Create
Notifications

टी-20 के 5 ऐसे बेहतरीन खिलाड़ी जिनको कम करके आंका गया

SENIOR ANALYST
Modified 14 Dec 2016

क्रिकेट का पहला टी-20 मैच 17 फरवरी 2005 को ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था । कीवी टीम का लुक उस समय एकदम रेट्रो लुक की तरह फीलिंग दे रहा था । दोनों चिर प्रतिद्वंदियों के बीच मैच काफी रोमांचक हुआ । उस मैच में दर्शकों का पूरा मनोरजंन हुआ । लेकिन 2007 में भारत के पहले टी-20 वर्ल्ड कप के जीतने के बाद ही इसको देखने वाले दर्शकों की संख्या में इजाफा हुआ । 2008 में ललित मोदी ने फ्रेंचाइजी बेस प्रीमियर लीग का आगाज किया । इसकी अपार सफलता और लोकप्रियता को देखते हुए कई सारे देशों ने अपने यहां फ्रेंचाइजी बेस लीग की शुरुआत की । हाल ही में भारत की चिर प्रतिद्वंदी टीम पाकिस्तान ने भी अपने यहां पाकिस्तान सुपर लीग का आगाज किया है । क्योंकि भारत-पाकिस्तान रिश्तों में तनाव के कारण पाकिस्तानी खिलाड़ियों के IPL में खेलने पर BCCI का रवैया सख्त था । डेविड वॉर्नर, क्रिस गेल और किरोन पोलॉर्ड जैसे खिलाड़ियों ने अपने आक्रामक खेल से लोगों के दिलों में एक खास जगह बना ली है । ये खिलाड़ी हमेशा अपने विस्फोटक बल्लेबाजी से सुर्खियों में बने रहते हैं और फैंस का मनोरजंन करते हैं । लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जो सालों से लगातार अच्छा प्रदर्शन करते आ रहे हैं, लेकिन उनको इन खिलाड़ियों जितनी शोहरत हासिल नहीं हुआ। आइए नजर डालते हैं ऐसे ही 5 खिलाड़ियों पर   1.माइकल क्लिंगर michael-klinger-gloucestershire_3484133 पिछले कुछ सालों सें माइकल क्लिंगर टी-20 मैचों में लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं । क्लिंगर गेंद को बहुत अच्छे से पढ़ लेते हैं और काफी अच्छा स्ट्रोक खेलते हैं । जिससे गेंदबाजों को उन्हें गेंदबाजी करने में काफी दिक्कत होती है । ऑस्ट्रेलिया जैसे देश में जहां प्रतिभावान बल्लेबाजों की भरमार रही हो, वहां पर बल्लेबाजी में अपनी एक अलग पहचान बनाना काफी मुश्किल काम है । लेकिन क्लिंगर ने इस चुनौती को स्वीकार किया और सालों से लगातार बेहतरीन रन बनाते आ रहे हैं । माइकल क्लिंगर ने 123 टी-20 मैचों में 38.91 की औसत 127.03 के स्ट्राइक रेट से 3891 रन बनाए हैं । ये आंकड़े दर्शाते हैं कि उनमें कितनी प्रतिभा है । इतना ही नहीं उनके खेल को देखकर उनका निकनेम महान बल्लेबाज डॉन ब्रेडमैन के नाम पर 'जेविश ब्रैडमैन' रख दिया गया है ।

2014-15 के बिग बैश सीजन में क्लिंगर ने पर्थ स्कॉरचर्स के लिए 326 रन बनाए और टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे । 2011 की आईपीएल नीलामी में उन्हें कोच्चि टस्कर्स ने भी खरीदा था । लेकिन एक टीम में 4 से ज्यादा विदेशी खिलाड़ियों के खिलाने पर पांबदी की वजह से उन्हें अंतिम 11 में जगह नहीं मिल पाई थी ।
1 / 5 NEXT
Published 14 Dec 2016
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now