सभी देशों में टीम इंडिया की पहली टेस्ट सीरीज़ जीत पर एक नज़र

Enter caption

भारत ने हाल में ही कंगारुओं के ख़िलाफ़ ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज़ जीता है। इससे पहले टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में 11 टेस्ट सीरीज़ में खेली थी जिसमें 8 में उसे हार का सामना करना पड़ा और 3 सीरीज़ ड्रॉ रहे। भारत पहला ऐसा एशियाई देश है जिसने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज़ फ़तह की है। यहां हम 8 देशों में टीम इंडिया की पहली टेस्ट सीरीज़ जीत पर चर्चा कर रहे हैं। दक्षिण अफ़्रीका में भारतीय टीम ने एक भी टेस्ट सीरीज़ पर कब्ज़ा नहीं जमाया है इसलिए इस लिस्ट में हम साउथ अफ़्रीका को शामिल नहीं कर रहे हैं।


#1 भारत ने न्यूज़ीलैंड में सीरीज़ 3-1 से जीती (1968)

Enter caption

नवाब मंसूर अली खां पटौदी की कप्तानी में टीम इंडिया ने साल 1968 में न्यूज़ीलैंड का दौरा किया था। यहां भारत को कीवी टीम के ख़िलाफ़ 4 टेस्ट मैच की सीरीज़ खेलनी थी। पहले टेस्ट में ई प्रसन्ना की शानदार गेंदबाज़ी की बदौलत भारत ने 5 विकेट से जीत हासिल की थी। दूसरे टेस्ट में भारत को 4 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था और सीरीज़ 1-1 से बराबर हो गई थी। तीसरे टेस्ट में एक बार फिर प्रसन्ना का जादू देखने को मिला, उन्होंने पहली पारी में 5 विकेट हासिल किए और टीम इंडिया ने ये मैच 8 विकेट से जीत लिया। चौथे टेस्ट में भी प्रसन्ना ने कमाल दिखाया और उन्होंने दोनों पारियों में 4-4 विकेट लिए और भारत ने ये सीरीज़ 3-1 से जीत ली।


#2 भारत ने वेस्टइंडीज़ में सीरीज़ 1-0 से जीती (1971)

Enter caption

1970 और 1980 के दशक में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ एक अदद टेस्ट मैच जीतना ही बेहद मुश्किल हुआ करता था। अगर उस वक़्त कैरिबियाई टीम के ख़िलाफ़ टेस्ट सीरीज़ जीतने की बात की जाती थी तो ये नामुमकिन सा लगता था। टीम इंडिया साल 1971 में वेस्टइंडीज़ के दौरे पर गई थी। इस सीरीज़ में लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर ने टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था। उन्होंने 5 टेस्ट मैच की सीरीज़ में 774 रन बनाए थे। भारत पहला, तीसरा, चौथा और पांचवा टेस्ट मैच ड्रॉ कराने में कामयाब रहा। पोर्ट ऑफ़ स्पेन में हुए दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने जीत हासिल की। इस तरह टीम इंडिया ने ये सीरीज़ 1-0 से अपने नाम की।

#3 भारत ने इंग्लैंड में सीरीज़ 1-0 से जीती (1971)

Enter caption

साल 1971 में टीम इंडिया इंग्लैंड में 3 मैच की टेस्ट सीरीज़ खेलने गई थी। पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम जीत के करीब आ गई थी, लेकिन आख़िरकार उन्हें ड्रॉ से संतोष करना पड़ा। सीरीज़ का दूसरा टेस्ट मैच भी ड्रॉ रहा। अब लंदन में सीरीज़ का फ़ैसला होना था। तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड ने भारत के ख़िलाफ़ 71 रन की बढ़त हासिल की थी, लेकिन दूसरी पारी में बीएस चंद्रशेखर ने मेज़बान टीम के 6 खिलाड़ियों को पवेलियन वापस भेज दिया। इंग्लैंड की पूरी टीम 101 रन पर सिमट गई। भारत को जीत के लिए 173 रन की ज़रूरत थी जिसे भारत ने 6 विकेट खोकर हासिल कर लिया और सीरीज़ 1-0 से अपने नाम की।


#4 भारत ने श्रीलंका में सीरीज़ 1-0 से जीती (1993)

