Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

भारत–ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई 5 सबसे खराब लड़ाईयां

  • दोनों टीमों के बीच जंग सिर्फ बल्ले और गेंद की नहीं होती बल्कि खिलाड़ियों के बीच कहासुनी और तू-तू, मैं-मैं को मिलती हैं ज्यादा सुर्खियां
Modified 20 Dec 2019, 18:10 IST
भारत को अपने घर में ऑस्ट्रेलिया के साथ 4 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलना है, जो 23 फरवरी से शुरू हो रही है। इससे पहले भी टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में दोनों के बीच रोमांचक जंग देखने को मिली है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट मैच के दैरान रोमांच तो अपने चरम पर होता ही है, साथ ही खिलाड़ियों के बीच कहासुनी और आपसी विवाद का दौर भी चलता रहता है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज के दौरान कुछ ऐसे विवाद हुए हैं, जो क्रिकेट फैंस के जहन में आज भी ताजा हैं। 23 फरवरी से शुरू होने वाले पहले टेस्ट से पूर्व आईए गौर करते हैं टेस्ट क्रिकट इतिहास में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैदान पर हुई बड़ी लड़ाइयों के बारे में, जिनके चलते मैच का रोमांच दोगुना हो जाता है :
#5 मंकीगेट प्रकरण
मंकीगेट प्रकरण क्रिकेट खेलने वाले दो दिग्गज देशों के बीच क्रिकेट इतिहास की सबसे गंदी लड़ाईयों में से एक था। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 2007-08 में खेला गया सिडनी टेस्ट उस समय विवादित टेस्ट बन गया था। हरभजन सिंह पर एंड्रयू सायमंड्स को मंकी कहने का आरोप लगा। भज्जी को तीन टेस्ट के लिए बैन किया गया और 50 फीसदी मैच फीस का फाइन लगा। इससे टीम इंडिया के कई खिलाड़ी नाराज हुए। बाद में सचिन की गवाही पर जज हेनसन ने बैन हटा लिया। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपनी किताब प्लेइंग इट माई वे में इस बात खुलासा किया कि भारतीय टीम ने फैसला किया था, अगर हरभजन सिंह से बैन नहीं हटेगा तो टीम इंडिया इस दौरे को बायकॉट करेगी। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने सचिन तेंदुलकर पर उनका बयान बदलने का आरोप लगाया था, जिसके बाद दोनों टीमों के बीच चीजें और ज्यादा खराब हो गई थी। हालांकि इसके बाद हरभजन सिंह से बैन हटाया गया और मैच ठीक तरह से पूरा हुआ।
1 / 5 NEXT
Published 21 Feb 2017, 23:39 IST
Advertisement
Fetching more content...