Create

"ऐसी टीम को जीतने से कोई नहीं रोक सकता" - गुजरात टाइटंस को लेकर आकाश चोपड़ा ने दिया बड़ा बयान 

हार्दिक पांड्या और डेविड मिलर राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ जीत के बाद जश्न मनाते हुए
हार्दिक पांड्या और डेविड मिलर राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ जीत के बाद जश्न मनाते हुए
Prashant Kumar

आईपीएल 2022 (IPL 2022) में गुजरात टाइटंस (Gujarat Titans)ने सभी को हैरान करते हुए निरंतर अच्छा प्रदर्शन किया है। इस टीम की कामयाबी को लेकर पूर्व भारतीय ओपनर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने भी प्रतिक्रिया दी है। चोपड़ा ने कहा कि इस टीम की कामयाबी का राज अलग-अलग मैच विनर्स का होना है। उन्होंने कहा कि प्लेइंग XI का हर सदस्य अपना योगदान दे रहे है और इसी वजह से विरोधी टीम कभी भी बेफिक्र नहीं हो सकती।

क्वालीफ़ायर 1 में राजस्थान रॉयल्स को हराकर गुजरात टाइटंस फाइनल में पहुँचने वाली पहली टीम बनी थी। वहीँ अब दूसरे क्वालीफ़ायर में राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर में से जो भी जीतेगा, उसका सामना हार्दिक पांड्या की टीम से होगा।

अपने यूट्यूब चैनल पर सवाल जवाब के सेशन में, चोपड़ा से उनके विचार पूछे गए कि गुजरात अपने पहले ही सीजन में इतनी सफल क्यों रही। इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा,

गुजरात टाइटंस को अन्य टीमों से अलग करने वाली बात यह है कि उनके पास अलग-अलग मैच विजेता रहे हैं। यह कहने में बड़ी अजीब बात है, लेकिन बात यही है। अलग-अलग खिलाड़ियों ने मुश्किल हालात में हाथ खड़े कर खुद साबित किया है है। जीटी 3-4 मैच विनर्स तक ही सीमित नहीं हैं। ऐसी टीम को जीतने से कोई नहीं रोक सकता।

ICC को आईपीएल की तरह ही प्लेऑफ सिस्टम अपनाना चाहिए - आकाश चोपड़ा

आईपीएल में कई सीजन से प्लेऑफ का सिस्टम चला आ रहा है। जहाँ अंकतालिका में टॉप 2 टीमों को फाइनल में जाने के दो मौके मिलते हैं। इस बार क्वालीफ़ायर 1 में गुजरात के हाथों हारने के बाद राजस्थान को अभी एक और मौका मिला है और उनका सामना एलिमिनेटर मुकाबला जीतने वाली आरसीबी से होगा।

आकाश चोपड़ा से पूछा गया कि क्या समय आ गया है कि ICC को भी वर्ल्ड जैसे बड़े इवेंट्स में प्लेऑफ सिस्टम अपना लेना चाहिए। उन्होंने जवाब देते हुए कहा,

ICC के पास आईपीएल की तरह प्लेऑफ़ सिस्टम होना चाहिए। लेकिन यह केवल राउंड-रॉबिन सिस्टम के मामले में काम करता है, जहां प्रत्येक टीम कम से कम एक बार दूसरे के साथ खेलती है। यदि टीमों को ग्रुप में बांटा गया है, तो आपके पास क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल के साथ आगे बढ़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...