Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

4 ऐसे ऑलराउंडर्स जिन्होंने एक ही टेस्ट में ली हैट्रिक और फिर बल्ले से खेली 50+की पारी

Modified 19 Jun 2018, 07:05 IST
Advertisement

दुनिया की हर क्रिकेट टीम चाहती है कि उसके पास ऐसे ऑलराउंडर मौजूद हों मैच का रुख़ पलट सकते हैं। पिछले कुछ सालों में टेस्ट क्रिकेट में हरफ़नमौला खिलाड़ियों का जलवा रहा है। कहा जाता है कि क्रिकेट में कुछ प्रदर्शन ऐसे होते हैं जो बेहद दुलर्भ होते हैं जो कभी-कभी देखने को मिलते हैं। किसी भी खिलाड़ी के लिए टेस्ट मैच में हैट्रिक लेना क़ाबिलियत की बात होती है और वही खिलाड़ी जब उसी टेस्ट की एक पारी में 50 से ज़्यादा रन भी बनाए तो उनके इस कारनामे को हमेशा-हमेशा के लिए याद किया जाता है। ऐसे हरफ़नमौला प्रदर्शन इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए दर्ज हो जाते हैं। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ऐसा कारनामा महज़ 4 दफ़ा हुआ है, आइये नज़र डालते हैं।

#4 विलियम बेट्स बनाम ऑस्टेलिया – 1883, मेलबर्न

  इंग्लैंड के क्रिकेटर विलियम बेट्स ने साल 1883 की एशेज़ सीरीज़ में हरफ़नमौला प्रदर्शन किया था। उन्होंने इंग्लिश टीम की तरफ़ से नंबर-9 पर बल्लेबाज़ी की थी और 55 रन बनाए थे जिसकी बदौलत इंग्लैंड ने पहली पारी में 294 रन का स्कोर खड़ा किया। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया बल्लेबाज़ी के लिए मैदान में आई। बेट्स ने दाएं हाथ से ऑफ़ स्पिन गेंदबाज़ी करते हुए शानदार हैट्रिक ली और कंगारू टीम के मिडिल ऑर्डर को उखाड़ दिया। उन्होंने नंबर 4 बल्लेबाज़ पेरसी मैक्डॉनल, नंबर 5 बल्लेबाज़ जॉर्ज जिफ़ेन और नंबर 6 जॉर्ज बोनर को उस वक़्त आउट किया जब ऑस्ट्रेलिया का स्कोर महज़ 78 रन था। बेट्स ने 26.2 ओवर में 28 रन देकर 7 विकेट हासिल किए थे। ऑस्ट्रेलिया पहली पारी में 153 रन बनाकर आउट हो गई थी। इंग्लैंड ने ये मैच पारी और 27 रन से जीता था। इस मैच में बेट्स ने वो कारनामा किया था जो क़रीब 112 साल बाद ही दोहराया गया।
1 / 4 NEXT
Published 19 Jun 2018, 07:05 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit