Create

भारतीय टीम का वह क्रिकेटर जिसने वनडे डेब्यू से पहले UPSC क्लियर किया था

अमय खुरासिया बतौर क्रिकेटर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ज्यादा सफल नहीं हुए
अमय खुरासिया बतौर क्रिकेटर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ज्यादा सफल नहीं हुए

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) के एग्जाम को भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है। इसे आम भाषा में IAS की परीक्षा भी कहते हैं। हर साल लाखों की संख्या में विद्यार्थी इस परीक्षा में भाग लेते हैं और इसे पास करना का सपना देखते हैं लेकिन उनमें से कुछ को ही इसमें सफलता हासिल होती है। हालांकि बात की जाए क्रिकेट के खिलाड़ियों की तो इस क्षेत्र में खिलाड़ी क्रिकेट के कारण बहुत अधिक पढाई नहीं कर पाते हैं लेकिन आज हम आपको एक ऐसे भारतीय (Indian Cricket Team) खिलाड़ी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने अपने अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू से पहले ही यूपीएससी की परीक्षा को पास कर लिया था।

हम बात करने जा रहे हैं पूर्व भारतीय खिलाड़ी अमय खुरासिया (Amay Khurasiya) की। खुरासिया का जन्म 18 मई, 1972 को मध्यप्रदेश के जबलपुर में हुआ था। इस खिलाड़ी ने महज 17 साल की ही उम्र में घरेलू क्रिकेट में डेब्यू कर लिया था लेकिन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर डेब्यू करने से पहले ही सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक यूपीएससी को क्लियर कर लिया था। मौजूदा समय में खुरासिया कस्टम्स और सेंट्रल एक्साइस डिपार्टमेंट में कार्यरत हैं।

खुरासिया ने भारत के लिए अपने करियर की शुरुआत 1999 में की थी। 1999 में खेले गए पेप्सी कप में श्रीलंका के खिलाफ धमाकेदार डेब्यू किया था। अमय खुरासिया ने अपने डेब्यू मैच में ही नंबर 5 पर बल्लेबाजी करते हुए महज 45 गेंदों में 4 चौके और दो छक्के लगाते हुए 57 रन बनाये और भारत को श्रीलंका के खिलाफ एक बड़ा स्कोर खड़ा करने में अहम भूमिका निभाई।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शानदार शुरुआत को कायम नहीं रख पाए अमय खुरासिया

अमय खुरासिया डेब्यू के बाद छाप छोड़ने में नाकाम रहे
अमय खुरासिया डेब्यू के बाद छाप छोड़ने में नाकाम रहे

अमय खुरासिया ने डेब्यू तो शानदार तरीके से किया लेकिन आगे खेली गयी अपनी पारियों में वह प्रभाव छोड़ने में नाकाम रहे और इसी वजह से इनके अंतर्राष्ट्रीय करियर का समापन भी जल्दी ही हो गया। खुरासिया ने भारत के लिए मात्र 12 वनडे मैच खेले और केवल 149 रन बनाए।

हालांकि घरेलू स्तर पर खेलते हुए जरूर इन्होंने सफल करियर बनाया। मध्यप्रदेश के लिए इन्होंने 119 फर्स्ट क्लास मैचों में 40.80 की औसत से 7304 रन बनाये। इसके अलावा 112 लिस्ट ए मैचों में 38.06 की औसत से 3768 रन बनाये।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment