युजवेंद्र चहल जब स्लो डालते हैं तो फिर काफी खतरनाक हो जाते हैं, पूर्व क्रिकेटर का बयान

Nitesh
युजवेंद्र चहल गेंदबाजी के दौरान (Photo Credit - BCCI)
युजवेंद्र चहल गेंदबाजी के दौरान (Photo Credit - BCCI)

युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) की गेंदबाजी को लेकर पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि युजवेंद्र चहल जब धीमी गेंद डालते हैं तब वो काफी जबरदस्त गेंदबाज साबित होते हैं। उन्होंने यही चीज तीसरे टी20 मुकाबले के दौरान की थी।

युजवेंद्र चहल पहले दो मैचों में काफी महंगे साबित हुए थे। उन्होंने 10 से ज्यादा की इकॉनमी रेट से रन दिए थे। हालांकि तीसरे टी20 मैच में उन्होंने शानदार तरीके से वापसी की और अपने चार ओवरों के स्पेल में सिर्फ 20 रन देकर तीन विकेट चटकाए। चहल ने उस मुकाबले में ड्वेन प्रिटोरियस, रेसी वेन डर डुसेन और दूसरे मैच के हीरो रहे हेनरिक क्लासेन को आउट किया और साउथ अफ्रीका की कमर ही तोड़ दी।

चहल ने कहा था कि पिछले कुछ मुकाबलों में उन्होंने कई सारे स्लाइडर डाले थे और काफी तेज गेंदबाजी की थी। लेकिन इस मैच में अपनी सीम पोजिशन को चेंज किया। स्पिन करना और गेंद को डिप कराना मेरा मजबूत पक्ष है। मैंने टर्न कराने की कोशिश की और धीमा डाला और इसी वजह से सफलता मिली।

युजवेंद्र चहल जब धीमा डालते हैं तो फिर काफी विकेट चटकाते हैं - आकाश चोपड़ा

वहीं आकाश चोपड़ा ने भी यही बात कही है। उन्होंने कहा 'चहल ने अपनी गेंदबाजी में कुछ बदलाव किए। पिच से काफी मदद मिल रही थी और गेंद भी थोड़ी टर्न हो रही थी और थोड़ा रुककर भी आ रही थी। पहले दो मैचों में वो काफी तेजी से स्टंप में गेंद डाल रहे थे। लेकिन चहल जब स्लोअर गेंद डालते हैं और हवा में ड्रिफ्ट कराते हैं तो फिर काफी प्रभावशाली साबित होते हैं। उन्होंने तीसरे टी20 मैच के दौरान यही किया।'

आपको बता दें कि युजवेंद्र चहल से चौथे टी20 मुकाबले में भी भारतीय टीम उसी तरह के परफॉर्मेंस की उम्मीद करेगी।

Quick Links

Edited by Nitesh