Create

"कभी आप बस चिल्‍लाना चाहते हैं": यॉर्कशायर में नस्‍लभेद का शिकार हुए खिलाड़ी का बयान

अजीम रफीक ने यॉर्कशायर क्‍लब में नस्‍लीय टिप्‍पणी झेलने के आरोप लगाए थे
अजीम रफीक ने यॉर्कशायर क्‍लब में नस्‍लीय टिप्‍पणी झेलने के आरोप लगाए थे

यॉर्कशायर (Yorkshire Cricket Club) के पूर्व क्रिकेटर अजीम रफीक (Azeem Rafiq) ने नस्‍लवाद का सामना करने और धमकी मिलने का आरोप लगाया था। काउंटी टीम द्वारा इस मामले से संबंधित बयान जारी करने के बाद वह स्‍तब्‍ध रह गए।

बयान में ध्‍यान दिलाया गया कि रफीक के खिलाफ टीम के सदस्‍यों के एक्‍शन के लिए किसी पर अनुशासनात्‍मक कार्रवाई नहीं की गई। क्‍लब ने बयान के साथ ट्वीट किया, 'यॉर्कशायर काउंटी क्रिकेट क्लब को इस साल अगस्त में स्वतंत्र पैनल द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद से की गई कार्रवाई की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है।'

इस पर जवाब देते हुए अजीम ने ट्वीट किया, 'यहां एक मिनट रुके। तो आप स्‍वीकार कर रहे हैं कि मैं नस्‍लीय उत्‍पीड़न और धमकी का शिकार था, लेकिन कोई भी अनुशासनात्‍मक कार्रवाई की गारंटी नहीं देता? कभी आप बस चिल्‍लाना चाहते हैं।' अजीम ने इंग्‍लैंड एंड वेल्‍स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) से हस्‍तक्षेप की मांग की।

Hold on a minute here So you accept I was the victim of racial harassment and bullying but no one warrants disciplinary action? Sometimes you just want to scream!!!! @ECB_cricket come on now!!! Sort this before I do!! twitter.com/yorkshireccc/s…

बयान में यॉर्कशायर सीसीसी ने लिखा, 'क्‍लब ने रिपोर्ट के बाद अपनी आंतरिक जांच भी की, जिसके बाद वो इस निष्‍कर्ष पर पहुंचे कि उसके किसी कर्मचारी, खिलाड़ी या अधिकारी के खिलाफ कोई कार्रवाई या एक्‍शन नहीं लिया जाएगा, जो अनुशासनात्‍मक एक्‍शन की गारंटी चाह रहे थे।'

क्‍लब ने आगे कहा कि अजीम के लिए मामले को उठाना जरूरी था और रिपोर्ट से उन्‍हें काफी कुछ सीखने को मिला। यॉर्कशायर ने लिखा, 'जांच के महत्‍व और इस तथ्‍य को छुपाया नहीं जा सकता कि रिपोर्ट से काफी कुछ सीखने को मिला। अजीम के लिए मामले को उठाना जरूरी था और उनके बिना ऐसा करने से हम पैनल से सिफारिश नहीं कर पाते, जो क्‍लब की लगातार यात्रा का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा रहे हैं।'

अजीम रफीक द्वारा उठाए गए मुद्दों पर विचार करेगा ईसीबी, रोजगार न्यायाधिकरण: यॉर्कशायर

यॉर्कशायर क्‍लब ने अपने बयान में कहा कि स्‍वतंत्र पैनल द्वारा मामले में देखी गई रिपोर्ट की प्रति रोजगार न्‍यायाधिकरण और ईसीबी को जमा कर दी गई है।

क्‍बल ने कहा कि वो ईसीबी के साथ अजीम रफीक द्वारा उजागर की गई चिंता की जांच में काम कर रहा है और वो विविधता के मुद्दों पर ईसीबी के साथ काम करने का इच्छुक है।

क्‍लब ने अपने बयान में लिखा, '8 अक्टूबर को चल रहे रोजगार न्यायाधिकरण की कार्यवाही के हिस्से के रूप में क्लब ने रिपोर्ट के एक संशोधित संस्करण का खुलासा करते हुए खुशी जाहिर की है। इस निष्‍कर्ष के बाद क्‍लब ने रिपोर्ट की प्रति ईसीबी को सौंप दी है और वह उनके साथ उजागर किए मामले की जांच में काम कर रहा है। क्‍लब विविधता के मुद्दों पर ईसीबी के साथ काम करने को इच्‍छुक है और उसने ईसीबी को मदद का प्रस्‍ताव दिया है जो कि पूर्ण रूप से खेल के लिए महत्‍वपूर्ण मामला है।'

CLUB STATEMENT: The Yorkshire County Cricket Club is pleased to announce the actions it has taken since they received the Report prepared by the Independent Panel in August this year.

अब यह देखना होगा कि ईसीबी अजीम रफीक द्वारा लगाए आरोपों पर कार्रवाई का फैसला लेगा, जिनमें से क्‍लब ने अधिकांश स्‍वीकार किए हैं।

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment