Create
Notifications

टी-20 की सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ एकादश

आशीष कुमार
visit

वनडे प्रारूप में एक समय था जब 300 से अधिक के स्कोर का पीछा करना लगभग असंभव लगता था और यदि कोई टीम 300 से अधिक स्कोर का लक्ष्य देती थी तो बाद में बल्लेबाज़ी टीमें अक्सर इस लक्ष्य को हासिल करने में विफल रहती थीं। इसके अलावा, टेस्ट मैच भी पांचवें दिन तक चलते थे और आमतौर पर ड्रॉ पर ही समाप्त होते थे लेकिन अब चीजें काफी बदल गई हैं। टी 20 प्रारूप की शुरूआत ने क्रिकेट की परिभाषा को बदल कर रख दिया है। अब टेस्ट मैचों के ड्रॉ होने की संभावना कम हो गई है और वनडे प्रारूप में टीमें आसानी से 350 से ज्यादा के स्कोर का पीछा कर रही हैं। वहीं टी-20 में होने वाली चौके और छक्कों की बारिश ने क्रिकेट प्रशंसकों का भरपूर मनोरंजन किया है। ऐसे में विश्व के सर्वश्रेष्ठ टी-20 खिलाड़ियों की एकादश के बारे में जानना दिलचस्प होगा। इस लेख में हम सर्वकालिक टी-20 एकादश का विश्लेषण करेंगे: #1. क्रिस गेल (वेस्टइंडीज) बिना किसी संदेह के क्रिस्टोफर हेनरी गेल, विश्व के सर्वश्रेष्ठ टी-20 बल्लेबाज हैं। उन्होंने इस प्रारूप में लगभग सभी रिकॉर्ड अपने नाम किये हैं, चाहे वह वेस्टइंडीज़ के लिए खेलें या किसी फ्रेंचाइजी टीम के लिए। 'यूनिवर्सल बॉस' टी -20 क्रिकेट में 10,000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज हैं और वह अभी भी लगातार रन बना रहे हैं। गेल ने 335 टी-20 मैचों में, 40 से ज़्यादा की औसत और 148.57 की स्ट्राइक रेट से कुल 11454 रन बनाये हैं जिसमें 21 शतक और 70 अर्धशतक शामिल हैं। गेल अपनी शक्तिशाली हिटिंग की वजह से सबसे ख़तरनाक बल्लेबाज़ माने जाते हैं। इसलिए निश्चित रूप से वह इस सूची में पहले खिलाड़ी हैं। #2. डेविड वॉर्नर ऑस्ट्रेलिया के धमाकेदार सलामी बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर इस फेहरिस्त में दूसरे स्थान के लिए आदर्श विकल्प हैं। उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में बिना एक भी मैच खेले सीधे अंतराष्ट्रीय टी-20 से अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने पहले टी -20 मैच में उन्होंने धमाकेदार बल्लेबाज़ी करते हुए 43 गेंदों में शानदार 89 रन बनाये थे। तब से, वॉर्नर ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और लगातार अपने प्रदर्शन से उन्होंने क्रिकेट प्रशंसकों का भरपूर मनोरंजन किया है। टी-20 में उन्होंने कई असाधारण रिकॉर्ड बनाए हैं। आंकड़ों की बात करें तो वॉर्नर ने 243 टी-20 मैचों में, 35.33 की औसत और 143.54 की स्ट्राइक रेट से कुल 7500 रन बनाए हैं जिनमें 6 शतक और 59 अर्धशतक शामिल हैं। वॉर्नर आईपीएल में भी बहुत सफल रहे हैं और 2016 में उनके नेतृत्व में सनराइज़र्स हैदराबाद ने ख़िताबी जीत दर्ज की थी। #3. विराट कोहली (भारत) भारतीय कप्तान विराट कोहली किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं, वर्तमान में वह दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ हैं। अपनी निरंतरता और रन बनाने की भूख की वजह से वह टी-20 प्रारूप के ब्रैडमैन हैं। कोहली ने अभी तक खेले सभी टी -20 मैचों में 40 की औसत और 133.33 की स्ट्राइक रेट के साथ कुल 7744 रन बनाए हैं। जबकि टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में उन्होंने लगभग 50 की शानदारऔसत से रन बनाए हैं। उन्होंने भारत को अकेले दम पर कई मैच जिताये हैं और दबाव में भी बढ़िया प्रदर्शन किया है। कोहली ने अपने टी -20 करियर में चार शतक लगाए हैं और यह चारों शतक उन्होंने आईपीएल सीज़न 2016 में बनाए थे। इस सूची में वह नंबर तीन पर बल्लेबाज़ी करने के लिए वह एकदम सही विकल्प हैं। #4 एबी डीविलियर्स (दक्षिण अफ्रीका) हाल में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने वाले दक्षिण अफ्रीका के कलात्मक बल्लेबाज़ इस सूची में शामिल होने के लिए एकदम उपयुक्त हैं। वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में से एक रहे हैं और उनके संन्यास लेने से विश्व क्रिकेट को भारी क्षति पहुंची है। । डीविलियर्स के पास किसी भी गेंद को मैदान के चारों ओर मारने की अदभुत क्षमता है। अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म दिन में वह क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में शानदार फ़िनिशर साबित हुए हैं। अपने टी -20 करियर में, डीविलियर्स ने 147.91 की ज़बरदस्त स्ट्राइक रेट से तीन शतक और 45 अर्धशतकों के साथ कुल 6649 रन बनाए हैं। वहीं अंतरराष्ट्रीय वनडे प्रारूप में सबसे तेज़ शतक का रिकार्ड उनके नाम है, उन्होंने 31 गेंदों में यह शतक बनाया था। #5. सुरेश रैना (भारत) सुरेश रैना टी-20 प्रारूप के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक है और उनका रिकॉर्ड इसकी तसदीक करता है। रैना ने आईपीएल में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है, उन्होंने आईपीएल के प्रत्येक सीज़न में शानदार रन बनाए हैं। सभी आईपीएल सत्रों में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी उनके नाम दर्ज है। उन्होंने 176 आईपीएल मैचों में कुल 4985 रन बनाए हैं। वहीं भारतीय टीम की तरफ से खेलते हुए भी उन्होंने कई मैच जिताऊ पारियाँ खेली हैं। वह किसी टी-20 मैच में शतक बनाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं। टी-20 में उनके प्रदर्शन की बात करें तो उन्होंने 296 मैचों में 140 की बढ़िया स्ट्राइक रेट के साथ कुल 7929 रन बनाए हैं। #6. एमएस धोनी (भारत) बिना किसी संदेह के एमएस धोनी सीमित ओवर क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ कप्तान हैं। उन्होंने 2007 के पहले टी-20 विश्व कप और 2011 में हुए वनडे विश्व कप में भारत को ख़िताबी जीत दिलाई थी। अपने करियर में खेले कुल 297 मैचों में, उन्होंने 136.18 की अच्छी स्ट्राइक रेट के साथ 6075 बनाए हैं। दबाव की स्थिति में उनकी शांत और जुझारू प्रकृति उन्हें किसी भी टीम का एक अमूल्य खिलाड़ी बनाती है। #7. शाकिब अल हसन (बांग्लादेश) शाकिब अल हसन विश्व क्रिकेट में बेहतरीन ऑलराउंडरों में से एक है, चाहे वह सीमित ओवर प्रारूप या टेस्ट प्रारूप, वह वर्तमान में आईसीसी वनडे रैंकिंग में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ ऑल-राउंडर्स की सूची में तीसरे स्थान पर हैं। शाकिब ने बल्ले और गेंद दोनों के साथ बेहतरीन प्रदर्शन किया है। अपने टी -20 करियर में, उन्होंने 121.76 की अच्छी स्ट्राइक रेट से 4000 से अधिक रन बनाए हैं, और गेंदबाज़ी में 6.83 की प्रभावशाली इकोनॉमी रेट के साथ 310 विकेट लिए हैं। टी-20 