Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

6 भारतीय खिलाड़ी, जिनका कप्तान के रूप में रिकॉर्ड 100% जीत का रहा

CONTRIBUTOR
Modified 11 Jul 2017, 12:54 IST
Advertisement

विराट कोहली क्रिकेट के सभी प्रारूपों में मौजूदा समय में भारतीय टीम के कप्तान हैं, लेकिन वो भारत के 32वें टेस्ट, 22वें वन-डे और 5वें टी20 अंतर्राष्ट्रीय कप्तान हैं। कप्तानी की प्रभावी शुरुआत के बावजूद दाएं हाथ के बल्लेबाज इस लिस्ट में नजर नहीं आते, ऐसा शायद इसलिए क्योंकि कुछ ही पूर्णकालिक कप्तानों ने अच्छी शुरुआत की और लंबे समय तक वो हारे नहीं। हालांकि, भारत के 33 टेस्ट कप्तान, 23वन-डे और 5 टी20 अंतर्राष्ट्रीय कप्तान रहे हैं और उनमें से कुछ का 100 प्रतिशत जीत रिकॉर्ड रहा है। वैसे मजेदार बात ये है कि सभी कार्यवाहक कप्तान इस सूची में शामिल रहे हैं और लिस्ट वाले कप्तानों में से किसी ने ही 10 मैच से अधिक में कप्तानी नहीं की है। हालांकि, क्रिकेट के किसी एक प्रारूप में सभी का 100 प्रतिशत जीत रिकॉर्ड रहा है। आईए नजर डालते हैं उन कप्तानों पर, जिनका रिकॉर्ड 100 प्रतिशत रहा है।


अनिल कुंबले (वन-डे) अनिल कुंबले सिर्फ इसलिए याद नहीं रखे जाते क्योंकि वो क्रिकेट के सभी प्रारूपों में भारत के सर्वश्रेष्ठ विकेट टेकर गेंदबाज हैं या फिर एक पारी में सभी 10 विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। मगर उन्हें खेल भावना और समर्पण के लिए भी याद रखा जाता है। ये बात जगजाहिर रही है कि कुंबले को हारना पसंद नहीं था। बहरहाल, कुछ ही लोगों को इसकी जानकारी होगी कि वन-डे में 100 प्रतिशत जीत का रिकॉर्ड रखने वाले तीन भारतीय कप्तानों में से एक कुंबले भी हैं। टेस्ट कप्तान के रूप में कुंबले का सफ़र सभी को याद रहा है। उन्होंने 2007-08 में 14 टेस्ट में कप्तानी की, जिसमें भारत को तीन जीत, पांच ड्रॉ और छह हार झेलना पड़ी। हालांकि, वन-डे की कप्तानी में उनका रिकॉर्ड जोरदार रहा है। उन्होंने वन-डे में 2002 में एक मैच में कप्तानी की, जिसमें भारत की जीत हुई थी। भारत और इंग्लैंड के बीच चेन्नई में हुए तीसरे वन-डे में सौरव गांगुली हिस्सा नहीं ले सके थे। इसलिए कुंबले को कप्तानी सौंपी गई। हरभजन और कुंबले ने इस मैच में अच्छी गेंदबाजी जरुर की, लेकिन अजित अगरकर ने चार विकेट लेकर इंग्लैंड को 48 ओवर में 217 रन पर ऑलआउट कर दिया। भारत के दोनों ओपनर्स वीरेंदर सहवाग और सचिन तेंदुलकर ने अर्धशतक जमाए और भारत ने 20 गेंद शेष रहते चार विकेट से मैच जीत लिया। ये हालांकि, कुंबले की कप्तानी का एकमात्र वन-डे मैच था, लेकिन इसके बाद उन्हें कप्तानी की जिम्मेदारी संभालने के लिए पांच साल का इंतज़ार करना पड़ा। कुंबले को फिर टेस्ट में भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया।
1 / 6 NEXT
Published 11 Jul 2017, 12:54 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit