Create
Notifications

AUS vs IND - 2 बड़े बदलाव जो भारतीय टीम को दूसरे वनडे मुकाबले के लिए करना चाहिए

मनीष पांडे
मनीष पांडे
सावन गुप्ता
visit

भारतीय टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे की शुरुआत निराशाजनक प्रदर्शन के साथ हुई है। भारत को सिडनी में खेले गए मुकाबले में बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 374/6 का विशाल स्कोर बनाया, जिसके जवाब में भारतीय टीम 308/8 का स्कोर ही बना सकी।

इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिंच ने 117 गेंदों में अपना 17वां वनडे शतक लगाया और साथ ही 5000 रन भी पूरे किये। स्टीव स्मिथ ने सिर्फ 62 गेंदों में अपना 10वां वनडे शतक पूरा किया और टीम को 370 के पार पहुंचाया। स्मिथ ने 66 गेंदों में 11 चौके और 4 छक्कों की मदद से 105 रन बनाये। जवाब में भारतीय टीम की शुरुआत तो काफी शानदार रही लेकिन 104 रन तक टीम ने 4 विकेट गंवा दिए। हार्दिक पांड्या ने 90 और शिखर धवन ने 74 रनों की पारी जरुर खेली लेकिन टीम को जीत नहीं दिला पाए।

भारतीय टीम ने इस मुकाबले में काफी गलतियां की और खासकर फील्डिंग काफी खराब रही। अब अगर टीम को ये सीरीज जीतनी है तो फिर उन्हें अगले दोनों मुकाबले जीतने पड़ेंगे। हालांकि उसके लिए जरुरी है कि टीम में कुछ अच्छे बदलाव हों। हम आपको इस आर्टिकल में बताते हैं कि वो कौन-कौन से 2 बदलाव हैं जो भारतीय टीम को अगले मुकाबले के लिए करना चाहिए।

ये भी पढ़ें: रोहित शर्मा और विराट कोहली के बीच कम्यूनिकेशन की कमी को लेकर आशीष नेहरा ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

2 बदलाव जो भारतीय टीम को दूसरे वनडे मुकाबले के लिए करना चाहिए

1.श्रेयस अय्यर की जगह मनीष पांडे

मनीष पांडे
मनीष पांडे

श्रेयस अय्यर एक जबरदस्त बल्लेबाज हैं और काफी टैलेंटेड हैं, इसमें कोई शक नहीं है। लेकिन ऑस्ट्रेलियाई पिचों पर सफल होने के लिए उन्हें अभी भी तैयारी करनी होगी। पहले वनडे मुकाबले में उनके क्रीज पर आते ही कंगारू टीम ने शॉर्ट गेंद का प्रयोग किया और वो उस गेंद पर आउट हो गए।

श्रेयस अय्यर के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज इस रणनीति का प्रयोग करेंगे। इसलिए अच्छा यही होगा कि उनकी जगह मनीष पांडे को मौका दिया जाए, जो इससे पहले भी ऑस्ट्रेलिया में खेल चुके हैं और अच्छा प्रदर्शन भी कर चुके हैं।

2016 में सिडनी में खेले गए वनडे मुकाबले में मनीष पांडे ने ही शानदार शतकीय पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई थी। दूसरा वनडे मुकाबला भी सिडनी में ही है, ऐसे में जब किसी मैदान पर एक प्लेयर का परफॉर्मेंस अच्छा रहता है तो फिर उसका कॉन्फिडेंस भी काफी अच्छा रहता है। इसलिए भारतीय टीम को मनीष पांडे को मौका देना चाहिए।

ये भी पढ़ें: 3 बड़े बदलाव जो पिछले 25 सालों में भारतीय टीम में आए

2.रविंद्र जडेजा की जगह कुलदीप यादव

कुलदीप यादव
कुलदीप यादव

रविंद्र जडेजा थ्रीडी प्लेयर हैं। वो बैटिंग, बॉलिंग और फील्डिंग तीनों करने में सक्षम हैं। खासकर मैदान में उनकी फील्डिंग काफी लाजवाब रहती है, लेकिन पहले वनडे मुकाबले के बाद अब शायद भारतीय टीम को एक विकेटटेकिंग गेंदबाज की जरुरत है।

रविंद्र जडेजा ने इस मुकाबले में रन तो कम जरुर दिए लेकिन विकेट निकालने में सफल नहीं रहे। ऐसे में भारतीय टीम को अब अपनी पुरानी जोड़ी को मैदान में वापस लाने की जरुरत है। कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की जोड़ी को मौका दिया जाना चाहिए। युजवेंद्र चहल तब ज्यादा सफल रहते हैं जब कुलदीप यादव दूसरे पर उनके साथ होते हैं।

इस जोड़ी की खास बात है कि ये मिडिल ओवर्स में विकेट निकालते हैं जिससे विरोधी टीम बड़ा स्कोर नहीं बना पाती है। ऐसे में भारत को जडेजा की जगह कुलदीप यादव को मौका देना चाहिए।

Edited by सावन गुप्ता
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now