भारत के पहले गुलाबी गेंद वाले डे-नाइट मैच में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बने अरिंदम घोष

कोलकाता के एतिहासिक ईडन गार्डेन्स पर चल रहे चार दिवसीय सीएबी सुपर लीग फ़ाइनल के तीसरे दिन सोमवार को मोहन बगान के बल्लेबाज अरिंदम घोष ने भोवानीपोर के खिलाफ गुलाबी गेंद से भारत में पहला शतक लगाने का कारनामा किया। रणजी ट्रॉफी में रेल्वे का प्रतिनिधित्व करने वाले घोष ने रोशनी में 125 रन की बेहतरीन पारी खेली। घोष ने शतक से एक दिन पहले मोहम्मद शमी ने गुलाबी गेंद की जमकर तारीफ करते हुए पांच विकेट लिए थे। भारतीय अंडर-19 टीम के पूर्व बल्लेबाज घोष ने दूसरे दिन के अपने स्कोर 49 रन से पारी आगे बढ़ाई। उन्होंने गर्मी और उमस के बीच दमदार बल्लेबाजी करते हुए मोहन बगान को दूसरी पारी में 88.1 ओवर में 349 रन के स्कोर पर पहुंचा दिया। इस तरह भोवानीपोर को 496 रन का लक्ष्य मिला। घोष ने ऑफ-स्पिनर रितिक चैटर्जी की गेंद पर लॉन्ग ऑन के ऊपर से छक्का जड़कर शतक पूरा किया। उन्होंने चायकाल से तीन ओवर पहले 225 गेंदों की अपनी पारी में 11 चौको और पांच छक्कों की मदद से सेंचुरी पूरी की। घोष ने क्रीज़ पर 5 घंटे और 9 मिनट तक समय बिताया। बगान के बल्लेबाज ने बल्लेबाजी को आसान बनाते हुए अनुस्तूप मजूमदार (39) के साथ 84 रन की साझेदारी की। इसके बाद उन्होंने संजीब सनयल के साथ 75 रन की उम्दा साझेदारी की। भोवानीपोर की तरफ से आयन भट्टाचार्य ने 96 रन देकर 6 विकेट लिए। जवाब में भोवानीपोर की टीम 35 ओवर में 6 विकेट पर 135 रन बनाकर संघर्ष कर रही थी।

Edited by Staff Editor