6 विश्व रिकॉर्ड्स जो सिर्फ भारतीय खिलाड़ियों के नाम दर्ज हैं

Enter caption

हाल के वर्षों में भारतीय क्रिकेट टीम ने सफलता की जिन उचाईयों को छुआ है, वो हर क्रिकेट प्रेमी के लिए गौरव का विषय है। सफलता की इसी कड़ियों के बीच भारतीय खिलाडियों ने कुछ ऐसे भी रिकॉर्ड्स अपने नाम कियें हैं जो दुनिया में अभी तक कोई नहीं तोड़ सका है। आईये जानते हैं कुछ ऐसे ही खिलाडियों के बारे में..


#1 बापू नाडकर्णी

बापू नाडकर्णी

रमेशचन्द्र गंगाराम 'बापू' नाडकर्णी, भारतीय क्रिकेट के उस दौर के खिलाड़ी थे जब क्रिकेट की जागरूकता बहुत कम थी। हालांकि, बापू के नाम एक ऐसा विश्व रिकॉर्ड है, जिसको अभी तक कोई तोड़ नही सका है।1963-64 में इंग्लैंड के विरुद्ध मद्रास (अब चेन्नई) में हुए टेस्ट मैच में बापू के नाम एक पारी में सबसे ज्यादा लगातार 21 मेडन ओवर फेंकने का विश्व रिकॉर्ड है। उस मैच में बापू ने कुल 32 ओवर गेंदबाजी की थी और मात्र 5 रन दिए थे। लगातार मेडन फेंकने के दौरान नाडकर्णी नें 131 डॉट बाल्स डाली थी। बापू नाडकर्णी विश्व क्रिकेट में अपनी किफ़ायती गेंदबाजी के लिए जाने जाते थे।


#2 इरफ़ान पठान

F

भारतीय क्रिकेट के सफलतम गेंदबाजों में एक इरफ़ान पठान का जनवरी 2006 में पाकिस्तान के विरुद्ध वो कारनामा कौन भूल सकता है, जब उन्होंने पारी के पहले ही ओवर में हैट्रिक लेकर विश्व रिकॉर्ड स्थापित किया था। वो ऐसा करने वाले विश्व के पहले और एकमात्र खिलाड़ी हैं। उस मैच के बाद दुनिया ने इरफ़ान का लोहा माना था। जो पाकिस्तानी खिलाडी जो इरफ़ान की हैट्रिक का शिकार हुए थे, वो थे, सलमान बट, यूनुस खान और मोहमद यूसुफ। गुजरात के इस कुशल गेंदबाज़ ने भारत के लिए आखरी मैच 4 अगस्त 2012 को श्रीलंका के खिलाफ खेला था।


#3 राहुल द्रविड़

3rd Test: SA v India - Day 5

'द वाल' के नाम से प्रसिद्ध भारत के सबसे सफल बल्लेबाजों में एक राहुल द्रविड़ के नाम यूँ तो कई रिकॉर्ड्स दर्ज हैं, पर ये अनोखा रिकॉर्ड इनको सबसे अलग बनाता है। क्रिकेट इतिहास में 30,000 से अधिक गेंदों का सामना करने वाले द्रविड़ विश्व के एकमात्र खिलाड़ी हैं। द्रविड़ नें अपने करियर में कुल 31,258 गेंदों का सामना किया। इसके साथ ही टेस्ट प्रारूप में 200 कैच लपकने वाले द्रविड़ पहले खिलाड़ी थे। राहुल द्रविड़ ने अपने करियर में पिच पर 44152 मिनट बिताए हैं।

#4 सचिन तेंदुलकर

South Africa v India 1st Test - Day 4

क्रिकेट में अनोखे रिकॉर्ड्स बनाने में खुद क्रिकेट के भगवान कैसे पीछे रह सकते हैं। वैसे तो सचिन के रिकॉर्ड्स की फेहरिस्त काफी लंबी है, पर कुछ ख़ास रिकॉर्ड्स उनके नाम हैं। जैसे-टेस्ट क्रिकेट में 300 से अधिक पारी खेलने वाले सचिन विश्व के एकमात्र खिलाड़ी हैं। उन्होंने 329 इन्निंग्स में बल्लेबाजी की है। क्रिकेट में 100 शतक लगाने का रिकॉर्ड भी केवल सचिन तेंदुलकर के पास ही है। सचिन ने एकदिवसीय क्रिकेट में 49 तथा टेस्ट क्रिकेट में 51 शतक लगाए हैं।


#5 महेंद्र सिंह धोनी

England v India - 2nd Vitality International T20

सबसे अधिक बार आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर पारी ख़त्म करने वाले धोने एकमात्र खिलाडी हैं। ये कारनामा वह 9 बार कर चुके हैं। विकेटकीपर के रूप में सबसे अधिक स्टंपिंग का भी विश्व रिकॉर्ड भी मिस्टर कूल के खाते में ही है। भारत तथा विश्व के सबसे सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी सबसे पहले 200 छक्के मारने वाले पहले खिलाड़ी हैं। इसके साथ ही सस्बसे अधिक मैचों में कप्तानी करने का रिकॉर्ड भी धोनी के नाम ही है। दूसरे नंबर पर हैं ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग जिन्होंने 324 मैचों में कप्तानी की। महेंद्र सिंह धोनी ने 331 मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी की ।

महेंद्र सिंह धोनी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 190 स्टंपिंग के साथ नंबर एक पर हैं। उनके बाद कुमार संगकारा का नंबर आता है जिनके नाम 139 स्टंपिंग हैं।

Quick Links

App download animated image Get the free App now