Create

7 खिलाड़ी जिन्होंने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन किया 

Enter caption

वर्तमान में भारतीय लोगों द्वारा डोमेस्टिक टूर्नामेंट जैसे- रणजी, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी आदि को काफी पसंद किया जाता है। इसके पीछे कारण यह है कि भारत में क्रिकेट के करोड़ों लोग दीवाने हैं, और वे क्रिकेट को एक खेल से बढ़कर अपनी जिंदगी का एक अहम भाग समझते हैं। इन डॉमेस्टिक टूर्नामेंट के दौरान खिलाड़ी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हैं, और जो खिलाड़ी अपना बेहतरीन प्रदर्शन देता है उसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के लिए खेलने का मौका दिया जा सकता है।

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का आयोजन 2008-09 से किया जा रहा है। इस वर्ष 21 फरवरी से लेकर 14 मार्च तक इस टूर्नामेंट का आयोजन किया गया, जिसमें पूरे भारत की 37 टीम ने एक दूसरे के खिलाफ मुकाबले खेले। कर्नाटक की टीम में 14 मार्च को यह ट्रॉफी अपने नाम की। इस टूर्नामेंट के खिलाफ कई क्रिकेटर ने शानदार प्रदर्शन किया, और अपनी प्रतिभा से सभी दर्शकों का दिल जीत लिया। तो आइए जान लेते हैं ऐसे ही 7 क्रिकेटर के बारे में जिन्होंने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के द्वारा शानदार प्रदर्शन किया।

#7 श्रेयस अय्यर

पिछले कुछ सालों में श्रेयस अय्यर लगातार भारतीय वनडे टीम में शामिल होने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। किंतु अभी तक उन्हें कोई सफलता प्राप्त नहीं हुई है। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में श्रेयस अय्यर मुंबई की टीम की ओर से खेले, और इस सीजन उन्होंने एक भारतीय क्रिकेटर के रूप में टी-20 में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया। सिक्किम के खिलाफ खेले गए मुकाबले में श्रेयस अय्यर ने मात्र 55 बॉल में 147 रन की पारी खेली, जिसमें इनका स्ट्राइक रेट 267.2 का था, यह श्रेयस अय्यर का शानदार फॉर्म में होना प्रदर्शित करता है। श्रेयस अय्यर ने 10 मुकाबलों में 60 की औसत से कुल 484 रन बनाएं जिसमें 2 शतक और 1 अर्धशतक शामिल है।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

#6 नाथू सिंह

Enter caption

नाथू सिंह भारतीय डोमेस्टिक क्रिकेट में अपने सर्वश्रेष्ठ फॉर्म से गुजर रहे हैं। नाथू सिंह आईपीएल में दो टीमों की ओर से खेल चुके हैं, किंतु उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बहुत कम लोग ही जानते हैं। नाथू सिंह मुंबई इंडियंस और गुजरात लायंस की टीम में शामिल रह चुके हैं। नाथू सिंह ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन करते हुए तीन मुकाबले खेले, और इन तीन मुकाबलों में कुल मिलाकर उन्होंने 10 ओवर डाले। किंतु इस दौरान उन्होंने 7 विकेट अपने नाम किए और 5.86 की इकॉनमी से गेंदबाजी की।

#5 गुरिंदर सिंह

Enter caption

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में 26 वर्षीय गुरिंदर सिंह ने अपने ऑलराउंड प्रदर्शन से सभी लोगों का दिल जीत लिया। इस ट्रॉफी में मेघालय की टीम की ओर से खेले, जहां उनके रन बनाने का औसत अन्य बल्लेबाजों की तुलना में काफी अधिक था। गुरिंदर सिंह ने 6 मुकाबलों में कुल 207 रन बनाए, जहां इनका औसत रन स्‍कोर 103 था। गुरिंदर सिंह विजय हजारे ट्रॉफी में सम्मिलित रूप से सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे, जबकि रणजी ट्रॉफी 2018-19 में वे मेघालय की ओर से सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे।

#4 राहुल शुक्ला

Enter caption

राहुल शुक्ला आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की ओर से कुछ मुकाबले खेल चुके हैं। इसके अलावा भी आईपीएल में मुंबई इंडियंस और दिल्ली डेयरडेविल्स टीम का हिस्सा भी रह चुके हैं। इस वर्ष राहुल शुक्ला सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में झारखंड की टीम का हिस्सा थे, जो इस ट्रॉफी में सर्वाधिक बार एक ही मैच में 5 विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में शीर्ष स्थान में है। राहुल शुक्ला ने इस प्रतियोगिता में 9 मुकाबले खेले जिसमें उन्होंने कुल 19 विकेट लिए, जिसमें एक मुकाबले में 5 विकेट लेना भी शामिल है।

#3 खलील अहमद

Enter caption

पिछले कुछ समय में खलील अहमद ने साबित किया है कि वे भारत के कुछ बेहतरीन बाएं हाथ के गेंदबाजों में शामिल है। अपने अच्छे प्रदर्शन के कारण उन्हें भारतीय टीम में खेलने के लिए भी बुलाया जा चुका है। खलील अहमद सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में राजस्थान की टीम की ओर से खेलते हैं इस सीजन उन्होंने चार मुकाबलों में खेलते हुए 12 विकेट अपने नाम किए। वहीं इनकी बॉलिंग इकॉनमी 7.33 थी।

#2 सत्यजीत बचाव

Enter caption

यदि आप किसी डोमेस्टिक टूर्नामेंट में नंबर वन गेंदबाज बनते हैं तो आपको अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारतीय टीम में चुने जाने की संभावनाएं भी अधिक होती है। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2019 में सत्यजीत बचाव सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बने। सत्यजीत ने महाराष्ट्र टीम की ओर से खेलते हुए 12 मुकाबलों में कुल 20 विकेट लिए। यदि वह अपना प्रदर्शन इसी प्रकार जारी रखते हैं तो उन्हें भारतीय टीम में खेलने का मौका अवश्य मिलेगा।

#1 रोहन कदम

Enter caption

जहां एक तरफ सत्यजीत बचाव सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे, ठीक उसी प्रकार रोहन कदम इस प्रतियोगिता में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बने। कर्नाटक टीम की ओर से खेलते हुए रोहन कदम ने कुल 12 मुकाबलों में 53 रन की औसत के साथ 536 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 5 अर्धशतक लगाए जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 89 रन का था।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment