। एंड्रयू स्ट्रॉस इंग्लैंड के टेस्ट इतिहास में सबसे 2 दूसरे सबसे कामयाब कप्तान है। उनके नाम 50 मैचों में 24 जीत दर्ज है। 2012 में साउथ अफ्रीका के हाथों घर में 2-0 से मिली हार की वजह से उनकी कप्तानी का दुखद अंत हुआ।
1 / 5 NEXT
Published 26 Jan 2016, 19:03 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now