7 ऐसे दिग्गज खिलाड़ी जिन्होंने 2 से ज़्यादा आईसीसी अवॉर्ड जीते हैं

आईसीसी अवॉर्ड की शुरुआत साल 2004 में हुई थी, ये आज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सबसे प्रतिष्ठित अवॉर्ड्स में से एक है। इस अवॉर्ड के लिए वोटिंग साल भर खुली रहती है। सितंबर से लेकर अगले एक साल तक की वोटिंग के ज़रिए नतीजे तय किए जाते हैं। जिन श्रेणियों में ये अवॉर्ड्स दिए जाते थे अब उसकी संख्या भी अब बढ़ चुकी है। मौजूदा वक़्त में 13 श्रेणियों में आईसीसी अवॉर्ड दिए जाते हैं। हांलाकि आईसीसी चयन समिति ये तय करती है कि अवॉर्ड के दावेदार कौन-कौन से खिलाड़ी होंगे। विजेता एकेडमी के वोट के द्वारा किया जाता है, इस एकेडमी के सदस्य अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर, अंपायर और रेफ़री होते हैं। दुनिया के कई मशहूर खिलाड़ी पिछले कुछ सालों में आईसीसी अवॉर्ड से सम्मानित हुए हैं। इनमें से 7 खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्होंने ये अवॉर्ड 2 से ज़्यादा बार जीता है, (इसमें पीपल्स च्वॉइस अवॉर्ड्स शामिल नहीं हैं)। यहां हम ऐसे ही 7 खिलाड़ियों के बारे में चर्चा कर रहे हैं।

#7 मिचेल जॉनसन

आईसीसी क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर(2009) – वोटिंग पीरियड के दौरान मिचेल जॉनसन ने शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने 17 मैच में 3.12 की इकॉनमी रेट से 80 रन बनाए थे। उन्होंने बल्लेबाज़ी करते हुए 632 रन बनाए थे, जिसमें 1 शतक और 3 अर्धशतक शामिल था। इस साल उनका कड़ा मुक़ाबला एमएस धोनी और गौतम गंभीर से था, लेकिन जॉनसन ने बाज़ी मार ली। क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर और टेस्ट प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2014) – वोटिंग पीरियड के दौरान मिचेल जॉनसन ने 8 टेस्ट मैच खेले थे, जिसमें 59 विकेट हासिल किए थे। वनडे की बात करें तो उन्होंने 16 मैच में 21 विकेट हासिल किए थे। उन्होंने एबी डिविलियर्स, कुमार संगाकारा, एंजेलो मैथ्यूज़ और वॉर्नर को पीछे छोड़ते हुए अवॉर्ड जीता था।

#6 स्टीव स्मिथ

क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर और टेस्ट प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2015) – वोटिंग पीरियड के दौरान स्टीव स्मिथ का टेस्ट में औसत 82.6 था और उन्होंने 1734 रन बनाए थे। ऐसे में टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर का अवॉर्ड उन्हें मिलना लाज़िमी था। वनडे की बात करें तो उन्होंने 50 ओवर के फ़ॉर्मेट में क़रीब 60 की औसत से 1200 रन बनाए थे टेस्ट प्लेयर ऑफ़ द ईयर(2017) – वोटिंग पीरियड के दौरान उन्होंने 16 मैच में 78 की औसत से 1800 रन बनाए थे, जिसमें 8 सेंचुरी शामिल थी। इतने शानदार प्रदर्शन का मुक़ाबला कोई और नहीं कर पाया और स्मिथ इस अवॉर्ड के हक़दार बने।

#5 विराट कोहली

वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2012) – विराट कोहली उस वक़्त महज़ 23 साल के थे। वोटिंग पीरियड के दौरान उन्होंने 66.7 की औसत से 1733 रन बनाए थे। इस दौरान उन्होंने 8 शतक और 6 अर्धशतक बनाए थे। क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर और वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2017) - उन्होंने वोटिंग पीरियड के दौरान हर फ़ॉर्मेट में धमाल मचाया था। वनडे में उन्होंने 82 की औसत से 1818 रन बनाए थे, इस दौरान उन्होंने 7 शतक लगाए थे। टी-20 अंतरराष्ट्रीय में उनका स्ट्राइक रेट 150 से ज़्यादा था। टेस्ट में उन्होंने 80 रन प्रति पारी की औसत से 2000 रन बनाए थे। वो पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने ये अवॉर्ड एक ही साल में जीता है।