Enter caption

साल 1993 में मोहम्मद अज़हरुद्दीन की कप्तानी में टीम इंडिया 3 मैच की टेस्ट सीरीज़ खेलने श्रीलंकाई दौरे पर गई थी। पहला टेस्ट कैंडी में खेला गया था, लेकिन बारिश की वजह से ये मैच रद्द हो गया। दूसरा टेस्ट मैच कोलंबो में खेला गया था जिसमें भारत ने श्रीलंका के सामने जीत के लिए 472 रन का लक्ष्य रखा। इसके जवाब में मेज़बान टीम 236 रन पर सिमट गई और भारत ने ये टेस्ट 235 रन से जीत लिया। तीसरा टेस्ट ड्रॉ रहा और टीम इंडिया ने श्रीलंका में पहली बार सीरीज़ जीती।

#5 भारत ने बांग्लादेश में सीरीज़ 1-0 से जीती (2000)

Enter caption

बांग्लादेश ने साल 2000 में टेस्ट का दर्जा हासिल किया था। बांग्लादेश 10वीं ऐसी टीम थी जिसे टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका मिला। टीम इंडिया साल 2000 में बांग्लादेश में एकलौता टेस्ट मैच खेलने गई थी। मेज़बान टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फ़ैसला किया। अमीनुल इस्लाम ने 145 रन बनाए जिसकी बदौलत बांग्लादेशी टीम ने 400 रन का स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में भारत ने पहली पारी में 429 रन बनाए। दूसरी पारी में पूरी बांग्लादेशी टीम 91 रन पर सिमट गई। इसके बाद भारत ने जीत के लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लिया। सुनील जोशी को उनके हरफ़नमौला प्रदर्शन के लिए ‘मैन ऑफ़ द मैच’ दिया गया।


#6 भारत ने पाकिस्तान में सीरीज़ 2-1 से जीती (2004)

Enter caption

जब भी टीम इंडिया पाकिस्तान के ख़िलाफ़ खेलती है तब भारतीय क्रिकेट फ़ैंस की उम्मीदें सातवें आसमान में होती है। सौरव गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया साल 2004 में पाकिस्तान के दौरे पर गई थी। मुलतान में हुए पहले टेस्ट मैच में वीरेंदर सहवाग ने तिहरा शतक लगाया और भारत ने ये मैच पारी और 52 रन से जीता। दूसरे टेस्ट में पाकिस्तान ने वापसी की और मेज़बान टीम ने 9 विकेट से दूसरा टेस्ट जीता। रावलपिंडी में खेले गए तीसरे और आख़िरी टेस्ट में राहुल द्रविड़ के 270 रनों की बदौलत भारत ने टेस्ट मैच पारी और 131 रन से जीत लिया। इसी के साथ भारत ने सीरीज़ 2-1 से अपने नाम की।

#7 भारत ने ज़िम्बाब्वे में सीरीज़ 2-0 से जीती (2005)

Enter caption

साल 2005 में सौरव गांगुली की अगुवाई में टीम इंडिया ज़िम्बाब्वे के दौरे पर 2 टेस्ट मैच की सीरीज़ खेलने गई थी। बुलावायो में पहला टेस्ट खेला गया जिसे भारत ने पारी और 90 रन से जीता। दूसरे टेस्ट मैच में भी ज़िम्बाब्वे की टीम कुछ ख़ास कमाल नहीं पाई और भारत ने ये मैच 10 विकेट से जीत लिया। इस तरह से टीम इंडिया ने ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ सीरीज़ 2-0 से फ़तह की।


#8 भारत ने ऑस्ट्रेलिया में सीरीज़ 2-1 से जीती (2019)

Enter caption

भारतीय टीम ने साल 1947 में पहली बार ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था। तब से कई बार टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में सीरीज़ जीतने में नाकाम रही थी। विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने हाल में ही ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था जहां उन्हें 4 मैच की टेस्ट सीरीज़ खेलनी थी। एडिलेड में हुए पहले टेस्ट में भारत ने 31 रन से मैच जीता। इसके बाद पर्थ में ऑस्ट्रेलिया ने वापसी की और 137 से मैच जीता। तीसरा टेस्ट मेलबर्न में खेला गया जहां भारत ने 137 रन से जीत दर्ज की। सिडनी में चौथा टेस्ट बारिश के बार-बार दखल के बाद ड्रॉ हो गया और इसी के साथ भारत ने ये सीरीज़ 2-1 से जीती।

लेखक- ब्रोकन क्रिकेट

अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Quick Links

App download animated image Get the free App now