Create
Notifications

वन-डे क्रिकेट में बेहतरीन साझेदारी करने वाली मौजूदा 7 जोड़ियां

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda
visit

क्रिकेट जैसे टीम गेम में साझेदारी की बहुत ज़्यादा अहमियत होती है। एक अच्छी पार्टनरशिप विपक्षी टीम से जीत छीनने की ताक़त रखती है और कामयाबी हासिल करने की वजह बनती है। आमतौर पर किसी भी बल्लेबाज़ का एक चहेता बैटिंग पार्टनर होता है। जैसे कि हाशिम अमला के साझेदार एबी डीविलियर्स थे। इन दोनों ने मिलकर वनडे में 72.34 रन प्रति पार्टनरशिप की दर से 3111 रन बनाए थे। इससे भी ज़्यादा ख़ास बात ये है कि दोनों बल्लेबाज़ों ने 2000 से ज़्यादा रन 65 की औसत से बनाए हैं। चूंकि एबी डीविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है, ऐसे में ये जोड़ी अब दोबारा कभी नहीं दिखेगी। हम यहां मौजूदा दौर के 7 सबसे बेहतरीन बैटिंग जोड़ी को लेकर चर्चा कर रहे हैं जिनका प्रति पार्टनरशिप रन की संख्या सबसे ज़्यादा है। *जिन जोड़ियों ने 1000 ज़्यादा रन बनाए हैं सिर्फ़ उन्हें ही शामिल किया जा रहा है* *3 अगस्त 2018 तक के आंकड़े ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के सौजन्य से* #7 विराट कोहली और सुरेश रैना: 58.89 रन प्रति पार्टनरशिप सुरेश रैना करीब 3 साल के लंबे वक़्त के बाद टीम इंडिया में लौटे हैं। वो भारतीय मिडिल ऑर्डर के केंद्र रहे हैं। उन्होंने कई मैच में अपने दम पर टीम इंडिया के जीत दिलाई है। सुरैश रैना की कोशिश है कि वो मिडिल ऑर्डर में ख़ुद को स्थापित करें ताकि अगले साल वर्ल्ड कप में उन्हें मौका मिल सके। रैना भारत के कप्तान विराट कोहली के साथ बल्लेबाज़ी करने को लेकर काफ़ी सहज हैं। दोनों ने एक साथ मिलकर 2238 रन बनाए हैं। साल 2012 में दोनों ने मिलकर 146 रन की साझेदारी की थी। 43 मैचों में दोनों ने साझेदारी की है जिसमें 7 शतकीय और 10 अर्धशतकीय साझेदारी है। इसके अलावा होबार्ट में दोनों ने श्रीलंका के ख़िलाफ़ 54 गेंदों में 120 रन की साझेदारी की थी और 320 के स्कोर को महज़ 36.4 ओवर में पार कर लिया था। पारी: 43, रन: 2238, औसत: 58.89, शतकीय साझेदारी: 7, अर्धशतकीय साझेदारी: 10#6 एलेक्स हेल्स – जो रूट : 61.56 रन प्रति पार्टनरशिप जो रूट इस वक़्त के बेहतरीन बल्लेबाज़ों में से एक हैं और इंग्लैंड के बेहद अहम खिलाड़ी हैं। 107 वनडे पारियों में उन्होंने 4584 रन बनाए हैं, इस दौरान उनका औसत 50 से कम है। जो रूट की जोड़ी एलेक्स हेल्स के साथ ख़ूब जमती है। दोनों ने मिलकर 30 पारियों में 61.56 रन प्रति पार्टनरशिप की औसत से 1847 रन बनाए हैं। उनकी सबसे बड़ी साझेदारी पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 248 रन की है। दोनों ने साझेदारी करते हुए 5 शतकीय और और 10 अर्धशतकीय साझेदारी निभाई है। पारी: 30, रन: 1847, औसत: 61.56, शतकीय साझेदारी: 5, अर्धशतकीय साझेदारी: 10#5 रोहित शर्मा विराट कोहली : 62.45 रन प्रति पार्टनरशिप रोहित शर्मा इस वक़्त सीमित ओवर के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज़ों में से एक हैं। वो दुनिया के एकलौते ऐसे बल्लेबाज़ हैं जिन्होंने वनडे में 3 बार दोहरा शतक लगाया है। वनडे में उनका सर्वाधिक निजी स्कोर 264 रन है। अगर रोहित शर्मा विश्व के टॉप बल्लेबाज़ विराट कोहली के साथ साझेदार करें तो नतीजा क्या होगा ? ज़ाहिर सी बात है कि रनों का अंबार लग जाएगा। कोहली और रोहित की पार्टनरशिप अपने आप में बेमिसाल है। दोनों ने मिलकर 63 मैच में 3685 रन बनाए हैं। मौजूदा दौर में ये दोनों एकलौते ऐसे साझेदार हैं जिन्होंने एक साथ मिलकर 3000 रन का आंकड़ा पार किया