Create
Notifications

भारत–ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई 5 सबसे खराब लड़ाईयां

Shraddha Bagdwal
visit

भारत को अपने घर में ऑस्ट्रेलिया के साथ 4 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलना है, जो 23 फरवरी से शुरू हो रही है। इससे पहले भी टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में दोनों के बीच रोमांचक जंग देखने को मिली है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट मैच के दैरान रोमांच तो अपने चरम पर होता ही है, साथ ही खिलाड़ियों के बीच कहासुनी और आपसी विवाद का दौर भी चलता रहता है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज के दौरान कुछ ऐसे विवाद हुए हैं, जो क्रिकेट फैंस के जहन में आज भी ताजा हैं। 23 फरवरी से शुरू होने वाले पहले टेस्ट से पूर्व आईए गौर करते हैं टेस्ट क्रिकट इतिहास में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैदान पर हुई बड़ी लड़ाइयों के बारे में, जिनके चलते मैच का रोमांच दोगुना हो जाता है :


#5 मंकीगेट प्रकरण

मंकीगेट प्रकरण क्रिकेट खेलने वाले दो दिग्गज देशों के बीच क्रिकेट इतिहास की सबसे गंदी लड़ाईयों में से एक था। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 2007-08 में खेला गया सिडनी टेस्ट उस समय विवादित टेस्ट बन गया था। हरभजन सिंह पर एंड्रयू सायमंड्स को मंकी कहने का आरोप लगा। भज्जी को तीन टेस्ट के लिए बैन किया गया और 50 फीसदी मैच फीस का फाइन लगा। इससे टीम इंडिया के कई खिलाड़ी नाराज हुए। बाद में सचिन की गवाही पर जज हेनसन ने बैन हटा लिया। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपनी किताब प्लेइंग इट माई वे में इस बात खुलासा किया कि भारतीय टीम ने फैसला किया था, अगर हरभजन सिंह से बैन नहीं हटेगा तो टीम इंडिया इस दौरे को बायकॉट करेगी। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने सचिन तेंदुलकर पर उनका बयान बदलने का आरोप लगाया था, जिसके बाद दोनों टीमों के बीच चीजें और ज्यादा खराब हो गई थी। हालांकि इसके बाद हरभजन सिंह से बैन हटाया गया और मैच ठीक तरह से पूरा हुआ। #4 जब पोंटिंग बने अंपायर ponting umpire सिडनी टेस्ट में एक बाद एक कई विवाद हुए। मंकीगेट के अलावा जब भारतीय टीम बल्लेबाजी कर रही थी, उस समय भी खिलाड़ियों के बीच झड़प हुई। सौरव गांगुली शानदार बल्लेबाजी कर रहे थे। अपना अर्धशतक पूरा करने के तुरंत बाद दादा ने ब्रेट ली की आउट स्विंगर पर माइकल क्लार्क को स्लिप में कैच थमा दिया। हालांकि रीप्ले में साफ दिख रहा था कि कैच क्लीन तरह से नहीं लिया गया, लेकिन तत्कालीन ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग को पूरा भरोसा था कि कैच साफ तरह से लिया गया है और उन्होंने अपनी इंडैक्स फिंगर उठा दी। जिसके बाद सौरव गांगुली ने उनकी कड़ी आलोचना करते हुए कहा था कि फैसले देना कप्तान का काम नहीं अंपायर का काम है। यहां तक कि भारतीय कप्तान अनिल कुंबले ने भी पोंटिंग पर निशाना साधते हुए कहा कि सिर्फ भारतीय टीम खेल भावना के साथ खेली। #3 गंभीर ने वॉटसन को कोहनी मारी

elbow

2008 में कंगारु टीम 4 टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए भारत दौरे पर आई। फिरोजशाह कोटला में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में दोनों टीमों के बीच एक बार फिर विवाद हुआ। फिरोजशाह कोटला टेस्ट के पहले दिन जब गौतम गंभीर पहला रन के लिए दौड़ रहे थे तो शेन वॉटसन ने गंभीर को स्लेजिंग उन्हें उकसाने की कोशिश की। जिसके बाद दूसरा रन लेते समय गंभीर ने वॉटसन को कोहली मारी। इसके लिए गंभीर को लेवल 2 का दोषी पाया गया और उन पर एक मैच का बैन लगा। गंभीर ने इसके खिलाफ अपील भी की लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगी। लिहाजा फिरोजशाह कोटला में दोहरा शतक मारने के बाद गंभीर को चौथे टेस्ट में टीम से बाहर बैठना पड़ा। #2 माइकल स्लेटर ने की बदजुबानी slater 2001 का मुंबई टेस्ट बिल्कुल ही एक तरफा रहा, ऑस्ट्रेलिया ने भारत को धो डाला। लेकिन एक वाकये ने खेल का मजा किरकिरा कर दिया। राहुल द्रविड़ ने पुल शॉट खेला, मिस्टाइम होने की वजह से गेंद हवा में चली गई, जिसे माइकल स्लेटर ने डाइव लगाकर लपक लिया। द्रविड़ कैच से संतुष्ट नहीं थे। इसलिए वह क्रीज पर रुके रहे। पूर्व अंपायर एस वेंकटराघवन ने भी उन्हें नॉटआउट करार दिया। टीवी रिप्ले भी यही बता रहे थे कि स्लेटर के दावों से उलट इस कैच को लेकर कुछ शंकाएं थीं। इन सबके बीच स्लेटर अपना आपा खो बैठे और अंपायर से बहस करने लगे। इसके बाद उन्होंने द्रविड़ के साथ गाली-गलौज भी की। इस हरकत के लिए स्लेटर पर जुर्माना लगाया गया। स्लेटर को इसके लिए द्रविड़ से माफी भी मांगनी पड़ी। #1 विराट ने मिडिल फिंगर दिखाई

middle

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैदान पर लड़ाई आम बात हो चुकी थी। 2011-12 में भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा प्रदर्शन के लिहाज से बेहद ही खराब रहा। सीरीज के दूसरे टेस्ट से कोहली की एक तस्वीर सामने आई, जिसमें उन्हें पवेलियन में मौजूद दर्शकों को मिडिल फिंगर दिखाते हुए देखा जा सकता था। इस व्यवहार के कारण विराट कोहली पर मैच फीस का 50 फीसदी जुर्माना लगाया गया। हालांकि इसके बाद कोहली ने माना कि उन्होंने गलत किया। मगर साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि जब दर्शक आपको मां या बहन की गाली दें, तो उस समय अपने आप सयंमित रखना बेहद मुश्किल होता है।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now