Create
Notifications

7 भारतीय क्रिकेटर जो सरकारी अधिकारी भी हैं

आशीष कुमार
visit

भारतीय क्रिकेटरों लगातार ख़बरों में बने रहते हैं। लाइमलाइट में रहने के बावजूद उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। खिलाड़ियों के क्रिकेट जीवन की एक अवधि होती है और हम जानते हैं कि उनके करियर की अवधि अन्य व्यवसायों की तुलना में कम होती है। तो क्रिकेट से संन्यास के बाद खिलाड़ियों को दूसरा कोई काम ढूंढ़ना पड़ता है।

सरकार ने कई प्रतिभाशाली क्रिकेटरों को प्रतिष्ठित पदों पर नियुक्त कर पुरस्कृत किया है। तो आइए जानते हैं ऐसे क्रिकेटरों के बारे में जो सरकारी अधिकारी भी हैं: 1) एमएस धोनी - लेफ्टिनेंट कर्नल, भारतीय थल सेना महेंद्र सिंह धोनी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में से एक हैं। उन्होंने तीन प्रमुख आईसीसी टूर्नामेंट जीतने में भारत की मदद की - 2007 में पहला टी -20 विश्व कप, विश्व कप 2011 और चैंपियंस ट्रॉफी 2013। क्रिकेट के अलावा पूर्व भारतीय कप्तान एक नहीं बल्कि दो सरकारी पदों पर काबिज़ हो चुके हैं। राष्ट्रीय टीम में अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत करने से एक साल पहले, एमएस धोनी 2001 से 2003 के बीच खड़गपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेवलिंग टिकट परीक्षक के रूप में काम करते थे। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर पर ध्यान केंद्रित करने के लिए नौकरी छोड़ दी और जैसा कि हम जानते हैं कि बाकी इतिहास है। 2011 में अपने नेतृत्व में भारत को विश्व विजेता बनाने के बाद, उन्हें भारतीय थल सेना द्वारा लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद पद से सम्मानित किया गया था और धोनी सेना की वर्दी पहनने में बहुत गर्व महसूस करते हैं।2) कपिल देव - लेफ्टिनेंट कर्नल, भारतीय थल सेना कपिल देव, क्रिकेट में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर्स में से एक हैं। 1978-1995 के अपने 17 साल के क्रिकेट करियर में उन्होंने भारत को अकेले दम पर कई मैच जिताए हैं। कपिल देव ने 131 टेस्ट मैचों में, 434 विकेट लिए और 5248 रन बनाए हैं । टेस्ट क्रिकेट में उनके शानदार प्रदर्शन के अलावा, उन्होंने 225 वनडे मैचों में देश का प्रतिनिधित्व किया है, जिसमें उन्होंने 3783 रन बनाए और 253 विकेट लिए हैं। इसके अलावा, वह विश्वकप जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान बने थे। 1983 में लॉर्ड्स में ट्रॉफी जीतने के बाद उन्होंने भारतीय युवा क्रिकटरों को प्रेरित किया है, उनमें से एक सचिन तेंदुलकर भी थे जो बाद में चल कर दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर बने। भारत को पहली बार विश्व कप जिताने वाले पूर्व कप्तान को भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद रैंक से सम्मानित किया गया है। उन्हें इस प्रतिष्ठित पद से धोनी से तीन साल पहले 2008 में सम्मानित किया गया था।3) जोगिंदर शर्मा - पुलिस उपायुक्त, हरियाणा 2007 में खेले गए आईसीसी टी-20 विश्वकप फाइनल के अंतिम ओवर में गेंदबाज़ी करने के लिए जोगिंदर शर्मा को याद किया जाता है। आखिरी ओवर में मिस्बाह उल हक का अमूल्य विकेट लेकर वह जीत के नायक बन गए थे। जोगिंदर शर्मा ने मिस्बाह को श्रीसंत के हाथों कैच आउट करा भारत को पाकिस्तान पर 5 रनों ने जीत दिला दी थी और 24 वर्षों के अंतराल के बाद भारत को विश्व विजेता बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। विश्व कप में उनके मैच जिताऊ प्रदर्शन के बाद हरियाणा पुलिस ने उन्हें अपने विभाग में नौकरी दी थी। वर्तमान में जोगिंदर शर्मा हरियाणा के पुलिस उपायुक्त की पदवी पर नियुक्त हैं।4) हरभजन सिंह - उप पुलिस अधीक्षक, पंजाब हरभजन सिंह निसंदेह भारत के सर्वश्रेष्ठ ऑफ स्पिनरों में से एक हैं। उन्होंने 103 टेस्ट मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है और कुल 417 विकेट लिए हैं। वहीं वनडे प्रारूप की बात करें तो 236 मैचों में 269 विकेट उनके नाम दर्ज हैं। उन्होंने आखिरी बार भारतीय टीम की ओर से 2015 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था। हालांकि, वह फ़िलहाल टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं लेकिन फिर भी 2018 में आईपीएल का ख़िताब जीतने वाली टीम चेन्नई सुपर किंग्स का वह हिस्सा रह चुके हैं। खेल के लिए अपनी सेवाओं के लिए एक इनाम के रूप में पंजाब पुलिस ने उन्हें उप अधीक्षक के रूप में नियुक्त किया है।5) उमेश यादव - सहायक प्रबंधक, भारतीय रिज़र्व बैंक उमेश यादव जो एक दशक पहले महत्वाकांक्षी कॉन्स्टेबल थे, 2017 में उन्हें भारतीय रिज़र्व बैंक, नागपुर में सहायक प्रबंधक के पद पर नियुक्त किया। यादव ने भले ही कॉन्स्टेबल की पोस्ट को गंवा दिया हो लेकिन क्रिकेट में उनके अच्छे प्रदर्शन के फलस्वरूप उन्हें देश के सबसे प्रतिष्ठित संस्थानों में से एक में नौकरी मिली। उमेश यादव भारतीय टीम के सबसे अच्छे क्रिकेटरों में से एक हैं और भारतीय तेज गेंदबाज़ी आक्रमण का मुख्य हिस्सा हैं। यादव का मौजूदा बेहतरीन फॉर्म और आक्रमकता इंग्लैंड में अगले साल होने वाले विश्व कप में भारत की जीत के लिए बेहद अहम होंगे।6) केएल राहुल - सहायक प्रबंधक, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया इसमें किसी को भी संदेह नहीं है कि केएल राहुल भारतीय क्रिकेट टीम में सबसे प्रतिभाशाली बल्लेबाजों में से एक है। उसके पास क्रिकेट के तीनों प्रारूपों के बीच आसानी से स्विच करने की क्षमता है। हालांकि उन्हें थोड़ी देर के लिए नियमित सलामी बल्लेबाजों के विकल्प के रूप में भारतीय टीम में शामिल किया गया लेकिन टीम के अंदर-बाहर होने के बावजूद उन्हें जब भी मौका मिला, राहुल ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। लेकिन पिछले दो सालों से नियमित अवसर मिलने के बाद अब ऐसा लगता है कि आने वाले समय में राहुल भारतीय टीम के अभिन्न अंग बनेंगे। भारतीय रिजर्व बैंक ने राहुल के अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें सहायक प्रबंधक का पद दिया है। इसके अलावा राहुल को हाल ही में उमेश यादव के साथ वित्तीय साक्षरता को बढ़ावा देने वाले आरबीआई के एक विज्ञापन में देखा गया है।7) युजवेंद्र चहल - इंस्पेक्टर, आयकर विभाग युजवेन्द्र चहल का ब्रांड वैल्यू पिछले कुछ सालों में काफी बढ़ गया है। एक समय में मुंबई इंडियंस के अज्ञात खिलाड़ी चहल ने पिछले तीन सालों में अपने खेल के स्तर को ऊँचा उठाया है। 2014 के आईपीएल सीज़न से चहल रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के प्रमुख सदस्य बने। अगले तीन आईपीएल सत्रों में उन्होंने अपनी क्षमता प्रदर्शित की और उन्हें जून 2016 में राष्ट्रीय टीम में शामिल किया गया। पिछले दो सालों में यह लेग स्पिनर भारत के सीमित ओवरों की टीम के मुख्य सदस्य बन गए हैं और कुलदीप यादव के साथ उनकी जोड़ी ने टीम को कई मैच जिताए हैं। चहल के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लोकप्रियता हासिल करने के साथ ही भारतीय आयकर विभाग ने उन्हें आयकर अधिकारी के पद पर नियुक्त कर सम्मानित किया। लेखक: विश्वनाथ रेड्डी टी अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now