Create
Notifications

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ये हैं भुवनेश्वर कुमार की 4 बेहतरीन कहानियां

Himanshu Kothari

वर्तमान भारतीय क्रिकेट टीम में भुवनेश्वर कुमार उन खिलाड़ियों में जाने जाते हैं जो टीम के लिए क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट खेलते हैं। दांए हाथ के गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार अपनी गेंदबाजी से विरोधी बल्लेबाजों को परेशानी में डालने में माहिर हैं। वहीं भुवनेश्वर कुमार आसानी से विकेट भी झटक लेते हैं। भुवनेश्वर कुमार भारतीय गेंदबाजी क्रम में एक स्विंग गेंदबाज के तौर पर अपनी जगह बनाए हुए हैं। अपनी स्विंग गेंदबाजी की बदौलत भुवनेश्वर कुमार अच्छे-अच्छे बल्लेबाज को चकमा दे जाते हैं। भुवनेश्वर कुमार एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो गेंद के साथ ही बल्ले से भी प्रदर्शन कर सकते हैं। तेज गेंदबाजी के अलावा भुवनेश्वर कुमार ने कई अहम मौकों पर टीम के लिए शानदार बल्लेबाजी भी की है। अपने बल्लेबाजी से भुवनेश्वर कुमार ने दर्शकों को काफी प्रभावित किया है। वहीं भुवनेश्वर कुमार की बल्लेबाजी की बदौलत टीम को काफी फायदा भी हुआ है। आईए यहां जानते हैं भुवनेश्वर कुमार के जरिए खेली गई कुछ अहम पारियों के बारे में:

#4 पहला अर्धशतक और 5 विकेट हॉल, भारत का श्रीलंका दौरा (2017)

भारतीय क्रिकेट टीम ने साल 2017 में श्रीलंका का दौरा किया। इस दौरे में भुवनेश्वर कुमार ने टीम के लिए अपना अहम योगदान दिया। इस दौरे में टेस्ट मैचों में भुवनेश्वर कुमार को मौका नहीं दिया गया, लेकिन एकदिवसीय मैचों में भुवनेश्वर कुमार को टीम में जगह दी गई और इस मौके का भुवनेश्वर कुमार ने पूरी तरह से फायदा उठाया। श्रीलंका के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज के लिए भुवनेश्वर कुमार टीम के लिए काफी अहम साबित हुए। वनडे सीरीज में भुवनेश्वर कुमार खुद को स्थापित करने के लिए बेताब थे। इस सीरीज के दूसरे वनडे मैच में भुवनेश्वर कुमार ने गेंदबाजी के साथ बल्लेबाजी में भी शानदार प्रदर्शन किया। इस मैच में भुवनेश्वर कुमार ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ साझेदारी कर टीम के स्कोर को आगे बढ़ाया। इसके साथ ही उन्होंने मैच जिताऊ पारी खेलते हुए नाबाद 53 रन बनाए। इसके बाद सीरीज के तीसरे वनडे मुकाबले में भी भुवनेश्वर कुमार को टीम में शामिल किया गया। कोलंबो में खेले गए इस एकदिवसीय मुकाबले में भुवनेश्वर कुमार ने अपनी गेंदबाजी से विरोधी खेले में कहर ही बरसा दिया। अपनी तेज तर्रार गेंदबाजी के आगे भुवनेश्वर कुमार श्रीलंका के किसी भी बल्लेबाज को टिकने का मौका नहीं दे रहे थे। जिसके कारण उन्होंने इस मैच में 5 विकेट अपने नाम किए। इसके चलते उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब भी दिया गया।

#3 कैरेबियाई सरज़मीं पर कमाल (2016)

भारतीय क्रिकेट टीम ने साल 2016 में वेस्टइंडीज का दौरा किया। पिच में बाउंस होने के कारण भुवनेश्वर कुमार को शुरुआती दो टेस्ट मैचों के लिए टीम में शामिल नहीं किया गया। इसके बाद तीसरे टेस्ट मैच के लिए उन्हें टीम में जगह दी गई। इस मुकाबले में भारत ने पहली पारी में 353 रन स्कोर किए। इसके बाद इस टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल बारिश के कारण रद्द हो गया। जिसके चलते वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों में इस मैच के ड्रॉ होने की उम्मीद जग गई। वेस्टइंडीज इस मैच से पहले के मैच में हार का सामना कर चुकी थी। हालांकि, बारिश ने तो सिर्फ मैदान पर पानी फेरा था, लेकिन भुवनेश्वर कुमार ने वेस्टइंडीज की उम्मीदों पर ही पानी फेर दिया। अपने 8 ओवर के स्पेल में ही भुवनेश्वर कुमार ने अपनी गेंदबाजी से वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों को परेशानी में डाल दिया। भुवनेश्वर कुमार ने अपनी शानदार गेंदबाजी के बदौलत वेस्टइंडीज के अहम खिलाड़ियों के विकेट झटकने में कामयाबी हासिल की। इसके साथ ही उन्होंने मैच का रुख भारतीय टीम की तरफ कर दिया। इस पारी में उन्होंने अपने टेस्ट करियर का तीसरा 5 विकेट हॉल लिया। आखिर में भारत को इस मैच में जीत हासिल हुई।

#2 दुर्लभ 4-4 विकेट, श्रीलंका का भारत दौरा (2017)

साल 2017 में श्रीलंकाई क्रिकेट टीम ने भारतीय टीम का दौरा किया। एकदिवसीय क्रिकेट में शानदार वापसी के बाद भुवनेश्वर कुमार ने टेस्ट में भी दमदार प्रदर्शन किया। श्रीलंका के भारत दौरे के वक्त पहला टेस्ट मुकाबला ईडन गार्डन्स, कोलकाता के मैदान में खेला गया। जहां पिच के हालात बिल्कुल दक्षिण अफ्रीकी पिचों की तरह ही थे। हालांकि, भुवनेश्वर कुमार ने ऐसी पिच पर भी शानदार स्विंग गेंदबाजी की। पिच की स्थिति को दरकिनार करते हुए भुवनेश्वर कुमार ने श्रीलंकाई बल्लेबाजों की एक न चलने दी और उनको पैवेलियन भेजते चले गए। भुवनेश्वर कुमार ने श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के अहम बल्लेबाजों के विकेट लेने में कामयाबी हासिल की। इसके साथ ही भुवनेश्वर कुमार ने शानदार गेंदबाजी करते हुए इस मैच की दोनों पारियों में 4-4 विकेट हासिल किए। दूसरी पारी में भुवनेश्वर ने 11 ओवर किए और 4 विकेट लेकर महज 8 रन ही दिए। इस मैच के लिए भुवनेश्वर कुमार को मैन ऑफ द मैच चुना गया, लेकिन भारतीय टीम इस मैच को जीत नहीं पाई और आखिर में मुकाबला ड्रॉ पर समाप्त हुआ।

#1 जोहान्सबर्ग में ऑलराउंडर प्रदर्शन (2018)

हाल ही में भारतीय क्रिकेट टीम और दक्षिण अफ्रीका के बीच सीरीज खेली गई है। इस सीरीज में भुवनेश्वर कुमार ने शानदार प्रदर्शन किया। भारतीय टीम के दक्षिण अफ्रीका के इस दौरे के दौरान तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेली गई। हालांकि इस सीरीज को भारतीय क्रिकेट टीम ने 2-1 से गंवा दिया। तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम को शुरुआत 2 मैचों में हार का सामना करना पड़ा। पहले टेस्ट मैच के बाद भुवनेश्वर कुमार को दूसरे टेस्ट मैच के लिए ईशांत शर्मा से रिप्लेस कर दिया गया था। हालांकि, आखिरी और तीसरे टेस्ट मैच में फिर से भुवनेश्वर कुमार को टीम में जगह दी गई। जोहानसबर्ग के मैदान पर खेले गए इस टेस्ट मैच में भुवनेश्वर कुमार ने अपनी गेंदबाजी के अलावा बल्लेबाजी से भी विरोधी टीम पर हमला बोला। पहली पारी में भुवनेश्वर कुमार ने बल्लेबाजी में कमाल दिखाते हुए 30 रनों की पारी खेली। वहीं गेंदबाजी करते हुए उन्होंने 3 विकेट अपने नाम किए। इसके बाद दूसरी पारी में बल्लेबाजी करते हुए भुवनेश्वर कुमार ने एक बार फिर निचले क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए विरोधी गेंदबाजों को परेशान करके रखा। भुवनेश्वर कुमार ने आजिंक्य रहाणे के साथ मिलकर इस पारी की सबसे बड़ी साझेदारी को अंजाम दिया। दोनों खिलाड़ियों ने मिलकर 86 गेंदों में 55 रन जोड़े। इसमें भुवनेश्वर कुमार ने 33 रनों की पारी खेली। इस साझेदारी की खास बात ये रही कि इस साझेदारी में भुवनेश्वर कुमार ने सबसे ज्यादा रन बनाए और सबसे ज्यादा गेंदें खेली। भुवनेश्वर कुमार ने 76 गेंदों में 33 रन स्कोर किए। वहीं गेंदबाजी में भुवनेश्वर कुमार काफी किफायती साबित हुए। भुवनेश्वर कुमार ने 18 ओवर गेंदबाजी कर 39 रन दिए और 1 विकेट हासलि किया। इस मुकाबले में भारतीय टीम ने 63 रनों से जीत हासिल की। लेखक: हरिशंकर आर अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...