Create
Notifications

घरेलू क्रिकेट के लिए बीसीसीआई ने मांगी राज्य संघों से राय

बीसीसीआई
बीसीसीआई
निरंजन
visit

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने 2020-21 के घरेलू सत्र के लिए चार विकल्प देकर राज्य संघों से इस बारे में उनकी राय मांगी है। बोर्ड ने राज्य संघों के सामने चार विकल्प रखे हैं और इनमे से ही किसी एक एक विकल्प चुनने को कहा है। कोविड के कारण अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के साथ -साथ भारत का घरेलू क्रिकेट भी प्रभावित रहा है। बोर्ड ने राज्य संघों के सामने केवल रणजी ट्रॉफी, केवल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी, दोनों रणजी ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी या केवल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी की मेजबानी का प्रस्ताव रखा है। इसके अलावा बीसीसीआई ने इन टूर्नामनेट के आयोजन के समय को लेकर भी राज्य संघों से राय मांगी है।

कोविड के कारण बीसीसीआई को मजबूरन घरेलू सीजन को छोटा करना पड़ रहा है। बीसीसीआई ने यह भी कहा कि वो सीजन की मेजबानी करने के लिए 6 बायो सिक्योर बबल बनाएगी और हर बबल में तीन वेन्यू होंगे। राज्य संघों का जो भी निर्णय हों इसकी जानकारी उन्हें बीसीसीआई को 2 दिसंबर तक देनी है। इसके बाद ही कोई अंतिम निर्णय लिया जायेगा। बीसीसीआई ने इन टूर्नामेंट के लिए अवधि भी निर्धारित की है। रणजी ट्रॉफी के लिए 67 दिन, वहीं सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी क्रमशः 22 और 28 दिनों के लिए निर्धारित किया गया है।

हाल ही में आईपीएल का सफल आयोजन किया था बीसीसीआई ने

इस सीजन कोरोना जैसी महामारी के कारण आईपीएल के भी रद्द होने के आसार दिख रहे थे लेकिन बीसीसीआई के सराहनीय कदम के तहत इस बार आईपीएल का सफलतापूर्वक यूएई में आयोजन हुआ। आईपीएल के सफल आयोजन के बाद अब बीसीसीआई अगले सीजन का आईपीएल भारत में ही कराने की तयारी कर रही है।

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी अगले आईपीएल सीजन के भारत में ही कराने की इच्छा जाहिर की थी। साथ ही उन्होंने जनवरी से घरेलू सीजन के भी शुरू होने के संकेत दिए थे।


Edited by निरंजन
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now