क्रिस गेल: क्या ये एक बेहतरीन टी-20 खिलाड़ी के खेल का अंत है ?

स्मैश किया है! और ये चौका। और इस बार ये गेंद स्टेडियम के बाहर जा गिरी! क्या शॉट खेला है! पुल किया है इस बार! एक और बड़ा छक्का! एक और छक्का! क्या बात, ये जबरदस्त प्रहार है। और ये फुल टॉस! ऊँचा लम्बा, गेंद लम्बे सफर पर। ये आदमी अपने मिशन पर है! और एज बार, गेंद सीमा रेखा से जा टकराई! एक बहुत बड़ा ओवर ! कौन खिलाड़ी है ये? जब वह क्रीज़ पर होते हैं, तो गेंद मैदान के भीतर कम ही नजर आती है। वह अक्सर स्टैंड्स में नजर आती है। गेंदबाज़ गेंदबाज़ी करता है और फील्डिंग दर्शक करते हैं। मैच पूरी तरह से उनके इर्दगिर्द घूमता है और पिच जैसा उनका खुद का आंगन हो। और जो दर्शक लाइव मैच को अपने टीवी पर देखते हैं। वह मानो किसी मैच का हाईलाइट देख रहे हों जिनमें सिर्फ चौके छक्के ही नजर आ रहे होते हैं। जब वह विस्फोटक पारी खेलना शुरू करते हैं, विपक्षी टीम पहले ही हार जाती है। वह रन कम दौड़ते हैं लेकिन रन ज्यादा बनाते हैं!! इस विस्फोटक बल्लेबाज़ ने टी-20 में को एक नया आयाम दिया है। जिसे लोग टी-20 का सबसे बेहतरीन खिलाड़ी मानते हैं। आजकल अपनी फॉर्म हासिल करने के लिए संघर्ष कर रहा है। स्पार्टन क्रिस गेल जो एक समय आईपीएल में सबसे मनोरंजक खिलाड़ी माने जाते थे। जो अभी तक इस सीजन में आरसीबी के लिए एक भी हीरो वाली पारी नहीं खेली है। उनका दमदार आईपीएल करियर अपने पॉवर हिटिंग से गेल ने इस छोटे फॉर्मेट से सबसे ज्यादा पसंद किया है। वह टी-20 में पहला शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज़ थे। वह टी-20 में 7 शतक लगाने वाले एकमात्र बल्लेबाज़ हैं। इसके आलावा वह सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले खिलाड़ी हैं। उन्हें इस प्रारूप का सबसे निर्दयी बल्लेबाज़ माना जाता है। गेल आईपीएल के सबसे बड़े बेहतरीन खोज रहे हैं। आरसीबी में आने से पहले वह केकेआर के लिए 3 साल तक खेले थे। साल 2011 में गेल ने 11 मैचों में 332 गेंदों में 183.13 के स्ट्राइक रेट से 608 रन बनाये थे। इस सीजन में उन्होंने जबरदस्त तरीके से वापसी की थी। उन्होंने उसके बाद अगले सीजन में 456 गेंदों में 15 मैचों में 733 रन बनाये थे। साल 2013 के इस आईपीएल सीजन में उन्होंने 7 पचासे और रिकॉर्डतोड़ 175 रन नाबाद पुणे वारियर के खिलाफ बनाये थे। गेल ने आईपीएल में अपने फैन्स का दिल भी जीता है। आईपीएल 2016- खराब फॉर्म गेल आईपीएल में लगातार 3 साल तक जबरदस्त फॉर्म में रहे थे। ऐसे में इस बार भी फैन को इस जमैकन खिलाड़ी से काफी उम्मीद थी। हालाँकि तूफ़ान तो दूर की बात इस बार उनके बड़े शॉट ही देखने को नहीं मिले हैं। शनिवार तक हुए मैच तक वह मात्र 13 रन बना पायें हैं। गुजरात लायंस के खिलाफ वह तो काफी दयनीय नजर आये और अंत में वह 13 गेंदों में 6 रन ही बना पाए थे। गेल को आराम देने की दो वजह है। पहली तो उनकी खराब फॉर्म है। जिसकी वजह से कोहली और गेल टीम को अच्छी शुरुआत देने में असफल रहे हैं। इसके आलावा वह विकेटों के बीच धीमा भी दौड़ते हैं। जिससे रन आउट होने के चांस बढ़ जाते हैं। हालाँकि गेल के फैन्स के लिए चिंता का विषय ये इसलिए है क्योंकि वह हाल ही में टी-20 वर्ल्डकप में भी खराब फॉर्म से गुजर रहे थे। हालाँकि उन्होंने पहले मैच में शतक बनाया था। लेकिन उसके बाद वह 4,5 और 4 रन ही बना पाए थे।

इस स्टार बल्लेबाज़ की सबसे बड़ी कमी उसके पैरों में मूवमेंट नहीं होना है। अपने स्ट्राइक रेट को बढाने के लिए इस बेहतरीन बल्लेबाज़ को विकेटों के बीच अच्छी खासी दौड़ लगानी होगी। जिससे वह एक-दो रन बनाते हुए स्ट्राइक रोटेट करते हुए क्रीज़ पर समय बिता सकते हैं। जिसके बाद वह बड़े शॉट भी लगा सकते हैं। इसके आलावा वह कभी-कभी ही गेंदबाज़ी करते हैं। जिससे टीम में उनका योगदान कम हो जाता है। उनके फैन्स के लिए ये सबसे बड़ी चिंता का विषय है कि क्या गेल का समय अब खत्म हो चुका है? जिसका निर्णय जल्द ही हो सकता है। आरसीबी के अब मात्र 5 मैच ही बचे हैं। ऐसे में इस आरसीबी के हीरो को खुद को साबित करना होगा। कम से अपने फैन्स के लिए तो उन्हें अच्छा प्रदर्शन करना होगा। दर्शक चिन्नास्वामी स्टेडियम में हर साल इस स्टार बल्लेबाज़ को देखने बड़ी उम्मीद से आते हैं। अंत में बस इतना काफी है, “गेल इज ए चैंपियन”, ये हमें नहीं भूलना चाहिए।

Edited by Staff Editor