Create
Notifications

विराट कोहली को मुझ पर विश्वास था : युजवेन्द्र चहल

Naveen Sharma
visit

टीम इंडिया ने बैंगलोर में हुए तीसरे और आखिरी टी20 मैच में इंग्लैंड को 75 रनों के बड़े अंतर से हराकर सीरीज अपने नाम कर ली। बल्लेबाजी के दौरान भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपने टी20 जीवन का पहला अर्धशतक जमाया, वहीं सुरेश रैना ने 7 वर्ष बाद इस प्रारूप में अर्धशतक लगाया। इसके अलावा युवराज सिंह ने तूफानी पारी खेलते हुए दर्शकों का खूब मनोरंजन किया और भारत का स्कोर 200 पार पहुंचा दिया। युजवेन्द्र चहल के 6 विकेटों की मदद से भारतीय टीम ने मेहमान टीम को बुरी तरह हराया। मैच के बाद क्रिकेट जगत से कई प्रतिक्रियाएं आई, इनमें भारतीय कप्तान विराट कोहली और चहल की बातें महत्वपूर्ण रही। आइए नजर डालते हैं उन सभी बयान पर और जानते हैं कि किसने क्या कहा? युजवेन्द्र चहल यह अच्छा है क्योंकि मैं बैंगलोर में इंडिया के लिए पहली बार खेल रहा हूं। यह घर जैसा लगता है। पावरप्ले में आईपीएल के दौरान मैंने यहां गेंदबाजी की है। विराट ने मुझमें विश्वास जताया कि मैं यह कर सकता हूं। मुझे पता था कि छोटी बाउंड्री होने के कारण बल्लेबाज बड़े शॉट के लिए जाएंगे और मुझे विकेट मिलने के अवसर हैं। मैंने फुल लेंथ की गेंदें डाली ताकि स्वीप और रिर्वस स्वीप मिस होने पर पगबाधा आउट हो सके, मैंने 6 विकेट के बारे में कभी नहीं सोचा था। विराट कोहली हमारे सभी साथी खिलाड़ियों ने बेहतरीन खेल दिखाया, खासकर यहां काफी समय बाद आकर हमने अच्छा खेल दिखाया, हमने सीरीज में तीनों टॉस हारे बिलकुल टेस्ट सीरीज की तरह, लेकिन हमने तीनों सीरीज जीती, सूखे विकेट पर दो लेग स्पिनरों को खिलाना बेहतरीन साबित हुआ, युवराज सिंह ने शानदार बल्लेबाजी की जिसकी वजह से हमने 200 रनों से ऊपर का स्कोर बनाया, आखिरी दो महीने भारतीय टीम के लिए बेहतरीन रहे हैं, हम आगे भी इसको जारी रखना चाहेंगे। इयोन मॉर्गन जब हम सही जा रहे थे तब दो बल्लेबाजों का विकेट खोकर गलती कर दी। चहल ने शानदार गेंदबाजी की और भारत को सीरीज जीतने में मदद की। मैंने और रूट ने 70 या 80 रन जोड़े लेकिन यह नाकाफी था। बल्लेबाजी के लिए अच्छा विकेट था, छोटी बाउंड्री थी। शुरुआत में हम 190 तक पहुँच सकते थे। हमारी बल्लेबाजी का पिछले दो वर्षों के प्रदर्शन के आधार पर यहां उपयोग नहीं कर पाए। सीरीज नहीं जीत पाने से काफी निराशा हुई है। अमित मिश्रा गेंद को स्पिन कराने और दबाव बनाने का प्लान था। यह काम कर गया और चहल ने विकेट झटके। नेट पर गेंदबाजी के दौरान मैंने इस पर चहल से बातचीत भी की थी। फील्डिंग के दौरान मेरे घुटने में चोट लग गई थी लेकिन रन बचाकर मैं खुश हूं। साथी खिलाड़ी कह रहे थे कि मेरी फिटनेस में सुधार हुआ है और टांग खींच रहे थे। युवराज सिंह मेरी और धोनी की हमेशा अच्छी समझ रही है। वे बड़े शॉट खेल सकते हैं और मैं कुछ समय लेता हूं। बैंगलोर में हमेशा से ही बल्लेबाजी के लिए मददगार विकेट रहा है। हमने एक अच्छा स्कोर खड़ा करने के बाद शानदार गेंदबाजी की। बड़े छक्के और बड़े स्कोर को चेज़ होते हुए यहां देखा है। पिछले मैच में जसप्रीत हमें वापस मैच में लेकर आया। अमित मिश्रा ने आज अच्छी गेंदबजी की। यजुवेन्द्र विकेट लेने में समर्थ थे और हम अपने गेंदबाजों के दम पर ही जीते हैं। भारतीय टीम की जीत पर कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने ट्वीट करके शुभकामनाएं दी, जो इस प्रकार है।


Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now