#4 एबी डीविलियर्स

वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2010) – वोटिंग पीरियड के दौरान उन्होंने प्रोटियाज़ टीम को 16 मैच में 10 मैच में जीत दिलाई थी। एबी डीविलियर्स ने 71 की औसत से 855 रन बनाए थे जिसमें 4 शतक और 4 अर्धशतक शामिल थे। उन्होंने इस साल सचिन तेंदुलकर, शेन वॉटसन और रेयान हैरिस को हराया था। वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर(2014) - साल 2014 एबी डीविलियर्स के लिए शानदार रहा था। वोटिंग पीरियड के दौरान उन्होंने 73 की औसत से 879 रन बनाया था। हांलाकि इस दौरान वो कई बार अपने अर्धशतक को शतक में बदलने में नाकाम रहे थे। वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर(2015) - उस वक़्त वो दक्षिण अफ़्रीका के कप्तान थे और उन्होंने लगातार दूसरे साल ये अवॉर्ड जीता था। 20 पारियों में उन्होंने 79 की औसत और 128.4 के स्ट्राइक रेट से 1265 रन बनाए थे। इस दौरान उन्होंने 2 शतक और 9 अर्धशतक लगाए थे।

#3 एमएस धोनी

वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2008) – वोटिंग पीरियड के दौरान उन्होंने 39 वनडे मैच में 1200 से ज़्यादा रन बनाए थे, इस दौरान उनका औसत 50 के क़रीब था। उनका स्ट्राइक रेट 82.46 था। विकेटकीपिंग के दौरान उन्होंने 62 शिकार किए थे, जिसमें 16 स्टंपिंग शामिल थे। वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2009) – एमएस धोनी ने साल 2009 में भी अपना जलवा बरक़रार रखा, वोटिंग पीरियड के दौरान उन्होंने 24 वनडे में 86.63 के स्ट्राइक रेट और 60.43 की औसत से 967 रन बनाए थे। उन्होंने इस दौरान अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को 24 में से 17 मैच में जीत दिलाई थी। स्प्रिट ऑफ़ क्रिकेट (2011) – साल 2011 में नॉटिंघम टेस्ट के दौरान चाय से पहले आख़िरी गेंद पर इंग्लैंड टीम के इयान बेल ने गेंद को हिट कर दिया, उन्हें लगा कि गेंद 4 रन के लिए बाउंड्री पार कर गई है और वो पवेलियन की तरफ़ बढ़ने लगे। लेकिन गेंद बाउंड्री पार नहीं की थी और फ़ील्डर ने बेल को रन आउट कर दिया। इंग्लैंड टीम ने धोनी से गुज़ारिश की और धोनी ने आउट की अपील वापस ले ली। इयान बेल फिर मैदान में बल्लेबाज़ी करने आ गए। धोनी के इस शानदार व्यवहार के लिए उन्हें स्प्रिट ऑफ़ क्रिकेट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।

#2 रिकी पॉन्टिंग

क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर और टेस्ट प्लेयर ऑफ़ द ईयर(2006) - वोटिंग पीरियड के दौरान रिकी पोंटिंग ने 69 की औसत से 1791 रन बनाए थे। उन्होंने माइकल हसी, मोहम्मद यूसुफ़, मुथैया मुरलीधरन, शेन वॉर्न को पीछे छोड़ते हुए ये अवॉर्ड जीता था। क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर और कैप्टन ऑफ़ द ईयर (2007) - वोटिंग पीरियड के दौरान पोटिंग ने वनडे की 24 पारियों में 84.3 की औसत से 1433 रन बनाए थे। उस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 92 था। साल 2007 में उन्होंने अपनी टीम को वर्ल्ड कप दिलाया था। इसके साथ ही ऑस्ट्रेलिया लगातार तीसरी बार वर्ल्ड चैंपियन बनी थी।

#1 कुमार संगकारा

वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2011) – वोटिंग पीरियड के दौरान कुमार संगकारा ने 25 वनडे मैच में क़रीब 55 की औसत से 1049 रन बनाए थे। इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 7 अर्धशतक लगाए थे। उन्होंने अपने प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंकाई टीम को 2011 वर्ल्ड कप के फ़ाइनल में पहुंचाया था। क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर और टेस्ट प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2012) – संगकारा ने वोटिंग पीरियड के दौरान 14 टेस्ट मैच में 60 की औसत से 1444 रन बनाए थे, जिसमें 5 शतक और 5 अर्धशतक शामिल थे। वनडे की बात करें तो उन्होंने 37 वनडे में 1457 रन बनाए थे, जिसमें 3 शतक शामिल थे। वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर (2013) – वोटिंग पीरियड के दौरान संगकारा ने 23 वनडे मैच में 63.2 की औसत से 1201 रन बनाए थे, जिसमें 2 शतक और 10 अर्धशतक शामिल थे। इस दौरान उनका सर्वाधिक निजी स्कोर 169 रन था जो उन्होंने दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 137 गेंद में बनाया था। इस संगकारा ने टेस्ट में भी कमाल दिखाया था, लेकिन ‘टेस्ट प्लेयर ऑफ़ द ईयर’ का अवॉर्ड माइकल क्लार्क ने जीत लिया था। पीयूष चौधरी अनुवादक- शारिक़ुल होदा

App download animated image Get the free App now