Create
Notifications

यॉर्कशायर क्‍लब में नस्‍लवाद का शिकार हुए अजीम रफीक ने दिया बेहद भावनात्‍मक बयान

यॉर्कशायर के पूर्व क्रिकेटर अजीम रफीक नस्‍लवाद का शिकार हुए
यॉर्कशायर के पूर्व क्रिकेटर अजीम रफीक नस्‍लवाद का शिकार हुए
Vivek Goel
FEATURED WRITER

यॉर्कशायर (Yorkshire Cricket club) के पूर्व क्रिकेटर अजीम रफीक (Azeem Rafeeq) ने भावनात्‍मक बयान जारी किया, जिसमें उन्‍होंने बताया कि जो लोग नस्‍लवाद के खिलाफ आवाज उठाते हैं, उन्‍हें सिस्‍टम ही दबाना चाहता है।

अजीम रफीक ने काउंटी यॉर्कशायर द्वारा हाल ही में स्‍वीकार किए जाने के बाद प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की कि खिलाड़ी क्‍लब में रहते हुए नस्‍लीय उत्‍पीड़न का शिकार हुआ था। पिछले महीने यॉर्कशायर ने रफीक से माफी मांगी थी।

अजीम रफीक ने ट्विटर के जरिये अपने दिल की बात बयां की। उन्होंने कहा कि उन्होंने बिना किसी अनिश्चित शब्दों के अपनी बात रखी है और यह तय करना दुनिया पर निर्भर है कि यॉर्कशायर क्लब संस्थागत रूप से नस्लवादी है या नहीं।

अजीम रफीक ने अपने बयान में कहा, 'मैं हमेशा अपने खेल के लीडस से कहता हूं, ऐसा समय आएगा जब मैं इसको बिलकुल सह नहीं पाऊंगा। इसको नहीं लेने का मतलब यह नहीं कि मैं इसे यही छोड़ दूंगा और दूर चला जाऊंगा। इसका स्‍पष्‍ट मतलब था कि आज तक हुई हर चीज दुनिया को बताई जाएगी और फिर वो फैसला करें कि यॉर्कशायर क्रिकेट क्‍लब संस्‍थागत रूप से नस्‍लवादी है या नहीं।'

मैंने अपना सर्वश्रेष्‍ठ करने की कोशिश की: अजीम रफीक

30 साल के अजीम रफीक ने कहा कि उन्‍होंने अपनी आवाज उठाने के लिए सर्वश्रेष्‍ठ प्रयास किया और नस्‍लवाद के खिलाफ मजबूती से खड़े हुए। उन्‍होंने हालांकि दावा किया कि अन्‍य पहलु भी हैं, जो बड़ी बाधा साबित हो रहे हैं।

अजीम रफीक ने कहा, 'आप सभी लोगों के लिए जो नस्लीय दुर्व्यवहार या किसी भी प्रकार के भेदभाव के शिकार हैं, मैंने आप सभी को आवाज देने की पूरी कोशिश की है। दुर्भाग्य से, सिस्टम सिर्फ हमारा गला घोंटना चाहता है और ऐसा करने के लिए सहयोगी और पैसा ढूंढता है।'

अजीम रफीक ने आगे कहा, 'मुझे नहीं पता कि क्या हमें कभी वह सम्मान मिलेगा जिसके हम हकदार हैं या हमारे साथ हमारे सफेद समकक्षों के समान व्यवहार किया जाएगा। मुझे उम्मीद है कि मैंने जो कुछ भी मुझे और मेरे परिवार को दिया है, उसका परिणाम मुझे और आपके पोते-पोतियों को यह महसूस होगा कि क्रिकेट वास्तव में सभी के लिए एक खेल है ... मैंने कर लिया है!!!'

अजीम रफीक 2001 में पाकिस्‍तान से इंग्‍लैंड जाकर बसे थे। वह ऑफ स्पिनर हैं, जिन्‍होंने 39 फर्स्‍ट क्‍लास मैचों में 72 विकेट लिए।

Edited by Vivek Goel
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now