Create

'मेरी चोट ने मुझे वर्ल्ड कप फाइनल में नहीं खेलने दिया'

Pakistan v India - 2011 ICC World Cup Semi-Final
Pakistan v India - 2011 ICC World Cup Semi-Final
Naveen Sharma

भारत (India) के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा (Ashish Nehra) 2011 के विश्व कप के फाइनल में उंगली के फ्रेक्चर के कारण खेलने से चूक गए, लेकिन उन्हें मुंबई की यात्रा करने से नहीं रोका गया और भारत ने अपना दूसरा विश्व कप खिताब जीतकर इतिहास रच दिया। आशीष नेहरा ने फाइनल में नहीं खेलने के कारण के बारे में बात करते हुए कहा कि मेरी चोट ने मुझे खेलने से रोक दिया।

नेहरा ने न्यूज 18 से बातचीत करते हुए कहा कि मुझे फाइनल से 48 घंटे पहले पता चला कि मैं नहीं खेल रहा हूँ। जब मैंने चंडीगढ़ छोड़ा, तो मैंने यही सोचा था कि मैं फाइनल में खेल पाऊंगा लेकिन मेरा हाथ इतना बड़ा हो गया कि उसे सर्जरी की जरूरत थी। उस समय तक मेरे पास पर्याप्त अनुभव था, मैं 32 की उम्र के पास था, और मैं इससे पहले (2003 में) विश्व कप का भी हिस्सा था।

आशीष नेहरा का पूरा बयान

आशीष नेहरा ने यह भी कहा कि मैं वर्ल्ड कप फाइनल नहीं खेल पाया और अब रोने का कोई मतलब नहीं है। मैं जिस तरह भी टीम की मदद पर पाया, मैंने की। मुझे पता था कि मैं मैदान के अंदर नहीं जा सकता। मुझे पता था कि मैं फील्डिंग नहीं कर सकता। कम से कम मैं खिलाड़ियों को पानी परोस सकता था। मै चला गया।

2011 ICC World Cup Semi-Final Preview - India v Pakistan
2011 ICC World Cup Semi-Final Preview - India v Pakistan

नेहरा मोहाली में पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में प्लेइंग इलेवन का हिस्सा थे, लेकिन मैच के दौरान उनकी उंगली में चोट लग गई। वह विश्व कप की विजेता टीम के एक महत्वपूर्ण सदस्य थे और जहीर खान और मुनाफ पटेल की तेज गेंदबाजी विभाग में उनकी भी अहम भागीदारी दी। आशीष नेहरा 2003 में भी वर्ल्ड कप फाइनल में खेले थे लेकिन दुर्भाग्य से उस समय भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के सामने हार का सामना करना पड़ा था।


Edited by Naveen Sharma

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...