Create

आशीष नेहरा ने बताया उन्हें अपने करियर में किस चीज का सबसे ज्यादा दुख रहा

तेज गेंदबाज अशीष नेहरा अपने लंबे करियर के बाद एक नवंबर को संन्यास ले लेंगे। न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 मैच उनका आखिरी अंतर्राष्ट्रीय टी20 मैच होगा। ये मैच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में खेला जाएगा। 1999 में डेब्यू करने के बाद से लेकर अब तक आशीष नेहरा ने कई मौकों पर अपनी गेंदबाजी से भारतीय टीम को जीत दिलाई है। 2003 विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ उनकी घातक गेंदबाजी को भला कौन भुला सकता है, जब उन्होंने शानदार गेंदबाजी करते हुए 6 विकेट चटकाए थे। लेकिन नेहरा को इसी विश्व कप के फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के हाथों मिली हार का बहुत मलाल है। उन्होंने कहा है कि अपने 20 साल के लंबे कैरियर में उन्हें बस इसी बात का दुख रहा है। नेहरा ने कहा कि ' काफी अच्छा सफर रहा लेकिन शायद एक बात का दुख रहेगा। वो ये कि 20 साल के इस करियर में अगर 2003 विश्व कप के फाइनल में मैं भारतीय टीम के लिए चीजों को बदल पाता। खैर ये सब किस्मत की बात है। नेहरा ने आगे कहा कि मैं ज्यादा भावुक इंसान नहीं हूं। जिस तरह 20 साल से अब तक मेरी जिंदगी शानदार रही है उम्मीद है इसी तरह से आगे भी रहेगी। अपनी कोचिंग में भारतीय टीम को 2011 का विश्व कप दिलाने वाले गैरी कस्टर्न की भी नेहरा ने काफी तारीफ की। उन्होंने कस्टर्न और धोनी की जुगलबंदी को शानदार बताया। आशीष नेहरा ने बातचीत के दौरान कई मुद्दों पर खुलकर बात की और अपने पुराने दिनों की यादें साझा की। उन्होंने अपने करियर के यादगार लम्हों के बारे में बताया। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली, टीम के कोच रहे ग्रेग चैपल को लेकर भी उन्होंने अपनी राय रखी। कल भारत और न्यूजीलैंड के बीच शाम 7 बजे से फिरोज शाह कोटला मैदान में टी20 मैच खेला जाएगा। भारतीय टीम जीत के साथ नेहरा को विदाई देने की कोशिश करेगी।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment