क्रिकेट

5 विकेटकीपर जो स्टंप के पीछे दिनेश कार्तिक की जगह ले सकते हैं

तीसरे टेस्ट में भारत ने ऋषभ पंत को मौका दिया, क्या कार्तिक के लिए रस्ते अब बंद?

इंग्लैंड के ख़िलाफ़ दूसरे टेस्ट में हार के बाद टीम इंडिया बैकफ़ुट पर आ चुकी है। भारत की कोशिश होगी कि आने वाले मैचेज़ में वो अच्छा प्रदर्शन करे ताकि सीरीज़ में कुछ कामयाबी हासिल हो सके। दूसरा टेस्ट मैच भारत के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं था। टीम सेलेक्शन को लेकर काफ़ी आलोचनाएं भी हो रही हैं। 2 स्पिनर्स, 2 दो सीम गेंदबाज़ और 1 ऑलराउंडर को ऐसे हालात में टीम में मौका देना सवालों के घेरे में है। इंग्लैंड के एंडरसन, वोक्स और ब्रॉड जैसे गेंदबाज़ों के आगे टीम इंडिया की एक न चली। भारत अब इन तीन गेंदबाज़ों का जवाब तलाश कर रहा है।

जो खिलाड़ी इस वक़्त काफ़ी सवालों के घेरे में है वो हैं दिनेश कार्तिक, चूंकि ऋद्धिमान साहा फ़िलहाल चोटिल हैं ऐसे में विकेटकीपिंग की ज़िम्मेदारी कार्तिक को सौंपी गई थी। आईपीएल में शानदार प्रदर्शन को देखते हुए कार्तिक को दोबारा टीम इंडिया में मौका दिया गया था, लेकिन बल्लेबाज़ी के मामले में वो कमाल नहीं दिखा पाए। इसके अलावा स्टंप के पीछे भी वो इतने प्रभावशाली नहीं दिखे। इंग्लिश हालात में वो ख़ुद को ढालने में नाकाम साबित हुए हैं। धोनी के जाने के बाद टेस्ट में भारत एक स्थापित विकेटकीपर नहीं खोज पाया है।


हालाँकि भारत के पास नए विकेटकीपर्स की कमी नहीं है। कई नए युवा विकेटकीपर्स टीम इंडिया में शामिल होने के लिए बेक़रार हैं। धोनी के टेस्ट से संन्यास लेने के बाद ऋद्धिमान साहा को मौका दिया गया था। साहा एक अच्छे विकेटकीपर हैं, लेकिन बल्लेबाज़ी में वो इतने कारगर साबित नहीं हो पाए है। साहा इस वक़्त दाहिने कंधे की सर्ज़री करा रहे हैं। भारत को अब नए विकल्प को आज़माना होगा। हम यहां ऐसे 5 विकेटकीपर-बल्लेबाज़ के बारे में चर्चा कर रहे हैं जो स्टंप के पीछे कार्तिक की जगह ले सकते हैं।

#5
पार्थिव पटेल


पार्थिव पटेल इस वक़्त गुजरात टीम के कप्तान हैं, उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का अच्छा ख़ासा अनुभव है। उन्होंने टीम इंडिया के लिए 25 टेस्ट और 38 वनडे मैच खेले हैं। उन्होंने घरेलू सर्किट औऱ आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया है। बतौर बल्लेबाज़ वो बेहतर हुए हैं और एक विकेटकीपर के तौर पर वो पहले से ज़्यादा प्रभावशाली हो चुके हैं। वो टीम में ओपनिंग भी कर सकते हैं। ऐसे में उन्हें टीम इंडिया में एक और मौका दिया जा सकता है।
Page 1 of 5 Next