Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 ऐसे हरफ़नमौला जिन्हें वह ख्याति नहीं मिल पाई जिसके वे हक़दार थे

Modified 27 Jun 2016, 14:46 IST
Advertisement
क्रिकेट खेलने के लिए किसी भी खिलाड़ी को तीन मुख्य चीजें बल्लेबाज़ी, गेंदबाज़ी और फील्डिंग में से कम से कम एक आनी चाहिए। वहीं सभी खिलाड़ियों को फील्डिंग अनिवार्य रूप से आनी चाहिए। सामान्य तौर पर बल्लेबाज़ी या गेंदबाज़ी में खिलाड़ियों को विशेषज्ञ माना जाता है। हालांकि सभी टीमें गेंद और बल्ले से बेहतर प्रदर्शन कर सकें ऐसे खिलाड़ियों को रखना पसंद करती हैं। ऐसे खिलाड़ियों को आलराउंडर कहा जाता है, ये खिलाड़ी टीम के लिए काफी महत्वपूर्ण होते हैं। वह खेल के किसी एक विभाग में विशेषज्ञ नहीं होते  हैं। बीते कई सालों से ऐसे खिलाड़ी सफल टीमों का अभिन्न अंग रहे हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी ऑलराउंडर्स रहे हैं जिन्हें वह इज़्ज़त नहीं मिली जो मिलनी चाहिए थी। आइये ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में हम आपको बता रहे हैं, जिन्हें कभी भी क्रेडिट नहीं मिला: #1 रोबिन सिंह(भारत) robin-singh-1466927442-800 पूर्व भारतीय क्रिकेटर खिलाड़ी रोबिन सिंह ने 1989 में ही भारत के लिए पदार्पण किया था और 2 वनडे मैच खेले थे। 7 साल बाद उन्होंने टीम में दोबारा वापसी करते हुए अपनी जगह मजबूत कर ली थी। वह भारतीय टीम में बतौर आलराउंडर शामिल थे।रोबिन सिंह ने भारत के लिए 136 वनडे और एक टेस्ट खेला था। रोबिन सिंह को एक बेहतरीन फील्डर भी माना जाता था। रोबिन सिंह ने 26 की औसत से वनडे में 2000 रन बनाये थे और 69 विकेट लिए थे। पाकिस्तान के खिलाफ ढाका में रोबिन सिंह ने त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल मैच में यादगार 82 रन बनाये थे। जिससे भारत ने रिकॉर्ड 315 रन का पीछा किया था। गेंद से उन्होंने 1999 के वर्ल्डकप में  5 विकेट लिए थे। 90 के दशक में टीम इंडिया में रोबिन सिंह की फील्डिंग का भी बोलबाला था।
1 / 5 NEXT
Published 27 Jun 2016, 14:46 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit