पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क और मार्क टेलर ने डीआरएस की निंदा की

wwsports-1478495192-800

लगातार विवादों में चल रहे डीआरएस सिस्टम में एक बार फिर से गर्माहट आ गई है। इस बार डीआरएस के फैसले पर दो पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भड़के और जमकर इसकी निंदा की। बात अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रहे पहले टेस्ट मैच की है जब मिचेल मार्श को डीआरएस के फैसले के बाद आउट करार दिया गया। बात ऑस्ट्रलिया की दूसरी पारी की है जब मेज़बान के सामने 539 रनों का विशाल लक्ष्य था और टीम कमज़ोर स्थिति में थी। मार्श उस समय 26 रन पर बल्लेबाज़ी कर रहे थे जब रबाडा की एक गेंद पर एलबीडबल्यू की अपील हुई और फील्ड अम्पायर ने उसे नकार दिया। अम्पायर के नकारने के बाद अफ़्रीकी कप्तान डू प्लेसी ने रिव्यु लिया और फिर थर्ड अम्पायर ने डीआरएस की मदद से मार्श को आउट करार दिया। मार्श के इस फैलसे पर ऑस्ट्रेलिया पूर्व खिलाड़ी माइकल क्लार्क और मार्क टेलर काफी निराश हुए और उन्होंने इस डीआरएस की निंदा की। क्लार्क ने मार्श को काफी बदकिस्मत बताया कि फैलसा उनके खिलाफ गया। “मैं काफी सहमत हूं कि गेंद लेग स्टम्प को छोड़ती हुई निकला रही थी, जब आप इसे रीप्ले में देखेंगे तो आपको साफ़ पता चल जायेगा कि गेंद विकटों से काफी बाहरी जा रही थी”: माइकल क्लार्क क्लार्क उस समय कॉमेंट्री कर रहे थे और उनके साथ मार्क टेलर भी उसी कॉमेंट्री बॉक्स में बैठे थे, जो कि क्लार्क के साथ थे और इस फैसले से बेहद नाराज़ भी नज़र आरहे थे। बल्कि जब ये दोनों खिलाड़ी कॉमेंट्री कर रहे थे और इसका रीप्ले दिखाया जा रहा था तो इन्होंने रीप्ले के दौरान नॉट आउट का इशारा कर रहे थे। बहारहाल, दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच सोमवार को पहला टेस्ट मैच ख़त्म हुआ। मेहमान अफ्रीका ने इस मैच को जीत के साथ ख़त्म किया तो सीरीज़ को जीत के साथ शुरू। अफ्रीका की इस जीत में कई सारे हीरो रहे पर एक खिलाड़ी ऐसा भी था जिसने बल्ले, गेंद और अपनी फील्डिंग से सभी का दिल जीत लिया। इसी के साथ पर्थ में चल रहे पहले टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को 177 रनों से हरा दिया। इस जीत के साथ दक्षिण अफ्रीका ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त भी हासिल कर ली है।