है। दोनों के बीच 14 शतकीय और 9 अर्धशतकीय साझेदारी की गई है। साल 2017 में कानपुर के ग्रीन पार्क में रोहित और विराट ने 230 रन की साझेदारी की थी। इस पार्टनरशिप की बदौलत टीम इंडिया ने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 50 ओवर में 337 रन बनाए थे, मैच को 6 रन से जीता था। पारी: 63, रन: 3685, औसत: 62.45, शतकीय साझेदारी: 14, अर्धशतकीय साझेदारी: 9 #4 शिखर धवन विराट कोहली : 63.02 रन प्रति पार्टनरशिप विराट कोहली की तुलना इस वक़्त किसी बल्लेबाज़ से नहीं की जा सकती, वो हर फ़ॉर्मेट में अपना जलवा दिखाने में माहिर हैं। कोहली वनडे में 10,000 रन के आंकड़े के काफ़ी क़रीब पहुंच गए हैं। भारत के कप्तानी की जोड़ी शिखर धवन के साथ ख़ूब जमती है। दोनों ने मिलकर वनडे में 63.02 की औसत से 2521 रन की पार्टनरशिप की है। इस दौरान 8 शतकीय और 12 अर्धशतकीय साझेदारी की गई है। कैनबेरा के मानुका ओवल मैदान में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ कोहली और धवन ने 212 रन की साझेदारी की थी। भारत 349 रन के लक्ष्य का पीछा कर रहा था, जिसमें उसे नाकामी हासिल हुई। टीम इंडिया भले ही ये मैच हार गई थी, लेकिन शिखर धवन और विराट कोहली ने अपने प्रदर्शन से सभी भारतीय फ़ैस का दिल जीता था। पारी: 43, रन: 2521, औसत: 63.02, शतकीय साझेदारी: 8, अर्धशतकीय साझेदारी: 12#3 शिखर धवन – अजिंक्य रहाणे : 63.02 रन प्रति पार्टनरशिप शिखर धवन और अजिंक्य रहाणे की पार्टनरशिप किसी से कम नहीं है। दोनों ने मिलकर 65.58 की औसत से 1574 रन की साझेदारी की है। इस दौरान 7 शतकीय और 5 अर्धशतकीय साझेदारी हुई है। ये दिलचस्प बात है कि दोनों की शतकीय साझेदारी, अर्धशतकीय साझेदारी से ज़्यादा है। दोनों ने मिलकर 24 बार वनडे में पार्टनरशिप की है जो बेहद कामयाब रही है। भले ही रहाणे इस वक़्त टीम इंडिया से बाहर हैं लेकिन जिस तरह का वो हुनर रखते हैं वो कभी भी वापसी कर सकते हैं। पारी: 24, रन: 1574, औसत: 65.58, शतकीय साझेदारी: 7, अर्धशतकीय साझेदारी: 5#2 टॉम लाथम – रॉस टेलर : 67.55 रन प्रति पार्टनरशिप रॉस टेलर पिछले कई सालों से कीवी टीम के अहम सदस्य रहे हैं। दूसरी तरफ़ टॉम लाथम ने साल 2012 में वनडे में डेब्यू किया था. साल 2016 से वो लगातार न्यूज़ीलैंड टीम में बरक़रार है। टेलर और लाथम ने मिलकर 19 पारियों में 67.55 की औसत से 1216 रन बनाए हैं। दोनों के बीच 3 शतकीय और 6 अर्धशतकीय साझेदारी की है। भारत के ख़िलाफ़ मुंबई में टेलर और लाथम ने चौथे विकेट के लिए 200 रन की पार्टनरशिप की थी। जब भी दोनों ने शतकीय साझेदारी की है, उनका पार्टनरशिप स्कोर 175 से कम कभी नहीं गया है। पारी: 19, रन: 1216, औसत: 67.55, शतकीय साझेदारी: 3, अर्धशतकीय साझेदारी: 6#1 जो रूट जेसन रॉय : 72.80 रन प्रति पार्टनरशिप जेसन रॉय जब से इंग्लिश टीम में शामिल हुए हैं, उस टीम की काया ही पलट गई है। रॉय दुनिया के बेहतरीन ओपनिंग बल्लेबाज़ों में से एक हैं। जब भी टीम के 1 या 2 विकेट गिर जाते हैं। तब जेसन रॉय और जो रूट इंग्लैंड की नैया पार लगाते हैं। कुछ 16 बार दोनों ने साझेदारी की है और 72.80 की औसत से 1092 रन जोड़े हैं। दोनों के बीच 4 शतकीय और 5 अर्धशतकीय साझेदारी हुई है। साल 2018 की शुरुआत में रॉय और रूट ने ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 221 रन की पार्टनरशिप की थी। जिसकी बदौलत इंग्लैंड ने 305 रन के लक्ष्य को आसानी से पार कर लिया था। पारी: 16, रन: 1092, औसत: 72.80, शतकीय साझेदारी: 4, अर्धशतकीय साझेदारी: 5 लेखक – विश्वानाथ रेड्डी अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now