Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

महेंद्र सिंह धोनी के नाम पर ठगी का शिकार हुई अमेरिकी महिला

71   //    03 Sep 2018, 06:48 IST

मशहूर हस्तियों को उनके प्रशंसक सिर आँखों पर बिठाते हैं। लोग हर उस बात पर आंखें मूदकर विश्वास कर लेते हैं जिसके साथ किसी मशहूर व्यक्ति का नाम जुड़ा होता है। ऐसा ही एक वाकया महेंद्र सिंह धोनी की एक प्रशंसक के साथ भी हुआ है। बिहार से ताल्लुक रखने वाले एक व्यक्ति ने पूर्व कप्तान धोनी का नाम लेकर एक महिला को ठगी का शिकार बनाया है।

बिहार के एक शख्स द्वारा अमेरिकी महिला से 60 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। हिंदी अखबार अमर उजाला में छपी खबर के मुताबिक बिहार के इस शख्स ने भारतीय मूल की अमेरिकी महिला से दावा किया कि वह उस कंपनी का मालिक है, जिसका प्रचार भारतीय टीम  के पूर्व कप्तान एम एस धोनी करते हैं। धोनी की लोकप्रियता विश्वभर में है और इसे जानकर वह महिला भी बिहार के व्यक्ति के झांसे में आ गईं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बिहार के शख्स का नाम ज्योति रंजन पता चला है। ज्योति ने महिला को बताया कि वह टेक्नोलॉजी कंपनी का मालिक और एक सफल व्यवसायी है। इस बीच ज्योति रंजन और महिला के बीच प्यार परवान चढ़ा, जहां बिहार के व्यक्ति ने शादी करने का झूठा वादा भी किया।

ज्योति ने इस तरह महिला से करीब 60 लाख रुपए ठग लिए और इसकी सच्चाई तब निकलकर सामने आई जब बिहार के आदमी ने और भी पैसों की मांग महिला के सामने रखी। महिला को लगा कि कुछ गड़बड़ है। उसने पता किया तो जानकारी मिली कि ज्योति किसी कंपनी का मालिक नहीं है। इंटीलीवर टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी महज़ एक झूठ है और धोनी का दूर-दूर तक इससे कोई वास्ता नहीं है।अमेरिका में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर काम करने वाली इस  महिला ने बताया कि उसने ज्योति पर पूरी तरह से भरोसा किया था , वह मुझसे मिलने अमेरिका भी आ चुका है। यहाँ तक कि उसने मुझे झांसे में लेने के लिए अपनी झूठी उपलब्धियों की समाचार प्रवष्टि भी दिखाई थी।

ज्योति रंजन नाम के इस आदमी ने जब महिला से और अधिक रकम की मांग की तो महिला को शक हुआ।  महिला ने पटना मनु महाराज के एसएसपी के पास अपनी शिकायत दर्ज की, जिसके आधार पर पटना के राजीव नगर थाने में एफआईआर दर्ज की गई। जिसके बाद  खोजबीन में निकली पुलिस ने ज्योति को राजीव नगर से हिरासत में ले लिया है।

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...