Create

टीम का सलामी बल्लेबाज होने के नाते मुझे हर बार अच्छी शुरूआत दिलानी होती है: रोहित शर्मा

इस साल चोट के बाद जबरदस्त वापसी करने वाले भारतीय टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा ने कई शानदार पारियां खेली है और कल ऑस्टेलिया के खिलाफ हुए आखिरी एकदिवसीय में दमदार शतक लगाने के बाद टीम के सलामी बल्लेबाज ने अपने प्रदर्शन को लेकर बात की। मैच के बाद रोहित ने कहा, "टीम का सलामी बल्लेबाज होने के नाते यह मेरी जिम्मेदारी है कि मैं टीम को अच्छी शुरूआत दिलाऊं। अगर हमें मैच जीतना है, तो टीम को नींव देने की पूरी जिम्मेदारी हमारी ही होती है। मैने बस अपना स्वाभाविक खेल खेला और मैं आगे भी ऐसे ही खेलना जारी रखने वाला हूं।" मासपेशियों की चोट से उबरने के बाद रोहित ने पहला टूर्नामेंट आईपीएल खेला था, लेकिन उसके बाद चैंपियंस ट्रॉफी में भी उनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा था। हालांकि उन्हें इसके बाद वेस्ट इंडीज के साथ हुई सीरीज के लिए आराम दे दिया गया था। इसके बाद उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ हुई एकदिवसीय सीरीज में वापसी करते हुए दो लगातार शतक और एक अर्धशतक लगाया था और हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के साथ खत्म हुई सीरीज में भी उन्होंने 2 अर्धशतक और 1 शतक लगाया, साथ ही में वो सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज भी थे। भारत के लिए इस सीरीज में सलामी बल्लेबाजों ने शानदार काम किया और मुंबई के दोनों बल्लेबाजों ने लगातार तीन शतकीय साझेदारी करते हुए टीम को शानदार शुरूआत दिलाई। शिखर धवन की गैर मौजूदगी में अजिंक्य रहाणे के साथ पारी की शुरूआत करने को लेकर रोहित ने कहा, "हमने एक साथ मुंबई के लिए काफी क्रिकेट साथ खेली है। हम मैदान के बीच में काफी बातचीत करते हैं कि हमें कब रिस्क लेना है और कब नहीं। रहाणे के लिए यह सीरीज काफी अच्छी रही और उन्होंने नई गेंद को भी अच्छे से खेला।" टीम की बेंच स्ट्रैंथ को विश्व की सबसे शानदार बेंच स्ट्रैंथ कहे जाने को लेकर रोहित ने कहा," मैं इसको लेकर ज्यादा कुछ नहीं कह सकता हूं। मुझे टीम में सिर्फ 10 साल ही हुए हैं।" हालांकि रोहित ने इस बात को जरूर कबूर किया कि भारतीय टीम के पास खिलाड़ियों का अच्छा पूल है और जिस भी खिलाड़ी को मौका मिल रहा है वो उसको हाथ से नहीं जाने दे रहा। भविष्य को देखते हुए यह टीम के लिए काफी अच्छी खबर भी है। रोहित शर्मी ने अपनी टीम के गेंदबाजों की भी सराहना करते हुए कहा, "इस सीरीज में हमारे लिए जितने भी गेंदबाज खेले, वो विकेट लेने के इरादे से ही आए थे। ऑस्ट्रेलिया को 242 रनों पर रोकना आसान नहीं था, गेंदबाजों ने इस पूरी सीरीज में शानदार काम किया।" इसके अलावा रोहित ने नागपुर की धीमी विकेट पर खेलने को काफी चुनौतीपूर्ण भी बताया। भारतीय टीम अब 7 अक्टूबर से शुरू होने वाली टी20 सीरीज पर होगी।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment