ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड ने तीन खिलाड़ियों को मैच फ़िक्सिंग के आरोप में किया प्रतिबंधित

माना जाता है कि क्रिकेट की दुनिया में नियम और कानून बहुत मायने रखते हैं। अगर ये नहीं तो क्रिकेट का कोई महत्व नहीं रह जाता। हालांकि ये सब चीज़ें क्रिकेट को और भी मज़ेदार बनाती हैं पर कई बार ऐसा भी होता है कि इनकी वजह से कई खिलाड़ियों को अपना करियर डूबता भी नज़र आता है। क्रिकेट जगत में नियम और कानून सबसे बड़ी चीज़ होती है जिसका उल्लंघन कोई चाह कर भी नहीं कर सकता। मगर कोई इसका उल्लंघन करते हुए पाया जाता है तो उसे उसका दंड भी मिलता है या फिर उसमें सुधार करने का मौका भी। पर मामला अगर मैच फिक्सिंग का हो तो वैसे खिलाड़ियों पर सख़्त कारवाई की जाती है जैसा कि ऑस्ट्रेलियन बोर्ड ने अपने इन तीन खिलाड़ियों पर किया। ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट बोर्ड ने अपने दो खिलाड़ियों पर मैच फिक्सिंग के आरोप में प्रतिबंध लगायाा है, जबकि एक और तीसरे क्रिकेटर को सट्टेबाज़ी के आरोप में दोषी पाये जाने पर निलंबित कर दिया है। हेले जेन्सन और कौरिन हॉल जो नेशनल विमेंस लीग और विमेंस डोमेस्टिक टी20 टूर्नामेंट में खेलती हैं, इनपर 2 साल का प्रतिबंध और 18 महीनों का निलंबन लगाया गया है। जिसका खुलासा क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने मीडिया रिलीज़ में किया। जेन्सन ने कबूल किया है कि नवंबर में ब्रिस्बेन में हुए ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच मेन्स टेस्ट मैच के नतीजे पर उन्होंने सट्टा लगाया था। वहीं दूसरी ओर हॉल ने 2015-16 में हुए मेन्स डोमेस्टिक के 2 मैचों में सट्टेबाजी की थी। साथ ही साथ इन दोनों खिलाड़ियों को क्रिकेट के किसी भी प्रोग्राम से छह महीने तक दूर रहने का भी निर्देश दिया गया है। तीसरे खिलाड़ी हैं जोल लोगन जो साउथ ऑस्ट्रेलिया के लिए मेन्स डोमेस्टिक क्रिकेट खेलते हैं, लोगन पर वर्ल्ड टी20 के फ़ाइनल मैच में सट्टेबाजी करने का आरोप है।

App download animated image Get the free App now