प्रारूप में एक अच्छी टीम होने के लिए टीम में 2-3 अदद ऑलराउंडर्स का होना बहुत ज़रूरी है और शाकिब इस भूमिका के लिए एकदम उपयुक्त हैं। #8. ड्वेन ब्रावो (वेस्टइंडीज़) ड्वेन ब्रावो सर्वश्रेष्ठ टी -20 ऑलराउंडर है और वह इस प्रारूप में एक महान खिलाड़ी साबित हुए हैं। कैरीबियन खिलाड़ी टी-20 में 400 विकेट लेने वाले पहले खिलाड़ी बने और अपनी धारदार गेंदबाजी से उन्होंने विरोधी बल्लेबाज़ों को बाँध कर रख दिया। ब्रावो किसी भी टीम के लिए एक ट्रंप कार्ड साबित हो सकते हैं। उन्होंने दुनिया में लगभग प्रत्येक टी -20 लीग में खेला है और सभी टीमों के ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। अपने टी -20 करियर में, उन्होंने लगभग 8 से ऊपर की इकोनॉमी रेट के साथ 433 विकेट लिए हैं। बल्लेबाजी की बात करें तो उन्होंने 396 मैचों में 125 की स्ट्राइक रेट के साथ कुल 5700 रन बनाए हैं। #9. सुनील नारेन (वेस्टइंडीज़) जब टी -20 क्रिकेट की बात आती है तो वेस्टइंडीज़ के स्पिनर सुनील नारेन सर्वश्रेष्ठ स्पिनर है। नारेन टी-20 में सबसे खतरनाक गेंदबाजों में से एक रहे हैं और उनका प्रदर्शन अविश्वसनीय रूप से असाधारण रहा है। अपने टी-20 करियर में खेले कुल 287 मैचों में, उन्होंने 20 से नीचे की औसत से 334 विकेट लिए हैं। अपने पूरे टी -20 करियर में उन्होंने सिर्फ 5.92 की इकोनॉमी रेट से रन दिए हैं। इसके अलावा बल्ले के साथ भी उन्होंने असाधारण प्रदर्शन किया है और लगभग 150 की स्ट्राइक रेट के साथ रन बनाए हैं जिनमें छह अर्धशतक भी शामिल हैं। #10. लसिथ मलिंगा (श्रीलंका) जब टी-20 प्रारूप में आप किसी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज की कल्पना करते हैं तो लसिथ मलिंगा का नाम हमारे दिमाग में सबसे पहले आता है। वह अपने कौशल और धारदार गेंदबाज़ी की बदौलत इस सूची में बेहद अहम खिलाड़ी हो सकते हैं। टॉय-क्रशिंग यॉर्कर्स, धीमी गेंदें या बाउंसर, मलिंगा ने इन सबमें पूर्ण महारत हासिल की है। हालांकि, वह टेस्ट में प्रभावी नहीं रहे हैं, लेकिन इसके विपरीत वह टी-20 जैसे क्रिकेट के फटाफट प्रारूप में एक महान खिलाड़ी बन कर उभरे हैं। वर्तमान में, इस प्रारूप में मलिंगा सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ हैं और उन्होंने 6.87 की अविश्वसनीय इकोनॉमी रेट के साथ 348 विकेट लिए हैं। #11. उमर गुल (पाकिस्तान) उमर गुल इस टीम में शामिल होने वाले आखिरी खिलाड़ी हैं। हालाँकि, यह हर किसी टीम के लिए एक आश्चर्यजनक विकल्प हो सकता है लेकिन जब टी -20 क्रिकेट की बात आती है, तो गुल सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों की सूची में शीर्ष स्थान पर है। गुल की सटीक और विविधतापूर्ण गेंदबाज़ी उन्हें इस सूची में स्थान दिलाती है। जब गेंद पुरानी हो जाती है, तब उनके तेज़ रिवर्स स्विंगिंग यॉर्कर्स को संभालना बहुत मुश्किल होता है, यही कारण है कि वह डेथ ओवरों के सबसे अच्छे खिलाड़ी हैं। गुल ने टी-20 प्रारूप में कई रिकार्ड अपने नाम किये हैं, उन्होंने 7.45 की इकोनॉमी रेट से 202 विकेट लिए हैं। उनका योगदान पाकिस्तान टीम के लिए अमूल्य रहा है और उन्होंने 2009 के टी-20 विश्वकप में अपनी टीम की खिताबी जीत में अहम भूमिका थी। लेखक: प्रथमेश पाटिल अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now