Create
Notifications

मुंबई इंडियन्स में शामिल हुए कृष्णप्पा गौतम के बारे में जो भी आप जानना चाहते हैं

विवेक निगम
visit

कर्नाटक के ऑलराउंडर और अनकैप्ड भारतीय खिलाड़ी कृष्णप्पा गौतम ने बैंगलोर में सोमवार को संपन्न 2017 इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) नीलामी में सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। मुंबई आधारित फ्रैंचाइज़ी मुंबई इंडियन्स ने खूब मशक्कत के बाद कर्नाटक के खिलाड़ी को दो करोड़ रुपए में खरीदकर अपनी टीम में शामिल किया। ऑफ़स्पिन ऑलराउंडर ने रणजी ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन किया था, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल ही में संपन्न अभ्यास मैच में दमदार प्रदर्शन का उन्हें संभवतः लाभ मिला। 28 वर्षीय गौतम को युवा प्रतिभा कहना मुश्किल होगा, लेकिन वह अनकैप्ड भारतीय खिलाड़ियों की तुलना में काफी अनुभवी हैं। 30 लाख का आधार मूल्य रखने वाले गौतम को खरीदने के लिए मुंबई इंडियन्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच जोरदार टक्कर हुई। आईए आपको कृष्णप्पा गौतम के बारे में 5 ऐसी चीजें बताएं जो शायद ही आपको पता हो :


5) हरभजन सिंह को मानते हैं आदर्श

कृष्णप्पा गौतम का एक्शन बिलकुल वैसा है, जैसा हरभजन सिंह अपने शुरुआती करियर में करते थे। गौतम को 2008 में ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे पर मेहमान टीम के बल्लेबाजों को अभ्यास कराने का मौका मिला था क्योंकि उनका एक्शन बिलकुल हरभजन सिंह जैसा था। जहां उनके गेंदबाजी एक्शन में बदलाव आया है वहीं उनकी प्रेरणा आज भी महान भारतीय स्पिनर ही हैं। कर्नाटक के ऑफ़स्पिनर हरभजन सिंह जैसी दूसरा नहीं डाल पाते, लेकिन उनके पास काफी मिश्रण उपलब्ध हैं। जब वह अपना एक्शन बदल रहे थे, तब कई नई चीजें सीखी और अब बिलकुल नए गेंदबाज बन चुके हैं।


4) इरापल्ली प्रसन्ना से जुड़े

गौतम को कर्नाटक राज्य क्रिकेट एसोसिएशन (केएससीए) द्वारा आयोजित कैंप के लिए चुना गया जहां उन्हें महान भारतीय स्पिनर इरापल्ली प्रसन्ना से मिलने का मौका मिला। यह कैंप करीब 20 दिन का था, जिसमें गौतम को प्रसन्ना के साथ काफी काम करने का मौका मिला। ऑफ़स्पिनर हमेशा प्रसन्ना के साथ कैंप में बिताए समय को याद करते हैं और महान स्पिनर द्वारा मिली टिप्स को अपनी नोटबुक में लिख भी रखा है। पूर्व भारतीय स्पिनर ने गौतम से उनके रन-अप के संबंध में बात की थी, जो कि कर्नाटक के स्पिनर के करियर में मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ। गौतम को याद है कि प्रसन्ना ने ने उन्हें बल्लेबाज को बोल्ड करने के लिए कहा था, जिससे बल्लेबाज को LBW और स्लिप में कैच आउट करने की संभावना भी बहुत बन जाती थी।


3) कर्नाटक टीम के लिए लंबा इंतजार

गौतम अंडर-15 जोनल टूर्नामेंट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज थे, लेकिन कर्नाटक का प्रतिनिधित्व करने के लिए उन्हें अंडर-22 वर्ग में पहुंचने तक का इंतजार करना पड़ा। ऑलराउंडर इस समय को अपने क्रिकेट करियर का सबसे कठिन समय मानकर याद करते हैं। इन 6-7 वर्षों में गौतम ने कभी हार नहीं मानी और अपनी गेंदबाजी पर कड़ी मेहनत रखना जारी रखा। वह एक क्रिकेटर के रूप में काफी पर परिपक्व हुए। लगातार फिटनेस ट्रेनिंग और अभ्यास सत्रों की मदद से उन्हें कर्नाटक की तरफ से डेब्यू करने का मौका मिला। बंगाल के खिलाफ उन्होंने मैच में चार विकेट लिए और अर्धशतकीय पारी भी खेली, जिसकी मदद से उनकी टीम जीतने में कामयाब रही। उनके लिए 2016-17 कर्नाटक प्रीमियर लीग का सत्र भी शानदार रहा जहां उन्होंने 5.58 की इकॉनमी से 11 विकेट चटकाए।


2) 2016-17 रणजी ट्रॉफी सत्र में शानदार वापसी

कर्नाटक प्रीमियर लीग में शानदार प्रदर्शन की बदौलत गौतम को रणजी ट्रॉफी टीम में शामिल किया गया। उन्होंने अपनी वापसी पर शानदार प्रदर्शन करते हुए झारखंड के खिलाफ 97 रन देकर तीन विकेट लिए। कर्नाटक के गेंदबाजी कोच मंसूर अली खान की टिप कि विकेट पर तेड़ा जाने के बजाय सीधा जाओ का असर गौतम को मिला। इसके बाद उन्होंने दिल्ली के खिलाफ पांच विकेट लिए जबकि असम के खिलाफ 108/7 करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। गौतम मौजूदा रणजी सत्र में कर्नाटक के सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। उन्होंने तीन मैचों में कुल 18 विकेट चटकाए हैं। हाल ही में किए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को देखते हुए मुंबई इंडियन्स ने गौतम को बड़ी बोली लगाकर अपनी टीम में शामिल किया।


1) ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच में किया जोरदार प्रदर्शन

वापसी के बाद गौतम ने गेंद के साथ शानदार प्रदर्शन किया है। मगर भारतीय दौरे पर आई ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच में ऑफ़स्पिनर ने बल्ले से कमाल का प्रदर्शन किया। श्रेयस अय्यर के साथ बल्लेबाजी करते हुए गौतम ने 68 गेंदों में 74 रन की शानदार पारी खेली। इनमें से 64 रन सिर्फ बाउंड्री से आए। ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज गेंदबाज नाथन लायन की गेंदों पर गौतम ने चार गगनचुंबी छक्के जमाए। गौतम ने श्रेयस के साथ सातवें विकेट के लिए 138 रन की शतकीय साझेदारी की जो कि पूरे मैच की दूसरी सर्वश्रेष्ठ साझेदारी थी। उनकी इस पारी में आक्रमकता की झलक भी दिखाई दी थी, जिसको देखते हुए उन्हें आईपीएल में खरीदने के लिए जोरदार टक्कर देखने को मिली।


Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now